4 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेबी 4 मंथ का है गले मे वाइट स्पॉट्स हो गये है

2 Answers
सवाल
Answer: hello...आप क बेबी क बॉडी पे जो सफ़ेद दाग है..वो किसी क्रीम क reaction , या तेल se या बैक्टीरियल इन्फेक्शन ,या जेनेटिक भी हो सकता है...अभी आप की बेबी बहुत छोटी है और उसकी स्किन भी बहुत सॉफ्ट or sensitive hai..आप कुछ घरेलु चीज़े उसे कर क भी इन्हे बढ़ने से रोक सकती है..जैसे आप हल्दी और सर्सो क तेल को मिला कर इफेक्टेड एरिया मई लगा सकती है।इसके अलावा आप हनी ,ह्लदि,चनदन powder ..rice पाउडर को मिलकर भी लगा सकती है..आद्रक क रस में लाल मिटटी मिला कर लगा ने से भी rahat मिलेगी...ओर ये daag बाड़ने लगे तो आप डॉक्टर क पास जाए...Ok.take care dear
Answer: hello...आप क बेबी क बॉडी पे जो सफ़ेद दाग है..वो किसी क्रीम क reaction , या तेल se या बैक्टीरियल इन्फेक्शन ,या जेनेटिक भी हो सकता है...अभी आप की बेबी बहुत छोटी है और उसकी स्किन भी बहुत सॉफ्ट or sensitive hai..आप कुछ घरेलु चीज़े उसे कर क भी इन्हे बढ़ने से रोक सकती है..जैसे आप हल्दी और सर्सो क तेल को मिला कर इफेक्टेड एरिया मई लगा सकती है।इसके अलावा आप हनी ,ह्लदि,चनदन powder ..rice पाउडर को मिलकर भी लगा सकती है..आद्रक क रस में लाल मिटटी मिला कर लगा ने से भी rahat मिलेगी...ओर ये daag बाड़ने लगे तो आप डॉक्टर क पास जाए...Ok.take care dear
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा 5 मंथ 22 दिन का हुआ ह उसके स्टूमक पे और बैक पे वाइट स्पॉट्स हो गये ह क्या करण हो सकता हे
उत्तर: हेलो डियर .. सफेद दाग की समस्या शरीर में पोषक तत्वों की कमी के होने से होती है .अगर प्रेग्नेंट लेडी को यह समस्या है तो उसके होने वाले बच्चे पर इसका कोई प्रभाव नहीं आप परेशान मत होइये . खाने पीने मे आपना ध्यान रखिए . डॉक्टर के दिए सुप्पलिमेन्तस समय पr लें . प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी गए का मिल्क नहीं पिटा है 4 मंथ का हो गया है
उत्तर: हेलों 1 साल हो ने से पहले बच्चे को गाय का दूध नही ं दें ना चाहिए गाय के दूध में प्रोटीन बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है जो छोटे बच्चों को बचाने में आसान नहीं होता है इसके अतिरिक्त गाय के दूध में आयरन नहीं पाया जाता है ऐसे में बच्चों के शरीर में खून की कमी हो जाती है यदि आप को प्रॉब्लम है तो आप बच्चे को फार्मूला दूध दे सकती हैं यदि ऐसा कुछ नहीं है तो सिर्फ और सिर्फ 6 महीने तक आप अपने बच्चे को अपना दूध ही पिलाएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी 4 मंथ का है वाइट कलर की हो रही है नॉर्मल है
उत्तर: आपke बेबी का कलर गोरा होगा इसलिए वाइट सा लग रहा होगा . अगर आप कुछ और परेशनी देखती है to aap एक बार डॉक्टर को दिखा लीजिए. Aise कुछ अन्दाजा लगाना मुश्किल है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें