12 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेटा 1 साल का हो गया है . वो cow मिल्क feed krta h .use kya kya khila skti hu??

2 Answers
सवाल
Answer: आप बच्चे को दलिया खिलाए बहुत ही digestive होता है aur daliye में कई तरीके की सब्जियां भी डाल सकती हैं बच्चे को बहुत टेस्टी भी लगेगा और फायदा भी करेगा आप बच्चे की पसंद का खाना बनाएं बच्चे से पूछा कि बच्चे आप क्या खाएंगे इससे भी बच्चे के अंदर khane में इंटरेस्ट बढ़ेगा फिर भी आप अपने बच्चे को दूध में केला मिक्स करके दे सकती हैं ,उबला हुआ आलू भी खिला सकती हैं ,दाल का पानी दे सकती हैं आप उसे चावल का पानी भी दे सकती हैं आप बच्चे को दूध दही छाछ भी खिलाएं आप बच्चे को डिफरेंट तरीके के फ्रूट्स खिलाइए एप्पल, बनाना, ऑरेंज, ग्रेप्स आप उसको स्वीट्स भी खिला सकते हैं जैसे कि खीर, आटे का हलवा, मूंग दाल का हलवा यह सब बहुत पौष्टिक चीजें हैं जो आपके बच्चे को भी बहुत पसंद आएंगी बच्चे को थोड़ी थोड़ी देर में कुछ ना कुछ खिलाते रहे इससे उसकी खाने की आदत में सुधार होगा बच्चे को खेल-खेल में भी खिलाएं उसका खाने के प्रति ध्यान आकर्षित करें
Answer: हेलो dear आप अपने बच्चे को अपने दूध के सनत साth दाल पानी गाये का दूध ऑर भी तरल पदार्थ जैसे की सेब की पीउृइ या जूस अंगूर जूस चावल का सुप गाजर चुकन्दर का जुस बच्चे के टेस्ट के अनुसार दे सकते है आलु का सुप ऑर दलिया उसमें टमाटर पालक ऑर भी कुछ कुछ सब्ज़ी डालकर बना लें फ़िर उन सब को chankar पतला बना लें जिसको बच्चा आसानी से घुतक सकें चवाल ऑर दाल को पतला पीस् कर भी पीला सकते है केले ऑर दूध का सेक भि दे सकते है ये आपके बच्चे के विकास में भूत फ़यदेम्नद होंगे
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा 4 मंथ का हो गया हैं .. वो सिर्फ़ फॉरम्यूला मिल्क पीता हैं ... क्या ab main use kuch solid khila sakti hu ...pls answr me
उत्तर: हेलो डियर""" जन्म से लेकर 6 माह तक बेबी को किसी भी प्रकार के भोज्य पदार्थ या पानी, जूस आदि की आवश्यकता नहीं होती ,ना ही चीजों को बेबी को देना चाहिए| 6 माह तक की बेबी के लिए मां का दूध ही संपूर्ण आहार है मां के दूध में पोषक तत्व विद्यमान होते हैं जो की बेबी के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए पूर्ण होते हैं मां का दूध सर्व आहार व बेबी के लिए प्रतिरोधक क्षमता बनाने का भी काम करती है|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 1 साल 2 महीने का हो गया है लेकिन वो अभी तक चलता नही है मे क्या करु
उत्तर: हेलो डियर आपका बेबी अभी चलता नहीं है यह थोड़ी टेंशन की बात है फिर भी आप अपने बेबी के पैरों की मालिश अच्छे से किया करें अगर आपका बेबी खड़ा हो जाता है तो वह चलने भी लगेगा आप बिल्कुल टेंशन ना ले अगर आप कभी भी खड़ा हो जाता है तो आप बेबी के लिए एक वॉकर ले ले वॉकर में बेबी को रख कर आप दूसरी तरफ खड़ी हो जाए और उसे अपने हाथों में कुछ खिलौने या बेबी का पसंदीदा सामान ले और बेबी को आगे की तरफ आने के लिए प्रोत्साहित करें इससे बेबी अपने सामान को लेने के लिए आगे बढ़ने के लिए आएगा और ऐसे ही धीरे-धीरे चलना सीख जाएगा ओके टेक केयर डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा अभी 5 mhine का हुआ me use kuch khila skti hu kya
