3 महीने का बच्चा

Question: मेरि बेटी तीन मेहिने की हि वह बहुत पोटी कीर्ति हि

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो आपको ज़्यादा presan होने की आवश्‍यकता नही है छोटे बच्चो में ये तकलीफ होना आम है अधिकतर ये माह से 2 साल तक के बच्चों को जादा होता है बच्चे को दूध अवश्य पिलऐ बेबी कोई दवाई देन से पहले कुछ घरेलू उपाय करे जैसे की द नमक ऑर चीनी का घोल बनाए नमक चीनी को समन मात्रा मि मिलना बार बार इस घोल को पिलाएं मगर याद रखें की घोल ताजा रहे दूसरे दिन उस घोल का उपयोग ना करें जायफल को पानी में घिस्कर आधा चम्मच दो तीन बार पिलऐ ज़रूरत पड़ने पर डॉक्टर की सलाह लें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी अबी 87 दिन की है जब वह पोटी करती है तो बहुत जोर दे कर करती है
उत्तर: हेलो डियर अगर आप अपने बेवी को अपना दूध पिलाती हैं तो कोई बात नहीं है लेकिन अगर आप उसे फार्मूला मिल्क पिला रही है तो उसे कब्ज होने की समस्या हो सकती है जिसकी वजह से उसे पॉटी करने में परेशानी हो सकती है बेबी की कब्ज को दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती हैं गुनगुने तेल से बेबी के पेट पर clock wise मालिश करिये धीरे धीरे। एक कपडे को गुनगुने पानी मे डुबोकर बेबी के पेट पर रखे। ये क्रिया 7 से 8 बार करे। बेबी के पैरो को साइकिल की तरह चलाएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेबी 25 डिन की हि वह पिली पोटी जाती हें लेकिन कल से वह हरि और पानी जेसी पोटी करती हें
उत्तर: 6 महीने से छोटे बच्चे में अगर हरी पोटी हो तो घबराने की कोई बात नहीं है , छोटे बच्चों में होने वाली हरी पॉटी का सिर्फ एक ही कारण है वह है मां के दूध का शुरुआती हिस्सा पीना . मां के दूध के शुरुआती हिस्से में पानी की मात्रा ज्यादा रहती है जिससे बच्चों की प्यास बुझती है, पर कभी-कभी बच्चे सिर्फ शुरूआती हिस्सा पी लेते हैं जिसकी वजह से उनको न्यूट्रिशन कम मिलता है और पोटी का कलर हरा हो जाता है ,इसलिए आप कोशिश कीजिए कि बच्चे को एक साइड से अच्छी तरह से दूध पिलाएं ,अगर आपका बच्चा जल्दी दूध पीकर छोड़ देता है तो आप अपने दूध का शुरुआती हिस्सा निकाल सकते हैं ताकि बच्चे को बीच का दूध मिले जो कि बच्चे के लिए बहुत ही अच्छा है जिससे बच्चे का वजन बढ़ेगा और और पोटी का कलर मस्टर्ड येलो कलर का होगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 18 महीने की है वह पोटी करते समय बहुत जोर लगाती है उसे बहुत कब्ज रहता है कोई सलाह दे
उत्तर: छोटे बच्चे जब दूध के अलावा कुछ दूसरा चीज लेना चालू करते हैं तो उस समय उसे कब्ज की परेशानी होने लगती है और कब्ज होने की वजह से बच्चे को पेट दर्द जैसे समस्याओं का सामना करना पड़ता है कभी कभी कभी इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि बच्चों को बुखार उल्टी आना और वजन घटना जैसे समस्या भी होने लगती हैl इसके लिए आप कुछ घरेलू उपचार कर सकते हैं जैसे एक एलोवेरा जूस किसी भी दूध में मिलाकर बच्चे को पीने के लिए देते हैं तो इससे कब्ज की समस्या दूर होती हैl आप बच्चे को नींबू का सेवन करा सकते हैं नींबू को दाल में डाल कर या फिर नींबू का रस या शहद मिलाकर बच्चे को दे सकते हैंl आप kiwi बच्चे को दे सकते हैं ise भी कब्ज की समस्या दूर होती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें