8 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरी छाती कमर और थकान बहुत रहती है क्या करू

1 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी के शुरू के फर्स्ट ३ मंथ में ज्यादातर यह लक्छण आते ही है।। जिसमे आपको थकान , कमजोरि, उलटि, चक्कर आना स्वाभाविक है। शुरु में हमारे बॉडी में प्रेगनेंसी हॉर्मोन HCGबनता है और बहुत से हार्मोनल चेंजेस होते हैं जिसके कारण उल्टी जैसा फील होता है। आप तरल पदार्थ का सेवन ज्यादा कीजिए जिससे बॉडी dehydrate नहीं होगी। संतुलित और पौष्टिक अहार लीजिए जो बेबी के विकासके लिए बहुत जरूरी है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे बहुत थकान रहती है
उत्तर: डियर देखिए प्रेग्नेन्सी मे वेअकनेस होना आम बात है क्योकि डियर हमारे शरीर मि हॉरमोन के बदलने की वाज्ह से शरीर मे काफी बदलाव होते बाई जिंस कारण शरीर मि काफी प्रॉब्लम्स आती है जैसे कमज़ोरी थकान खुजली पेरो मि दर्द सुजन यह समस्या पहेली तिमाही में ज्यादा होती है पर दूसरी तिमाही में कम हो जाती है लेकिन तीसरी तिमाही में यह फिर से शुरू हो जाती है इस दौरान बेबी का बजन भी बढ़ जाता है जिस कारण माँ को उस बड़े बजन के साथ हर वक्त रहना पड़ता है पर पहेली तिमाही में मा को।इसका पतकम चलता है ज्यादा बजन के साथ रहना भी थकान का कारण बन जाता है इसकी वजह से नींद भी ज़्यादा आती है और कमजोरी पीठ दर्द व कमर दर्द होता है साँस लेने में परेशानी ,बेहोशी ओर कमजोरी आयरन की कमी के कारण एनीमिया के होने के कारण भी होता है डियर ऐसी मि आप जादा काम ना करे अगर काम करे तों रुक रुक कर काम करे थोड़ी थोड़ी देर मे रेस्ट करते राहें जादा कमकाज करने से भि थकें व कमज़ोरी आती है आप कुछ न कुछ खाते रहे आपको अपने आहार में फाइबर, आयरन, कैल्शियम, विटामिन सी, फोलिक एसिड युक्त भोजन करना चाहिए। फाइबर युक्त भोजन हरी सब्जिया, फ्रूट्स। आयरन युक्त भोजन फिश, चिकन, एग योल्क, ब्रोक्कोली, मटर, पालक, जामुन, सोयाबीन। कैल्शियम युक्त भोजन डेयरी उत्पाद, दलिया, बादाम और तिल के बीज। विटामिन सी युक्त भोजन खट्टे फल, टमाटर, स्ट्रॉबेरी, ब्रोकोली और गोभी। फोलिक एसिड युक्त भोजन छोला, हरे पत्ते वाली सब्जियां ले डिअर आप टेंशन न ले अपनी नींद पूरी ले एक्सरसाइज भी करे तजोड थोड़ा टहले भी आपकी प्रेगनांच्य को नार्मल बनने में सहायक जोटा है आप योग भी करे लिक्विड ज्यादा ले अपना ख्याल रखे टेक केअर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे बहुत थकान रहती है पैरों me बहुत दर्द होता है क्या करू
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में थकान होना आम बात होती है आप परेशान मत होइए प्रेगनेंसी के दौरान हमारे शरीर में कई हारमोनल परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से हमें थकान महसूस होने लगती है थकान को दूर करने के लिए आप संतुलित और पौष्टिक भोजन लीजिए। ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीजिए ।तनावमुक्त रहिए। ज्यादा थकान होने पर आराम कीजिए और अच्छी नींद लीजिए। प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना नॉर्मल है अगर आप के पैर में दर्द हो रहा है तो आप निम्न उपाय अपना सकती हैं *आप रोज सुबह कुछ देर टहला कीजिए। *आप अपने पैरों की सिकाई फिटकारे दाले गुन्गुने पानी से कर सकती है। *आप सरसो के तेल में अज्वाइन लेहसुन ड़ालकर पकाइये और ठण्डा होने पर उससे पैरो की मालिश कीजिये आपको बहुत आराम्ं मिलगा। *आप पैरों की थोड़ी स्ट्रेचिंग करके भी उसका दर्द दूर कर सकती है।आप पैरो का दर्द दुर करनेके लिये कुछ एक्सरसाइज भी कर सकती है। *आप अपने खानपान्ं का भी ध्यांन रखिये।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पैर और कमर मे बहुत द्रद है क्या करू
उत्तर: प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना बहुत ही कॉमन है इसका कारण वजन बढ़ जाना है जिससे खून का प्रवाह कम हो जाता है और दूसरा कारण पोटेशियम कैल्शियम मैग्नीशियम जैसे खनिज की कमी भी हो सकती है पैर दर्द से बचने के लिए आप स्टेचिंग करें पैर के पंजों को हल्का-हल्का घुमाएं हर रोज हल्की फुल्की वॉक करें जिससे पैरों की मांसपेशियां मजबूत होंगी और दर्द कम होगा साथ ही खाने में हरी सब्जियां फल फ्रूट जूस यह सब ले जिससे आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होगी अगर कभी पैर में दर्द ज्यादा हो तो आप गर्म पानी में नीम के पत्ते डालकर boil Kare , गर्म पानी को गुनगुना करें और पैर dubaa कर रखें पैर दर्द में आराम मिलेगा प्रेगनेंसी में कमर में दर्द होना बहुत ही नॉर्मल बात है ,ज्यादातर महिलाओं में प्रेगनेंसी में कमर दर्द की शिकायत होती ही है कमर में दर्द होने का कारण एक तो हारमोंस में बदलाव होता है दूसरा पेट में बढ़ रहे भार का हो सकता है जिसके कारण मांस पेशियों में खिंचाव होता है और कमर में दर्द हो सकता है कमर दर्द को कम करने के लिए आप कोशिश करें कि अपनी बाइ और सोए सीधे पीठ के बल ना सोए घुटनों के बीच में तकिया लगाकर सोने से भी आपको कमर दर्द में आराम मिलेगा अगर आप हाई हील की सैंडल , शूज पहनते हैं तो ना पहने यह भी एक कमर दर्द का कारण हो सकता है साथ ही प्रेगनेंसी में dheele सूती के कपड़े पहनने चाहिए जिससे शरीर में खून का प्रवाह आसानी से हो और हम अनेक तरह के दर्द से बचें
»सभी उत्तरों को पढ़ें