16 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेटा 16. मंथ का ह bhut km sota h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर जैसे कि आप जानती हैं हर बच्चा डिफरेंट होता है तो इसमें कोई घबराने की बात नहीं है अगर आपका बच्चा एक्टिविटीज दुरुस्त है , ज्यादातर बच्चे अपनी नींद पूरी कर ही लेते हैं जब उनको नींद आई होती है , तो अगर आपका बच्चा कम होता है मगर वह एक्टिव है तो घबराने वाली कोई बात नहीं है क्योंकि आईएमसी और आपका बच्चा भी अपनी पूरी नींद कर ही लेता होगा , अगर आप चाहती है कि आपका बच्चा और ज्यादा सोए तो आप अपने बच्चे हल्के हल्के करके थोड़ा सोने की आदत डालिए जैसे कि आप उसको दोपहर में ले कर के खुद भी लेट जाइए और देखिए कि शांति होता कि वह चैन से सो पाए , ऐसे ही आप हल्के हल्के करके उसकी थोड़ी आदत डाली है सोने की , वैसे कोई घबराने की बात नहीं है अगर आपका बच्चा एक्टिव है तो
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा bhut kum sota h
उत्तर: 11 महीने के बच्चे को लगभग 12 से 13 घंटा सोने की जरूरत होती है| लेकिन यदि बच्चा कम होता है तो इसका प्रभाव उसके दिमाग पर भी पड़ता है| आपका बच्चा जितना ज्यादा कम सोएगा| उतने ही ज्यादा बच्चे चिड़चिड़ा रहेंगे इसलिए सबसे पहले तो आपको बच्चे के सोने का समय निश्चित करना चाहिए| क्योंकि बच्चे को जिस समय में सोने का आदत रहता है बच्चे को उस समय नींद आती है| और अगर बच्चा कम होता है हो सकता है उसके शरीर में किसी प्रकार की परेशानी हो| इसलिए सबसे पहले आप यह जानने की कोशिश करें कि बच्चे को कुछ परेशानी तो नहीं| और जब भी आप बच्चे को सुलाते हैं तो उन्हें बहुत शांत वातावरण में sulaye ,बच्चे को खाली पेट कभी ना सुलाएं खाना खाने के बाद ही sulaye tabhi बच्चे को अच्छे से नींद आती है| अगर बच्चा ठीक से नहीं sota है तो आप उसे किसमिस खाने में दिया करें क्योंकि किशमिश खाने से भी बच्चे को काफी अच्छे से नींद आती है| बच्चा जितना ज्यादा सोएगा उतना ही ज्यादा स्वस्थ रहेगा| आप जब भी बच्चे को सुलाने के लिए जाती है उसके साथ थोड़ी देर सोए और उसे कहानियां सुनाएं सोने के समय उन्हें फोन या TV बिल्कुल ना दें| माना जाता है कि जो बच्चे दोपहर में jo bachhe अच्छे से सोते हैं उनका memory power बहुत अच्छा रहता है| अगर बच्चा दोपहर में अच्छे से सो लेता है तो उनका दिमाग बहुत ज्यादा एक्टिव रहने की वजह से वह किसी भी चीज को बहुत जल्दी याद कर लेता है| जो बच्चे के लिए बहुत अच्छा होता है|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा डे मंथ का ह कुछ खाता नही ह
उत्तर: बच्चो के खाना नहीं खाने से माँ हमेशा परेशां रहती है हमे हमेशा उनके खाना नहीं खाने स, बहुत कम खाने स, नखरे करने स, परेशां रहते है आईसे में बच्चे शारीरिक के साथ साथ मानसिक तौर से भी बहुत कमजोर हो जाते है इसके लिए आप कभी कभी उनके पसंद का खाने द बाछे कुछ कारन से ही नहीं खात अगर उनके पेट में कीड़े हो या फिर उनको फ़ास्ट फ़ूड खाने कि आदत हो या फिर उनका खाना अच्छे से और जल्दी डाइजेस्ट नहीं होटा आप उनको ऐसे में अदरक का जूस दे ये खाना पचने में हेल्प होता ह उनके खाने में हींग डाले ओर खाने का गैप ज्यादा न रखे एमला कैंडी दे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा खाना नि खाता 18 मंथ का ह
उत्तर: हेलो डियर छोटे बच्चे अकसर खाने को लेकर बहुत परेसान करते है इसलिए आप भुक लगने पर ही बेबी को खानें के लिए दें कभी कभी बेबी रोज एक ही जैसा टेस्ट के खाने से बोर हो जाते है इसलिए कुछ अलग खिलाने की कोसिसि करें लिक्विड चीज़ें दें जैसे की ताजे फ़लो का जूस इस्से बेबी का पेट भि भेड़ेगा ऑर ताकत भि मिलेगी कुछ भि खिलाते टाइम बेबी का दयान किसी खिलोने या कुछ ऑर में लगवा सकती है जिस्सर बेबी खेलने में बिजी रहे तो आप उस वक्त खाना खिला सकें एक ही बार में जादा खिलाने की कॉशस ना करें थोड़ी थोड़ी करके खिलाते रहें
»सभी उत्तरों को पढ़ें