3 साल का बच्चा

Question: मेरा बेटा 10 साल का है लेकिन वो कुछ khata नही

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा 2 साल का है पर वो कुछ भी ठीक से नही khata है
उत्तर: हेलो आप बच्चे को डॉक्टर से सलाह कर के ज़िन्क सप्लीमेंट्स दें सकती है आपके बच्चे की भूख khulegi और बच्चे के विकास के लिए ज़िन्क हेल्पफूल होता hai.दो साल तक के होते-होते बच्चे लगभग सब कुछ खाने लगते हैं।आप जो भी खाती हैं, आप का बच्चा वो सब खा पि सकता है। स्वधानी बरतनी है सिर्फ इतनी,की आप का बच्चा जो खाये उसमे मसाला, नमक और चीनी कम यूज़ हो , आपके बच्चे का खाना ऐसा होना चाहिए कि 3 बार खाना खायें और 2 बार स्नैक्स खायें साथ ही साथ बच्चे को मिल्क ज्यूस छाछ पीने को दे सकती hai,बच्चे को बैलेंस डाइट की आवश्यकता होती है, जिसमें उसे विटामिन, मिनरल, कार्बोहाइड्रेट्स और वसा मिलना चाहिये.l हर बच्चे की nutritional requirement अलग होती है। इसीलिए अपने बच्चे को khana खिलते वक्त ध्यान रखें की कौन सा khana आप का बच्चा interest से खा रहा है आप का बच्चा जितना ज्यादा खाये उतना खिलाये। अगर आपका बच्चा ज्यादा न खाना मांगे तो जबरदस्ती न खिलाएं।  आप बच्चे को दाल चावल रोटी सब्जी इडली डोसा उपमा एग सूजी की खीर आलु का पराठा सैन्ड्विच वेजिटेबल सूप खिचड़ी ओट्स ,कट लेट फ्रूट्स स्मूदि केला ऐपल पपीता चीकू शेक सब खिला सकती है खाना बच्चे का सही पका हुआ होना चाहिए आप काजू और बादाम इन्हें बच्चे के खाने में यूज़ kar k khane को और हेल्थी बना सकती है अलग कलर और डिज़ाइन में खाना बनाये कहानी बोल बोल कर खिलाये बच्चे को फीजिकल ऍक्टिविटी करवायें ताकि बच्चे को भूख लगें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 3 साल का है वो कुछ भी नही खाता है क्या करू
उत्तर: हेलो इस उम्र में बच्चे खाना खाने में बहुत नखरा करते हैं बच्चे को खाना खिलाने के लिए उनकी मनपसन्द शेप, या खाने के उपर किसी प्रकार का डिजाइन या डिफरेंट डिजाइन के बाउल में खाना परोस सकती हैँ। इससे यकीनन बच्चे खाने की तरफ आकर्षित होंगे। बच्चे के लिए खाना बनाते समय एक बार में दो से ज्यादा टेस्ट मिक्स न करेँ। आप अपने बच्चे की ईटिंग हैबिट्स को ध्यान में रखकर एक बार में मीठा और चरपरा या मीठा और नमकीन टेस्ट सर्व कर सकती हैँ। बच्चे को दिन में तीन बार खाने की आदत जरूर डालें। उसके खाने में हैल्दी स्नैक्स जरूर दें। जब बच्चा दिन में तीन बार खाना शुरू करेंगा तो यहीं उसकी आदत बन जाएगी और उसे भूख भी अधिक लगेगी।  बच्चे हर बार एक ही तरह का खाना खाकर ऊब जाते हैं इसलिए हमेशा उनके खाने में बदलाव करते रहे लेकिन ध्यान रखें कि खाना स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा भी होनी चाहिए। बच्चों को कभी भी एक-साथ ज्यादा खाना न दें। उन्हें पहले खाने की थोड़ी मात्रा दें। ऐसा करने से उनकी भूख भी बढ़ेगी और वह खाने से बोर भी नहीं होगे बच्चे को जब भूख लगे, तभी उसे खाना खिलाएं। इसके अलावा अगर भूध लगने पर खाना नहीं खाता तो उसे फल, हैल्दी सूप, जूस खाने को दे बच्चों को पहले ही उतना खाने को दो, जितना वह खा सकें। जबरदस्ती खूब सारा ना खिलाएं  
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा टीन साल का हो गया लेकिन वह कुछ khata नही है क्या karu
उत्तर: हेलो डियर ,बच्चा प्रॉपर खाना खाए इसके लिए आपको कुछ टिप्स फॉलो करनी पड़ेंगे l बच्ची का नाश्ता,दोपहर का खाना, स्नैक्स,रात के खाने का टाइम फिक्स करिए उसका प्रॉपर रूटीन सेट करिएl बच्चे को जब भी खाना खिलाएं उसे प्रॉपर टेबल और चेयर पर बैठा कर के खिलाएं और खाने के लिए कलरफुल बर्तन यूज करें क्योंकि बच्चा जब कलरफुल चीजें देखता है वह ज्यादा अट्रैक्ट होता हैl खाते टाइम उससे मोबाइल या टीवी बिल्कुल ना दिखाएं उसकी बजाए आप उसे कार्टून बुक्स दीजिए कलर्स दीजिए टॉय दीजिए उसका माइंड दूसरी चीजों पर लगाइए जिससे वह उस में बिजी हो और आप उसे easily खाना खिला सकेl नाश्ते में अंडे का आमलेट ,बेसन चीला, वेजिटेबल उपमा सिंपल चपाती ,आलू पराठा, आदि दे सकते हैं | लगभग 11:00 बजे के आसपास मौसमी फल या को भी फूड जो बेबी को दे लंच में बेबी को दो चपाती ,चावल ,दाल एक कटोरी सब्जी बारीक कटे हुए सलाद ,आधी कटोरी दही, इत्यादि दे सकते हैं| रात को डिनर में बेबी को दो चपाती एक ,कटोरी दाल एक कटोरी ,सब्जी मिक्स फ्रूट सलाद ,डेजर्ट में fruits या दूध से बना हुआ सैलेड या कस्टर्ड दे सकती हैंl रात में सोते समय बेबी को ड्राइव फूड्स पाउडर का दूध या सिंपल पाउडर दूध भी दे सकती हैं,|
»सभी उत्तरों को पढ़ें