12 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेबी कुछ bhi nhi khati h

2 Answers
सवाल
Answer: इस अवस्था में बच्चे खाने में बहुत आनाकानी करते हैं । लेकिन हमारा फर्ज है कि हम बच्चे को हर 2 से 3 घंटे में पौष्टिक आहार अवश्य दें । बच्चे की भूख बढ़ाने के लिए कुछ आसान से उपाय हैं जिन्हें आप अपना सकते है । खाना खाने के बाद दो काली मिर्च पीसकर उसे एक चुटकी घी में मिलाकर बच्चें को चटाए इससे भी बच्चे को भूख बढ़ेगी । बच्चे को हर 2 घंटे में खाने को दे बीच में उसे कुछ भी नहीं दे तभी बच्चा 2 घंटे बाद अच्छे से खाना खाएगा । बच्चे को परिवार के सदस्यों के साथ बैठा कर खाना खिलाए । बच्चे को उसकी पसंद का खाना बनाकर खिलाएं। रंग-बिरंगे बर्तनों में खाने को दें । जंक फूड बाहर का बच्चे को बिल्कुल भी ना दें। लिक्विड फूड की मात्रा बच्चे के खाने में ज्यादा रखें और बच्चे को घर के बने हुए ताजे फलों के जूस दें। एक cup छाछ में चुटकी भर काला नमक डालकर बच्चे को पिलाएं इससे भी बच्चे की भूख बढ़ती है।
Answer: hello डियर ,,,बच्चों की खाना na खाने की समस्या बहुत ही नॉर्मल है आप बेबी को खाना खिलाने के लिए उसे कहानी कविता या उसके मनपसंद चीजें दिखा कर अपनी बातों में लगाकर बहला-फुसलाकर थोड़ा-थोड़ा खिलाने की कोशिश कीजिए| बेबी को एक ही तरह के खाने ना खिलाए इससे बच्चे बोर हो जाते हैं | बेबी की पसंद का हेल्दी फूड आफ बना सकती हैं जैसे वेजिटेबल चीला वेजिटेबल दोसा वेजिटेबल उपमा आदि बेबी को दे सकती हैं | बेबी को जबरदस्ती खिलाने का प्रयास ना इससे बच्चे खाने में और भी ज्यादा झिझकने लगते हैं बेबी को मछली ,अंडे ,हरी पत्तेदार सब्जियां ,फुल क्रीम वाला दूध पनीर ड्राई फ्रूट्स पाउडर फ्रूट जूस , एप्पल शेक ,बनाना शेक आदि दे सकती हैं जिससे की बेबी की लंबाई और वेट में भी बढ़ेगा
  • avatar
    Archna Mathur340 days ago

