12 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेबी बॉय 11 मंथ का है पर वो घुटने के बल बिलकुल नही चलता

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डीयर नो नीड to worry कुछ बेबी थोड़ा लेट ऐक्टिविटी स्टार्ट करते हैं। कुछ बेबी ऐसे भी होते है जो घुटनों के बल नही चलते हैं सीधे खडे होकर ही चलने लगते हैं। आप बेबी की मालिश किया करिये दिन मे 2 बार।आपका बेबी जल्द ही चलने लगेगा।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेबी 6 मंथ का है पर घुटने के बल भी नही चलता कोई प्रो टु नही h
उत्तर: हेलो डियर हर बच्चा अलग होता है कोई सिक्स मंथ में क्राउलिंग शुरू कर देता है कोई भी 7 से 8 या 9 मंथ तक क्राउलिंग करना शुरू कर देते हैं आप टेंशन ना ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी 9 मंथ का है लेकिन वो अभी घुटने के बल नही छलता
उत्तर: घुटनों के बल चलने में शिशु की मदद के लिए उसे कुछ समय पेट के बल रहने के लिए प्रोत्साहित करें। इस बात के कुछ प्रमाण हैं कि जो शिशु अपने पेट के बल लेटे हुए ज्यादा समय बिताते हैं, वे घुटनों चलना जल्दी सीख लेते हैं। शिशु को शुरुआत में शायद पेट के बल लेटना अच्छा न लगे। मगर, आप पेट के बल लिटाकर शिशु का मनोरंजन करने का प्रयास करें और उसे खूब प्रोत्साहित करें। आप कुछ मजेदार खिलौने (या फिर खुद को भी!) उसकी पहुंच से दूर कर दें, ताकि उन तक पहुंचने के लिए उसे घुटनों के बल चलने के लिए प्रेरित किया जा सके। खेल के समय को और अधिक मजेदार बनाने और घुटनों के बल चलने में शिशु की मदद के लिए आप कमरे में कुछ बाधा या अवरोध भी लगा सकती हैं, जिसे शिशु को पार करना हो। इसके लिए आप तकिये, डिब्बे और सोफे के कुशन का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे शिशु के आत्मविश्वास, गति और फुर्ती में सुधार होगा। हमेशा अपने शिशु के साथ रहें, ताकि यदि वह किसी मुश्किल में फंसे तो आप उसे देख सकें। जब आपका शिशु घुटनों चलना शुरु कर देता है, तो उसे उसकी इच्छानुसार जमीन पर घूमने दें। वह ऊर्जा से भरपूर होगा और नई चीजों को देखना-खोजना चाहेगा। काफी देर घुटनों के बल चलना अच्छा व्यायाम है, और इससे थककर शायद वह अच्छी नींद सोए!
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी अभी 6 मंथ और 12 din का है और वो अभी घुटने के बल नही चलता ,,, क्या उसकी ग्रोथ सही नही हुयी या....????
उत्तर: dear aap chinta mat kariye kuch upaey hai apna ke dekhiye .baby chalne lagega .बहुत से बच्चे 6-10 महीने में घुटनों के बल चलना शुरु कर देते हैं। लेकिन अगर आपका बच्चा इससे बड़ा है और वो घुटनों के बल नहीं चल पाता है तो परेशान होने की जरुरत नहीं है। बच्चे का वजन ज्यादा होने की वजह से ऐसा नहीं कर पाता है। जिन बच्चों का वजन ज्यादा होता है उनको घुटनों के बल चलने में थोड़ी दिक्कत होती है। लेकिन अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखें तो आप अपने बच्चे को खुद घुटनों के बल चलाना सिखा सकते हैं।  बच्चे को घुटने के बल चलना सिखाने के लिए आजमाएं ये टिप्स बच्चों को घुटने के बल चलना सिखाने से पहले कई चीजों को ध्यान में रखना चाहिए ताकि बच्चे को कोई परेशानी ना हो। बच्चे का वजन ज्यादा होने की वजह से कई बार उसे घुटनों के बल चलना सीखने में वक्त लगता हैं बहुत से बच्चे 6-10 महीने में घुटनों के बल चलना शुरु कर देते हैं। लेकिन अगर आपका बच्चा इससे बड़ा है और वो घुटनों के बल नहीं चल पाता है तो परेशान होने की जरुरत नहीं है। बच्चे का वजन ज्यादा होने की वजह से ऐसा नहीं कर पाता है। जिन बच्चों का वजन ज्यादा होता है उनको घुटनों के बल चलने में थोड़ी दिक्कत होती है। लेकिन अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखें तो आप अपने बच्चे को खुद घुटनों के बल