2 years old baby

Question: मेरा बेटा 2 साल का हाॅन वाला है सिर्फ़ दूध पित्त है कुछ नही खेत क्या karu

1 Answers
सवाल
Answer: कुछ नही होगा डरो मत.. apka pahla baby hai ?
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा कुछ नही खेत सिर्फ़ मेरा दूध पित्त u
उत्तर: हेलो डियर बच्चे को 2 साल तक दूध पिलाना बहुत जरूरी होता है अब आपका बच्चा 12 महीने का है बच्चे को ऊपर का khana देना शुरू करें तीन टाइम जरूर खाना दे बच्चे के के साथ खूब मस्ती करते हुए बच्चे को खाना खिलाएं धीरे धीरे बच्चे को हैबिट पड़ने लगेगी बच्चे को अलग अलग वैराइटीज बना कर दो जैसे कि मीठा दलिया नमकीन दलिया वेजिटेबल दलिया खिचड़ी पोहा अंडा चावल रोटी के साथ दाल दाल चावल मिक्स करे हुए इस तरीके से बच्चे को अलग-अलग अगर आप खाना ऑफर करेंगे तो बच्चा जरूर खाएगा जब बच्चे का सही से पेट भरेगा तो बच्चे रात में नहीं परेशान करेगा आपको इससे बच्चे को भी अच्छी नींद आएगी और आपको भी रेस्ट मिलेगा पूरी तरह से टाइम क्या बढ़ाकर बच्चे को खाना खिलाएं बच्चे के साथ आप को जबरदस्ती नहीं करनी है खेल खेल में खाना खिलाना है थोड़ा पेशेंस रखना होगा बच्चा खाने लगेगा चिंता नहीं करें आप :)
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा कुछ नही खेत सिर्फ़ मेरा हाइ दूध पिट है म क्या karu
उत्तर: आप परेशान ना हो , बच्चे इज उमर मे ऐसा करते है , आप कोशिश करते रहें बच्चे को खिलाने की , बच्चा खाने लगेगा .. खाना खिलाते समय बच्चे का आप धयान खाने से हटा दे , जब भि खाना खिलऐ बच्चे को एक जगह बिठा दे , बेबी के साथ कोई गेम खेले या कोई गाना गाये , बीच बीच मे बच्चे को खिलऐ , बच्चा पुरा नही खाता है तो फोर्स ना करे , कुछ देर बाद फिर खिलायें .. आप कोशिश करें कि बच्चे को हर दिन कुछ ना कुछ नया खिलाए ताकि बच्चे को हर खाने का टेस्ट मिल सके कभी-कभी बच्चे एक ही तरह का खाना खा खाकर बोर हो जाते हैं और नया नया खाने से उनको खाने क्यों दिलचस्पी बढ़ती है धीरे धीरे आप को पता चलता जाएगा कि आपके बच्चे को किस तरह का खाना पसंद है आप उसकी पसंद के अनुसार उसके लिए खाना बना है बनाएं साथ ही कोशिश करेंगे जो भी खाना बना है उसमें बेबी को भरपूर न्यूट्रिशन मिले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा 8 महीना 14 दिन का है मेरा बेटा कुछ नही खेत सिर्फ़ ब्रेस्ट मिल्क पित्त है क्या kre
उत्तर: छोटे बच्चो को खाना खिलने के लिए हमें पहले उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए. आप उसे सिर्फ घर का बना अलग अलग खाना उसे बनाकर दो. उसे अपने आप खाने के लिए प्रोत्साहित करे. इससे उसका खाने के प्रति रूचि बढ़ेगी. घर के सरे सदस्य एक साथ खाने क लिए बैठे. बच्चे हमें देख कर ही खाना सीखते है. उसे खाने के लिए किसी प्रकार की जोर जबरदस्ती न करे. हो सकता है वो शुरू शुरू में खाने से खेले पर जल्द ही खाना सिख जायेंगे. उसे नए नए फ्रूट्स खाने में दे. घर का बना सब पौष्टिक खाना दे. १२ महीना पूरा होने से पहले बच्चो को नमक शक्कर शहद गुड़ न दे.
»सभी उत्तरों को पढ़ें