उत्तर: हेलो जी नहीं आप बच्चे को अभी कुछ भी नहीं खिला सकती। 6 महीने तक बच्चे को सिर्फ मां का दूध ही देना चाहिए अगर बच्चा मां का दूध पीता है तो उसे कुछ खाने-पीने की जरूरत नहीं होती क्योंकि बच्चे को मां के दूध से ही वह सभी पोषक तत्व मिल जाते हैं जो उसके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए जरूरी है लेकिन अगर किसी कारण से बच्चा मां का दूध नहीं पी पा रहा है या मां के दूध से बच्चे का पेट नहीं भर पा रहा है तो बच्चे को मां के दूध के जगह फार्मूला मिल्क भी दिया जा सकता है यह फार्मूला मिल्क बच्चे को मां के दूध जितना ही पोषण देता है। बच्चे को साल भर तक गाय का दूध ना पिलाए 6 महीने के बच्चे का डाइजेस्टिव सिस्टम इतना डिवेलप नहीं रहता कि वह मां के दूध या फार्मूला दूध के अलावा किसी और को बचा सके।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा अभी 3.5 साल का है वो बोहत ज़िद्दी ऑर नाटक बाज़ हो गया है
उत्तर: आप चिंता ना करें बच्चे का बिहेवियर हमेशा बदलते रहता है बच्चे के जन्म के बाद से ही वह सीखने की प्रक्रिया चालू हो जाता हैl और माना जाता है कि परिवार ही बच्चे का पहला पाठशाला होता है जिसमें मां पहली guru होती है जो बच्चे को संस्कार देती हैंl बच्चों में अच्छे संस्कार विकसित करने के लिए मां-बाप की भूमिका बहुत ज्यादा अहम होती है अगर माता-पिता संस्कारी होते हैं तब जाकर ही बच्चे संस्कारी होते हैं क्योंकि आजकल के माहौल में बच्चे को संस्कार दे पाना बहुत ज्यादा मुश्किल होता हैl बच्चे बड़े होकर वही है वार करता है जो बचपन में सब सीखा रहता है धोखा दिमाग एक कोरे कागज की तरह होता है जो पूरा खाली होता है जिसमें हम चाहे कुछ भी लिख सकते हैं वही व्यवहार बहुत बड़े होकर करता हैl बच्चे को हम नहीं सिखा सकते बल्कि जो माता-पिता करते हैं उसको देखकर बच्चे स्वयं सीख जाते हैं उसी की तरह व्यवहार करने लगते हैं इसलिए हमें बच्चे के सामने कभी भी बुरा बर्ताव नहीं करना चाहिएl अगर बच्चा कुछ गलत करता है तो उसे मारने या डरने के बजाए उसे प्यार से समझाना चाहिए ताकि बच्चा प्यार से सीखेंl सभी बच्चा एक जैसे नहीं होता हर कोई का स्टाइल अलग अलग होता है इसलिए हम बच्चे को किसी भी चीज के लिए फोर्स नहीं कर सकते कोई ज्यादा शरारती होता है तो कोई थोड़ा कम होता है उन्हें अपने माहौल में डालने के लिए थोड़ी मेहनत करनी पड़ती हैl बच्चे की मन की बात जानने का सबसे सरल तरीका यह होता है कि आप उससे बातचीत करें और उसे क्या चाहिए क्या नहीं चाहिए जाने की कोशिश करें अगर आप बच्चों से लगातार बात करते हैं तो वह आपके मन की बात शेयर करने से नहीं डरेंगे वह हर बात आपसे शेयर करेंगेl और बच्चों को ज्यादा किसी चीज के लिए नियंत्रण भी ना रखें क्योंकि ऐसे में बच्चे बहुत ज्यादा चिड़चिड़ा और jiddiबन जाते हैंl
»सभी उत्तरों को पढ़ें