7 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरा 7th वीक चल रहा है मुझे सोनोग्राफी किस वीक करनी चाहिए

1 Answers
सवाल
Answer: ha apko krvani chahiye qki apko bachhhe ke bare me sari jankari mil jayegi
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हलो डॉक्टर , मेरा 8 वा हफ्ता चल रहा है मैंने मेरी पहली सोनोग्राफी काब करनी चाहिए
उत्तर: पूरी प्रेगनेंसी में नॉर्मली ३- ४ ultrasound सोनोग्राफी होती है. पहले ५-९ वीक में प्रेगनेंसी कन्फर्म करने क लिए. उसके बाद ११-१३ वीक के बिच. उसके बाद १८- २० वीक के बिच. और लास्ट में २८- ३२ वीक के बिच. तो अब आप अपनी सोनोग्राफी करवा सकते हो.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हलों .. मेरा अभी सतवा महीना लग रहा है तो मुझे सोनोग्राफी कब करनी चाहिए
उत्तर: हेलो डियर अब तक आपने पहली तिमाही में सोनोग्राफी कराई है मतलब पहले महीने से तीसरे महीने के बीच में सोनोग्राफी कराई है उसी प्रकार आपने दूसरी तिमाही 3 से 6 माह के बीच आपने सोनोग्राफी कराई होगी क्योंकि अभी आप का सातवां मंथ स्टार्ट हो रहा है अगर इसमें किसी भी प्रकार की कॉन्प्लिकेशन नहीं है और आपकी प्रेगनेंसी सामान्य अवस्था में चल रही है तो आपको सोनोग्राफी कराने की आवश्यकता नहीं है लेकिन यदि आपको किसी भी प्रकार की परेशानी या चिकित्सक के सुझाव से आप साथ देते नौवें महीने के बीच भी सोनोग्राफी करा सकती हैं क्योंकि अगर प्रेगनेंसी में कोई परेशानी आए आए तो इसका पता केवल सोनोग्राफी के द्वारा ही पता चलता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा 34 वीक चल रहा है अब मुजे लास्ट सोनोग्राफी कब करानी चाहिए
उत्तर: आपको अपने नौवें महीने में अल्ट्रासाउंड जरूर कराना चाहिए. क्योंकि इससे आपको आपके बेबी की सही पोजीशन ,हाइट और वेट पता चलती है ..और यह भी पता चल जाता है कि बेबी अंदर ठीक है या नहीं ..क्योंकि कई बार केस में कॉम्प्लिकेशन हो जाती हैं -जैसे कि बेबी के गले में नाल फस जाती है, जिस अल्ट्रासाउंड कराने के बाद डॉक्टर आपको यह बता सकते हैं कि आप की नॉर्मल डिलीवरी होगी या सीजेरियन ,इसलिए आप बिल्कुल ना घबराए और अल्ट्रासाउंड कराye..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डॉक्टर! मेरा अभी 12 th वीक चल रहा है, मुझे हमेशा थकान रहती है। प्लीज़ बताएं क्या करूं?
उत्तर: प्रेगनेंसी की पहली तिम्हाई में बहुत ज्यादा कमजोरी सा महसूस करना नार्मल है। अभी आपके बच्चे के शरीर के विभिन्न अंगो का निर्माण हो रहा है इसलिए शरीर को बहुत ज्यादा ऊर्जा की आवश्यकता होती है। यह अक्सर low ब्लड प्रेशर की वजह से होता है। आपको अपना ध्यान रखना होगा। उठते या बैठते समय एकदम से झटके में न उठे या बैठे। आराम से धीरे-धीरे चला करे। ज्यादा देर तक खड़े न हो, खड़े होते वक्त हमेशा किसी भी चीज़ का सहारा लिया करें। सोते समय भी करवट लेते समय सावधान रहें। हमेशा अपने आप को हाइड्रेटेड रखें। दिन भर में कम से कम 3 से चार लीटर पानी पिया करें। अधिक से अधिक फ्रूट जूस, निम्बू पानी , नारियल पाने पिया करें। निम्बू पानी में कोशिश करें की नमक और चीनी दोनों डाल दें।इस सब चीज़ो से आपको थोड़ा आराम मिलेगा। निश्चित अंतराल पर थोड़ा-थोड़ा खाना खाया करें और बहुत ज्यादा स्ट्रेस न लें, क्योंकि स्ट्रेस से भी कभी-कभी कमजोरी-सा महसूस होने लगता है। जैसे-जैसे आप दूसरी तिमाही में प्रवेश करेंगी आपको थोड़ा आराम मिलने लगेगा। अगर थकान बहुत ज्यादा हो तो आप ors भी पी सकते हो। अपना शुगर लेवल और अपना ब्लड प्रेशर हमेशा चेक करते रहें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें