20 weeks pregnant mother

Question: डोक्टर, मेरा 20 वीक छाल रहा हैं और मुझे कॉन्स्टीपेशन का प्रॉब्लम हैं किया करु कुछ समझ मेन न्हु आह रहा

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज की समस्या ज्यादातर लोगों को होती है शरीर में प्रोजेस्टेरोन बढ़ने से कब्ज की प्रॉब्लम होती है। आयरन की गोलियों से भी कब्ज होता है। कब्ज से बचने के लिए आप यह सब कर सकती हैं। आप एक ही बार में ज्यादा खाना ना खाकर थोड़े थोड़े करके कई बार खाएं पहले आप दिन में तीन बार खाती थी तो अब उसे 6 बार में डिवाइड कर ले मिल्क प्रोडक्ट अवॉइड करें ब्रेड और पास्ता कम खाएं हरी पत्तेदार सब्जियां और सलाद ज्यादा से ज्यादा मात्रा में खाएं दूध और पनीर के जगह दही खाएं दही प्रोबायोटिक होता है जो खाना पचाने वाले बैक्टीरिया को सक्रिय करता है और खाना जल्दी पचता है काॅरन और ओटमील भी ले सकती हैं इसमें भी फाइबर होता है कोई भी साइट्रस फ्रूट यानी खट्टे फल ले सकती हैं इसमें विटामिन सी होता है जो खाना पचाने में मदद करता है संतरे में बहुत मात्रा में फाइबर होता है यह कॉन्स्टिपेशन में बहुत मददगार होता है। ज्यादा समय बैठी ना रहे शरीर में हलचल करती रहे सुबह शाम वॉक पर जाएं थोड़ा योगा करें और तनाव बिल्कुल ना ले
Answer: हेलो डिअर , आपको अगर कब्ज होता है तो आप कुछ इस तरह से उपाय कर सकती है , जब आप सुबह उठे नींबू के साथ एक गिलास गर्म पिएँ। खाना खाने से पहले नारियल के तेल या जैतून का तेल का एक बड़ा spoon लें। मल को नरम करने में मदद करता है। अनाज और ब्रेड, ब्राउन चावल, और सेम के साथ-साथ ताजा फल और सब्जियां जैसे उच्च फाइबर जैसी चीजें खाएं। लंबी सैर के लिए जाएं । रात मे एक गिलास गर्म पानी या हर्बल चाय लें, कैफीनयुक्त पेय से बचें। जब भी आपको लगे की फ्रेश होने जाना चाहिए जरुर जाए मल को रोके नही। मल वाली जगह पर नारियल तेल लगाए। 8 10 गिलास पानी पियें रोज। फाइबर युक्त आहार जैसे जई, अनार के बीज आदि लें, रोज वॉक करे । .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेम मेरा 17 वीक छाल रहा है और कल से मुझे ऍसिडिटी का प्रॉब्लम हो रहा है क्या कारों
उत्तर: गर्भावस्‍था के नौ महीनों में महिला को कई प्रकार की समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है। कुछ समस्‍यायें एक बार-बार होती हैं, उनमें सीने की जलन भी है। गर्भावस्‍था के दौरान सीने की जलन की समस्‍या तीसरी तिमाही यानी 6 महीने के बाद होती है। सीने और गले में जलन, मुंह में खट्टा और अम्‍लीय स्‍वाद, आदि इसके प्रमुख लक्षण हैं। जैसे-जैसे भ्रूण का विकास होने लगता है, वैसे-वैसे वह पेट के अंदर के अंगों को ऊपर की ओर ढकेलने लगता है, जिसके कारण पेट में एसिडिटी बनना शुरु हो जाता है। इसके कारण ही सीने में जलन की समस्‍या होती है। घरेलू उपचार के जरिये इस समस्‍या का दूर किया जा सकता है। एवोकाडो badaam हरी पत्तेदार सब्ज़ियां हरी सब्ज़ियों के जूस जिनसे पोषक तत्व और हाइड्रेशन दोनों मिलती है। हर्बल चाय पिएं, जैसे पेपरमिंट चाय, कैमोमाइल चाय और नींबू चाय। लहसुन - लहसुन की रोज़ाना एक फांक खाने से सीने में जलन से रहत रहती है और अगर आप लहसुन के कैप्सूल लेती हैं तो ये सुनिश्चित करें कि उनमें एल्लीसिन (Allicin- लहसुन से निकला एक ऑयली पदार्थ जो हार्ट बर्न में रहत पहुंचाता है) मौजूद हो ताकि सीने में जलन में वो प्रभावी हो। हमेशा की तरह कोई भी सप्पलीमेंट लेने से पहले डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें। एसिडिटी और सीने में होने वाली जलन से राहत दिला सकते हैं:
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा सेवेन मंथ छाल रहा हैं और कल से मेरा पेट मी काफी कड़ा शा मेहसुसुह हो रहा हैं मेन क्या करु
उत्तर: प्रेग्रेंसी मे बॉडी मे बहुत तरह के शारीरिक परिवर्तन होते हैं .Uterus का साइज भी लगभग 200 गुना बड़ा हो जाता हैं ,बॉडी मे हॉर्मोन का level aur रक्तः संचार भी बढ़ जाता हैं ,जैसे जैसे बेबी का वजन बढ़ता हैं uterus पर बहुत जोर पड़ता हैं .इसी कारण abdominal muscle (नीचे के पेट के आस पास )हार्ड हो जाता है ,और टाइट फील होता है ,ऐसा होना एकदम नार्मल है ,आप कोशिश करें की बाई करवट सोये इससे आपको आराम मिलेगा और बेबी के बॉडी मे ऑक्सीजन का संचार अच्छा होगा अगर आपको सोने मे ज़्यादा प्रॉब्लम हो तो आप प्रेगनेंसी pillow का bhi use कर सकते है ,ये बहुत आरामदायक होता है सोने के लिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे बहुत कॉन्स्टीपेशन हो रहा है मेन क्या करु
उत्तर: डियर प्रेग्नेन्सी में ज़्यादातर महिलाओ को कब्ज़ की प्रॉब्लम होती हे उसके लिए आप ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीये फाइबर युक्त खाना खायें जैसे दालें मूली पालक सन्तरा ड्राइ फ्रूट etc और भूखे ना रहें अगर फ़िर भी ज़्यादा परेशानी हो तो अपनी डॉक्टर से मिलें .. डियर आपको मेरा जवाब सही लगा हो तो plz लाइक करे
»सभी उत्तरों को पढ़ें