चलाना सिखा सकते हैं। तो आइए आपको कुछ तरीके बताते हैं जो आपको घुटनो के बल चलने में मदद करेंगे। [ये भी पढ़ें: बच्चे के लिए क्यों जरूरी है एवोकाडो का सेवन] 1- बच्चे को पेट के बल लेटने की आदत डालवाएं: बच्चों को पेट के बल लेटकर खेलने में मजा आता है। उन्हें फर्श पर पेट के बल लेटाने से उन्हें हाथ और गर्दन की मांसपेशियां विकसित होती हैं। आप इसे थोड़ी-थोड़ी देर के लिए करते रहना चाहिए। जैसे ही बच्चा 4 महीने का होता है तब से वह अपना सिर घुमाना शुरु कर देता है जिससे वह अपने शरीर पर कंट्रोल करने लगता है और घुटनों के बल चलने के लिए तैयार होता है। 2-बच्चे को बिठाएं ताकि उसकी कमर मजबूत हो सके:  जब तक आपका बच्चा बैठना ना सीखे आपको उसकी मदद करनी चाहिए। लेकिन जब तक वह अपने आप बैठना ना सीखे तब उसके सिर और पीठ पर हाथ रखें ताकि बच्चे को सीधा रहने और घुटनों के बल चलते समय सिर ऊपर रखने में मदद मिले। इसके लिए आप अपने बच्चे को सिर के ऊपर कुछ दिखाएं ताकि जब वह ऊपर की तरफ देखे। इससे सिर, कमर और कंधों की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद मिलती है।[ये भी पढ़ें: रोते हुए बच्चों को चुप कराने के लिए आजमाएं ये टिप्स] 3-एक सुरक्षित स्थान ढूंढे:आपके बच्चे को घुटनों के बल चलाना एक सुरक्षित और कोमल जगह से शुरु करें। क्योंकि अगर जगह बच्चे के लिए सहज नहीं होगी तो उसे चलने में दिक्कत होगी। आप फर्श पर कोई मुलायम कारपेट बिछा सकते हैं, जिससे बच्चे को कोई परेशानी ना हो। 4-ध्यान से बच्चे को पीठ के बल फर्श पर लेटाएं:आपका बच्चा जब खुश हो तो आराम से उसे पीठ के बल फर्श पर लेटाएं। कम से कम 10-15 मिनट तक बच्चे को पीठ के बल लेटे रहने दें। जब तक वह आराम महसूस करने लगे। 5-बच्चे को पेट के बल घुमाएं:अगर आपका बच्चा घुमते हुए सहज महसूस करता है तो उसे ऐसा करने दें। आप उसकी मदद करके उसे पेट के बल लेटा दें। वह अपने हाथ और सिर को सपोर्ट खुद करेगा। जैसे ही वह हाथ और सिर को सपोर्ट करे तो उसके सिर को ऊपर की तरफ करें। 6- बच्चे का कोई खिलौना उससे थोड़ा दूर रख दें:आप अपने बच्चे को खिलौने के पास जाने के लिए प्रोत्साहित करें और उसे आगे चलने में मदद करें। इससे आपका बच्चा घुटनों के बल चलने की कोशिश करेगा। मगर ध्यान रहे खिलौना ज्यादा दूर ना रखें। इससे बच्चे को परेशानी हो सकती है। 7-बच्चे के साथ घुटनों के बल चलें:बच्चे को आपकी तरफ घुटनों के बल चलकर आने की बजाय आप बच्चे के साथ घुटनों के बल चलें। आप और आपका बच्चा दोनों खिलौने की तरफ घुटनों के बल चलकर जा सकते हैं। ऐसा करने से आपका बच्चा घुटनों के बल चलने के लिए प्रोत्साहित होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा अभी घुटने पर नही चलता है वो 9 मंथ कम्पलीट कर चुका hai
उत्तर: आप चिंता ना करें जरूरी नहीं कि हर बच्चे का विकास एक ही समय में हो हर बच्चा अपने आप में अलग होता है उनका विकास होना उनके लिए जाए भोजन पर निर्भर करता है अगर बच्चा लेट से चलता है तो इसमें कोई चिंता वाली बात नहीं है बहुत बच्चे 1 साल के बाद ही चलना शुरू करते हैं बच्चे का मसल्स जब तक पूरी तरह मजबूत नहीं हो जाता तब तक भी नहीं चल पाते चलने के लिए पैरों का और कमर का मसल्स मजबूत होना चाहिए इससे पहले बच्चे नहीं चल पाते इसके लिए आप बच्चे को सही भोजन सही समय पर खिलाएं और उनके भोजन में सारे न्यूट्रीशन शामिल करें बढ़ती बच्चों को कैल्शियम की बहुत जरूरत होती है उनके हड्डी को मजबूत करने के लिए कैल्शियम के साथ साथ सारे विटामिंस मिनरल्स की भी जरूरत होती है अगर आप चाहते हैं कि बच्चा जल्दी चले तो रोज उनको अच्छे से मालिश दे नारियल तेल से उनके खाने का ख्याल रखें और अगर बच्चा अच्छे से किसी चीज को पकड़ कर खड़े हो रहा होगा तो आप उसे रोज चलने का प्रैक्टिस कर आए थोड़ी देर
»सभी उत्तरों को पढ़ें