3 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेटा 2 मंथ 22 दिन का ह मेरा दूध उसके लिएparrpt

2 Answers
सवाल
Answer: पम्पिंग सेशन से स्तन में दूध की मात्रा बढ़ती है। दूध की आखिरी बूंद के बाद करीब 5 बार स्तन को पंप करें। स्तन से ज्यादा दूध की मांग करने पर शरीर को ज्यादा दूध उत्पादन का संदेश जाता है। स्तनपान कराते समय स्तन को बदलें: जब भी आप स्तनपान कराएं तो स्तन को बराबर बदलें। इससे शरीर में दूध उत्पादन की मांग बढ़ेगी। साथ ही इससे आपका बच्चा भी आराम से स्तनपान कर सकेगा। दरअसल इससे स्तन खाली होता है और ज्यादा दूध का उत्पादन होता है। एक बार स्तनपान कराते समय कम से कम दो से तीन बार स्तन बदलें। मेथी ,लहसुन खाएं ऐसी चर्बी जो कि घी, बटर या तेल से मिलती हो, वह ब्रेस्‍ट मिल्‍क बढाने में बहुत कारगर होती है। यह शरीर को बहुत शक्‍ति प्रदान करते हैं। आप इन्‍हें चावल या रोटी के साथ प्रयोग कर सकती हैं जई का दलिया,इससे दूध का उत्पादन बढ़ता है तुलसी: इसमें विटामिन के पाया जाता है, जिसे खाने से ब्रेस्‍ट मिल्‍क बढता है करेला,करेला बनाते वक्‍त हल्‍के मसालों का प्रयोग करें जिससे यह आसानी से हजम हो सके
Answer: हेलो डियर आपका बेबी अगर आपका फीड अच्छे से कर ले रहा है यानी की आपके बेबी का पेट अच्छे से भर जा रहा है तो इसका मतलब है की आपको प्रयाप्त ब्रेस्ट से मिल्क आ रहा है और अगर स्तनपान करने के बाद भी बेबी भुखा रह जाता है तो आपको प्रयाप्त मिल्क नही हो रहा है इसके के आपके बेबी को ऊपर का दूध पिलाना बहुत ज़रूरी है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा 5 मंथ 22 दिन का हुआ ह उसके स्टूमक पे और बैक पे वाइट स्पॉट्स हो गये ह क्या करण हो सकता हे
उत्तर: हेलो डियर .. सफेद दाग की समस्या शरीर में पोषक तत्वों की कमी के होने से होती है .अगर प्रेग्नेंट लेडी को यह समस्या है तो उसके होने वाले बच्चे पर इसका कोई प्रभाव नहीं आप परेशान मत होइये . खाने पीने मे आपना ध्यान रखिए . डॉक्टर के दिए सुप्पलिमेन्तस समय पr लें . प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 2 मंथ 22 दिन का ह वो दूध बहुत डालता ह प्लीज़ कोई उपाए बताओ
उत्तर: आप अपने बच्चे को ठीक प्रकार से डकार दिलाएं। बच्चे को कंधे से लगाकर उसकी पीठ को थपथपाएं जब तक कि बच्चा डकार ना ले ले थोड़ा सा धैर्य रखें क्योंकि बच्चा थोड़ी देर में डकार लेता है । एक चम्मच में थोड़ा पानी और हींग लेकर गुनगुना करे फ़िर उसे बच्चे की नाभि के चारों तरफ़ लगायें । इससे बच्चे के गैस ठीक प्रकार से पास होगी और बच्चे को उल्टी नहीं होगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 5 मंथ का है क्या उसे दाल का पानी दे सकते है
उत्तर: Hello dear Solid food aap baby ko 6 months k baad hi dena start kare. Aap baby ko starting me 1 ya 2 spoon daal ka pani, chaval ka pani de lekin dheere dheere aap solid ki quantity badha de.. Jaise aap cerelac bhi start kar sakti hai.
»सभी उत्तरों को पढ़ें