4 साल का बच्चा

Question: मेरा बेटा 4 साल का ह लेकिन 3 साल का लगता ह क्या करू

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डिअर बेबी का अंदर से हेअल्थी होना ज़रूरी है यदि आपका बच्चा सही से एक्टिव है तोह आप चिंता नहीं करें बच्चे को घर का बना पौष्टिक आहार डेटरे रहे ताकि बेबी हेअल्थी बना रहे:) हरी सब्ज़िया दाल स्प्राउट्स ताज़े फल दूध दही पनीर आदि बच्चे को दें जंक फ़ूड से दूर रखें :)
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा 3 साल का है लेकिन बह बोलता नही है क्या करू
उत्तर: हेलो डियर आपका बेबी 3 साल का है और बिल्कुल भी बात नहीं करता है तो यह नॉरमल प्रॉब्लम नहीं है आप अपने बेबी की गतिविधियों पर भी नजर रखेगी बेबी आई कांटेक्ट बनाता है या नहीं या फिर सामान्य बच्चों की तरह उसका व्यवहार है कि नहीं कभी-कभी बच्चों को कुछ समस्याएं होती हैं जो कि हम नहीं समझ पाते हैं इसलिए बेबी की गतिविधियों पर ध्यान रखकर इस बात को कंफर्म कीजिए कि बेबी को मानसिक तौर पर तो कोई समस्या नहीं है कभी-कभी कुछ बच्चे स्लो लर्नर भी होते हैं इसलिए देरी से बात करना भी सीखते हैं आप एक बार डॉक्टर से बेबी की जांच कराएं ताकि आपको सही सही समस्या का पता चल सके क्योंकि बिना जांच के बेबी की स्थिति बता पाना संभव नहीं है|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 3 साल का ह उसे कुत्ता खाँसी लग गयी ह बहुत दवाई भी दिलवाई पर आराम नही लगता क्या करू बहुत टेंशन में हु क्या करु
उत्तर: हेलो डियर आप अपने बेबी का सर्दी खांसी ठीक करने के लिए दालचीनी का प्रयोग कर सकती हैं एक चम्मच शहद में आधा चौथाई दालचीनी का पाउडर मिक्स करके बी को हर 4 घंटे के खेत में आप पिला सकती हैं इससे बेबी को सर्दी खांसी जुखाम में आराम मिलेगा तकने बेबी को भाग दिला सकती हैं क्योंकि भाग दिलाने से फिर भी का जो कब जमा होगा वह ठीक होगा और बेबी को खांसी में भी आराम मिलेगा आप चाहे तो अपने बेबी को चिकन का सूप देकर भी उसके सर्दी खासी और जुखाम में आराम दिला सकती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 3 साल का ह . उसे उलटी और दस्त लगें एच .बँटाइए मैं क्या करू ?
उत्तर: उस को ओआरएस दो जब भी बैगा पॉटी करे उस को ओआरएस दो.और साथ नैन जिंक तब लाए लो रोज की एक गोली 14 डेज तक दो
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 3 साल का हो गया ह पर उसका वेट 11 के.जी. ही ह क्या करू
उत्तर: Hello.. बच्चे को अगर आप मोटा करना चाहते हैं उसे तंदुरुस्त बनाना चाहते हैं तो आप उसके खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों कुछ ज्यादा ही प्रयोग करें. इसमें प्रोटीन मिनरल्स होते हैं जो कि बच्चों के शरीर के विकास के लिए बहुत जरूरी होता है बच्चों को ऊर्जा मिलती है और उसके अलावा hari सब्जियों को खाने में dhyaan भी बढ़ता है. जिंक वाला आहार दें जिससे कि बच्चों को भूख ज्यादा लगेगी और शरीर की ग्रोथ अच्छी होगी .जो बच्चे देखने में कमजोर होते हैं उन्हें भूख भी कम लगती हैं. उन्हें आप zink वाला और देने से उनकी बुक खुल जाती है और वह अच्छी तरह खाना खाने लगते हैं. Zink वाले आहार के लिए तरबूज के बीज, मूंगफली ,बींस ,पालक ,मशरूम और dudh den. इन सब चीजों से बच्चों का वजन भी पढ़ने में मदद मिलती है. डेयरी उत्पाद में मछली का सेवन भी आप बच्चों को करा सकते हैं. बच्चों को भरपूर मात्रा में दूध दही पनीर इन सब का सेवन करना चाहिए. जिससे बच्चा अपनी ग्रोथ कर सकें .यदि आप नॉनवेज है तो आप अपने बच्चे को मछली और एक अंडा daily दे सकते हैं. बच्चों को ताजे फल भी दे उनसे उनका पेट भरेगा और पोषक तत्व मिलेंगे .उससे उन्हें energy मिलेगी. अंगूर, सेब, केला ,संतरा ,तरबूज, खिलाने से बच्चे तंदुरुस्त होते हैं. बच्चों को ड्राई फ्रूट्स भी हमें रोज देना चाहिए. पिस्ता ,मूंगफली ,काजू खाने से कोलेस्ट्रॉल और खूब सारी कैलोरी मिलती है .जिसको खाने से बच्चे बढ़ेंगे और मोटे भी होंगे .आपको इन्हें रोजाना की डाइट में शामिल करना चाहिए. bachho ke खाने में आप बहुत ज्यादा नमक या बहुत ज्यादा मीठा बिल्कुल भी ना दें .दोनों ही चीजें लिमिट में होनी चाहिए. मात्रा उनकी आप सही रखें. बच्चों को कोल्ड्रिंग fastfood ya बाहर का खाना. होटल का खाना .बहुत ज्यादा पसंद होता है. लेकिन आप कुछ ऐसा करें जिससे कि आप उन्हें इन सब से बचा सके. पानी पीना बहुत जरूरी होता है और यह सही मात्रा में पिया जाए बहुत जरूरी है आप बचपन से ही बच्चों में यह आदत डालें कि वह पानी अच्छी मात्रा में लें ताकि वही आदत पड़ी तक रहे. bachho me थोड़ी एक्सरसाइज करने की ya योगा करने की भी आप आदत डालें इन सभी का प्रभाव आप उनके अच्छे स्वास्थ्य में देखेंगे. take care.
»सभी उत्तरों को पढ़ें