    yes

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेबी कुछ khata bhi
उत्तर: छोटे बच्चो को खाना खिलने के लिए हमें पहले उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए. आप उसे सिर्फ घर का बना अलग अलग खाना उसे बनाकर दो. उसे अपने आप खाने के लिए प्रोत्साहित करे. इससे उसका खाने के प्रति रूचि बढ़ेगी. घर के सरे सदस्य एक साथ खाने क लिए बैठे. बच्चे हमें देख कर ही खाना सीखते है. उसे खाने के लिए किसी प्रकार की जोर जबरदस्ती न करे. हो सकता है वो शुरू शुरू में खाने से खेले पर जल्द ही खाना सिख जायेंगे. उसे नए नए फ्रूट्स खाने में दे. घर का बना सब पौष्टिक खाना दे.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी कुछ khata nhi h plz help
उत्तर: बच्चों के खाना नहीं खाने का सबसे बड़ा कारण पेट में कीड़ा होना है इसलिए बच्चों को हर 6 महीना में कीड़े की दवाई देना बहुत जरूरी होती है| छोटे बच्चे खाने के लिए बहुत नाटक करते हैं उनके खाना नहीं खाने का मतलब होता है उनको भूख नहीं लगना उनमें वह की कमी का होना अगर बच्चा ज्यादा एक्टिव नहीं होगा तो नहीं भूख भी नहीं लगेगा कभी-कभी बच्चे के पेट में गैस बन जाने की वजह से भी उनको भूख नहीं लगता और कभी-कभी बच्चे के पेट में कीड़े होने की वजह से भी उनको भूख नहीं लगती इसलिए आप जब भी डॉक्टर के पास जाएं तो उनसे एक बार इस बात की चर्चा जरूर करें कि कहीं इसके पेट में कीड़े तो नहीं आई क्योंकि वह एक सिरप देते हैं जिससे पेट के कीड़े ठीक हो जाते हैं अगर बच्चा एक बार में खाना नहीं खाता है तो थोड़े थोड़े देर में आप थोड़ा-थोड़ा करके खिला सकते हैं और कोशिश करिए कि उनके खाने में अदरक का उपयोग करें जैसे अगर दाल बनाए हैं तो आप तड़का में अदरक डाल सकते हैं आप हींग का भी उपयोग कर सकते हैं खाने में क्योंकि यह सब खाना को पचाने में बहुत हेल्प करता है बच्चे को आंवला का कैंडी बना कर दे सकते हैं इससे भी खाना बहुत जल्दी पचता है और हो सके तो आप बच्चा के साथ के लिए क्योंकि वह जितना एक्टिविटी करेगा उतना ही उसकी एनर्जी वेस्ट होने की वजह से उनको भूख लगेगा क्योंकि वह किसी को सहन नहीं होता अगर बच्चा को भूख लगेगा तो वह सब कुछ खाएगा घर का बना हुआ आप टमाटर की सूप भी दे सकते हैं यह सारी चीजें बहुत जल्दी पचने वाला होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी कुछ बी खाता पीta nhi h
उत्तर: मलाई सहित दूध  बच्चे का वजन अगर कम है तो उसे मलाई वाला दूध पिलाना सही माना जाता है। अगर दूध पीने से बच्चा मना करें तो शेक, स्मूदी या चॉक्लेट पाउडर मिक्स कर देना चाहिए। अंडे अंडे प्रोटीन से भरपूर होते हैं। पीली जर्दी को 8 वें महीने और पूरे अंडे एक वर्ष की उम्र से शुरू किया जा सकता है। आलू  आलू वजन बढ़ाने के लिए उपयोगी होते हैं। नट्स  सभी प्रकार के ड्राई फ्रूट्स और विशेषकर नट्स विटामिन से भरपूर होते हैं। इनका पाउडर बनाकर बच्चों को दूध में मिलाकर पिलाया जा सकता है।   केला दूध में मैश कर इसे देने से बच्चों के वजन में वृद्धि आती है।  दाल फुल क्रीम दही  दही के साथ कुछ फलों का मिश्रण बना कर अपने बच्चो को दीजिए। चीज़ / पनीर  घर का बना पनीर अथवा कोटेज चीज़ एक सर्वश्रेष्ठ विकल्प है   रागी  घी और गुड़ के साथ रागी का प्रयोग बच्चों का वजन बढ़ाने में मदद करता है।   घी  मूंगफली का मक्खन मूंगफली का मक्खन वजन बढ़ाने के लिए एक बहुत अच्छा स्रोत है हरी सब्जियां खिलाने की आदत डालें   जिंक से भरपूर भोजन बच्चों के विकास के लिए जिंक एक बेहद अहम पोषक तत्व होता है। जिंक की कमी के कारण बच्चों को भूख कम लगती है। कोशिश करें कि बच्चें को जिंक से भरपूर भोजन दें जैसे तरबूज के बीज, मूंगफली, बींस, पालक, मशरूम और दूध आदि। प्रोटीन व कार्बोहाइड्रेट वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन का सेवन जरूरी है इसलिए अपने आहार में चिकन, मछली, अंडा, दूध, बादाम व मूंगफली आदि को शामिल करें। इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट भी वजन बढ़ाने में मददगार होता है जैसे पास्ता, ब्राउन राइस, ओटमील आदि। इन सबके साथ फलों व सब्जियों का सेवन भी जरूर करें।  दूध में शहद सोने से पहले या नाश्ते में दूध के शहद का सेवन आपका वजन बढ़ा सकता है जैतून का तेल जैतून का तेल में अच्छा वसा होता है। आप जैतून का तेल में बच्चे के भोजन को पका सकते हैं। ऐवकाडो यह फल भी वसा / फैट में समृद्ध और वजन बढ़ाने के लिए एक उत्कृष्ट भोजन है। दूध के साथ या सादे तरीके से मैश करके आप इसे परोस सकते हैं सूप, खीर और हलवा  सब्जियों का पतला सूप या टमाटर का सूप बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसके साथ सूजी का हलवा भी बेहद पौष्टिक और वजन बढ़ाने में मददगार होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी अभी 1 year 5months का ह wo avi कुछ bhi thik se बोल nhi pata h
उत्तर: हेलो बहुत सारे बच्चे थोड़ा लेट बात करते हैं। लेकिन समझते सभी बात को है। अगर आपका बच्चा आपकी बात समझता है और अपनी बात इशारों से आपको समझा सकता है तो घबराइए मत आपका बच्चा बात करने लगेगा। कुछ लोगों में यह हेरेडिटी प्रॉब्लम भी होती है। के बच्चे लेट बात करना सीखते हैं। प्रीमेच्योर बच्चे भी थोड़ा लेट बात करना सीखते हैं। आप यह ध्यान दीजिए कि बच्चे की आवाज अच्छे से निकलती है कि नहीं। जब वह रोता है तो उसकी आवाज खुलकर आती है कि नहीं यह देखे। आप बच्चे से लगातार बात करते रहा करिये। बच्चा आपकी बातों को सुनता व समझता रहेगा। आजकल मार्केट में कुछ ऐसे खिलौने आए हैं। जो लेट बोलने वाले बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद रहता है। उन खिलौनों में अच्छी अच्छी आवाजे पोयम और बहुत इंटरेस्टिंग चीजें होती हैं। जिसको सुनकर बच्चे उसकी नकल करने की कोशिश करते हैं। जो कि बच्चे के लिए बहुत मददगार होता है। घबराएं नहीं टेक केयर
»सभी उत्तरों को पढ़ें