27 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरा 6th month chal rha . kamar m kbhi kbhi pain होता . first beby opration s है

1 Answers
सवाल
Answer: गर्भावस्था में कमर दर्द होना एक आम बात है करीब आधे से ज्यादा महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किसी न किसी समय कमर दर्द की शिकायत होती है आपका वजन सामान्य से अधिक है या फिर आप पहले से भी गर्भवती हो चुकी हैं तो आपको kamar दर्द होने की संभावना अधिक रहती है कमर दर्द कम करने के लिए आप कुछ उपाय अपना सकते हैं जैसे kamar के व्यायाम कर सकती हैं आप सरसों के तेल की मालिश भी करवा सकते हैं, मालिश करने से मांसपेशियों का आराम मिलता है सही मुद्रा अगर आपकी आदत सही मुद्रा में बैठने की नहीं है तो भी आप kamar दर्द के शिकार हो सकते हैं गर्म स्नान दर्द कम करने में मदद कर सकते हैं उचित जूते या सैंडल पहने कम ऊंचे और आरामदायक जूते पहने फिर भी आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा 6th मंथ chal रहा . ek leg me swelling आती है kbhi kbhi
उत्तर: बहुत से उपाय सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं, लेकिन सबसे सुखद हल्की मालिश ही मानी जाती है। मसाज से ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है, जो सूजन को कम करता है। इससे ऐंठन की समस्या भी कम होती हैंगर्भावस्था के दौरन खूब पानी पीना चाहिए। यह आपको गर्भावस्था से संबंधित कई समस्या जैसे सूजन से निपटने में मदद करेगा। आमतौर पर यह माना जाता है कि नमक का ज्यादा प्रयोग सूजन को बढ़ा देता हैं। लेकिन अपने चिकित्सक की सलाह के बिना गर्भावस्था के दौरान नमक में कटौती नहीं करनी चाहिए।अपने पैरों के बीच एक तकिया रखकर अपनी बायीं ओर पर लेटे हुए घुटनों को छाती की ओर उठाने या फैलाने की कोशिश कीजिये। आप अनेक प्रकार के मेटरनिटी तकिया खरीद सकती हैं, हालांकि आप पाएंगी कि आपका आम तकिया भी उतना ही बढि़या काम करता है। अतिरिक्त आराम और सहारे के लिए इन तकियों को अपने पैरों के बीच, अपने नितम्बों के नीचे और अपनी पीठ के पीछे रखिये।अपनी बायीं ओर करवट लेकर सोने की आदत डालिए। बायीं करवट पर सोने से आपके गुदो को भी अपशिष्ट पदार्थों और द्रवों को आपके शरीर से अधिक कुशलतापूर्वक बाहर निकालने में मदद मिलती है। जिससे एडि़यों, पांव और हाथों में सूजन को कम करने में मदद मिलती है। यह सिर्फ रात के लिए ही नही है बल्कि दिन भर में हर एक घंटे के बाद थोड़ी देर आराम करना जरूरी हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe 6th month chal rha h . mere right leg me upr ki trf kbhi kbhi bhut pain uthta h . i think nas chadti h . kya kru ?
उत्तर: hello dear प्रेग्नेन्सी के दौरान पैरो में दर्द और जकड़न नॉर्मल है ।ये बॉडी मे होने वाले हर्मोनल परिवर्तन्ं की वजह से होता है ।जैसे जैसे बेबी की ग्रोव्थ होती है वैसे वैसे उसका वज़न बढ़ने लगता है और उसका असर पैरो पर भी पड़ता है जिसकी वजह से पैरो में दर्द और जकड़न होती है ।इसे दूर करने के लिए आप निम्न उपाय कर सकती है - *आप रोज सुबह कुछ देर टहला कीजिए *आप अपने पैरों की सिकाई फिटकारे दाले गुन्गुने पानी से कर सकती है *आप सरसो के तेल में अज्वाइन लेहसुन ड़ालकर पकाइये और ठण्डा होने पर उससे पैरो की मालिश कीजिये आपको बहुत आराम्ं मिलगा *आप पैरों की थोड़ी स्ट्रेचिंग करके भी उसका दर्द दूर कर सकती है।आप पैरो का दर्द दुर करनेके लिये कुछ एक्सरसाइज भी कर सकती है। *आप अपने खानपान्ं का भी ध्यांन रखिये।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा 9 mnth chal rha h but kal se mujhe back lan kbhi let m side m or kbhi niche side drd ho rha h kbhi bhot taij or kbhi halka..kya ye norml h ye delivry pain h ??
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेंसी में लेबर पेन का एक्सपीरियंस हर महिला के लिये अलग-अलग होता है। इसका कोई निश्चित ढंग नहीं होता है जिससे यह समझ सकें कि यह लेबर का दर्द है।प्रेग्नेंसी के आखिरी हफ्ते में ूट्रस में ऐंठन जैसी लगती हैं जिसे फॉल्स लेबर कहते हैं। फॉल्स लेबर डिलीवरी के कुछ देर पहले ही होता है इसलिए प्रग्नेंट लेडी के लिए यह जानना मुश्किल हो जाता है कि ये फॉल्स लेबर हैं या रीयल लेबर पेन है। लेबर पेन नहीं आने पर भी यदि शिशु अंदर achhe से है तो जबरदस्ती लेबर पेन लाने की बिल्कुल भी कोशिश ना करें .लेबर pain aane ka आप इंतजार करें और अगर ऐसा नहीं हो रहा है तो 42 weeks होने के बाद आप डॉक्टर के पास जरूर जाएं.
»सभी उत्तरों को पढ़ें