18 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेटा 18 मंथ का हि कुछ खाता पिता नही हे वजन 9 kg he kya kru

1 Answers
सवाल
Answer: आप यह जानने की कोशिश किजिय की उन्हें khane में ज़्यादा क्या पसन्द है फ़िर उसी itom में helthy चीज़ें मिलाकर उन्हें दिजिय .. जेसे अगर उन्हें paraathe पसन्द है तो उसमें कभी कोई सब्ज़ी कभी पनीर कभी सत्तू kabhi alu gobhi . ये सब डाल कर उन्हें खिलाने की कोशिश किजिय... Upma पसंद ही तो आप उसमें सब्जिआ मिलकर बना कर उन्हें खिलाए Aap उनकी फीजिकल ऍक्टिविटी थोड़ी badha दे . . उनको पार्क लेकर जायें उनके साथ खेलें .. जिससे उन्हें भूक ज़्यादा लगेगी और वो खुद खाना खेएंगे . बच्चों को खाना डेकोरेटिव बहुत पसंद आता है, इसलिए आप खाने को थोड़ा सजा कर उनके सामने दीजिए। बच्चों को ऐसा खाना बनाकर दीजिए जिस को वह अपने हाथों से पकड़कर उठाकर आसानी से खा सकते हैं। Aap बाजार से बच्चों के लिए डेकोरेटिव प्लेट्स भी ले सकती जिसमें कार्टून बने हुए रहते हैं इससे भी बच्चे थोड़ा खाना खाने के लिए ज्यादा अट्रैक्ट होंगे।.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा 1.5 मंथ का हो गया हे वो खाना नही खाता हे मेरा दूध हि पिता हे जिसे वो कमज़ोर हे . क्या करु plz बताये ...
उत्तर: हेलो डियर आप का बेबी 15 मंथ का हे आप टेंशन मत ले मा का दूध सबसे बेस्ट होता हे उससे बच्चा कभी विक नही हो सकता बच्चे को एक साथ खाना मत खिलाइए उसे थोड़ा थोड़ा करके खाना खिलाइए और आप उसे थोड़ी देर ब्रेस्ट फीडिंग कराये और थोड़े समय के बाद कुछ खाना खिलाइए जिससे बच्चा थोड़ा खा लेगा बच्चे को आप अपना दूध 2 साल तक पिला सकते मा के दूध के द्वार बच्चे को सारा पोषण मिल जाता हे आप का बच्चा उससे कमजोर नही होगा कमज़ोर होने के बहुत से कारन हो सकते हे शायद उसके दाँत आ रहे हो गे तो भी वो कमजोर हो सकता हे आप अपने दूध के अलवा उसको दलिया vegitabal बॉइल करके उसक सूप ऑर पतला दाल चावल मे थोड़ा शा घी डालकर भी खिला सकते हो आप उसे फ्रूट्स का ज्यूस भी पिलाना चाहिए जिससे बच्चे को वाइटमिन्स मिल सके बच्चे को सॉलिड फ़ूड भी देना चाहिए बच्चे को अलग अलग प्रकार का खाना खिलाना चाहिए जिससे वो खा ले हमें बच्चे को खिलाने का प्रयास करते रहना चाहिए बच्चे को एक साथ ज़्यादा खाना नही खिलाना चाहिए 2 या 3 घण्टे के बाद थोड़ा थोड़ा करके खिलाते रहना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 9 महीने का है कुछ खाता नही है उपर का धुध नही पिता
उत्तर: hello आजकल hum sabhi माताओं की यही समस्या रहती है कि बच्चा कुछ नहीं खाता . आप परेशान ना हो आप बदल-बदलकर कुछ कुछ नया ट्राई करें . उसके पसंद की चीजों में ऐसा कोशिश करेंगे पौष्टिक आहार जोड़ सके. जब भी आप उसे खाना खिलाएं उसके आधे घंटे पहले आप ध्यान रखें यह वह कुछ भी फास्ट फूड या चिप्स या कोल्डड्रिंक या कुछ और ना खाएं भूख बढ़ाने के लिए खाने में ऐसे खाने den.जिनमें Zink की मात्रा ज्यादा हो . जिंक हमारे शरीर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड का banata है जिस कारण से हमें भूख लगती है.humara shareer इस एसिड का इस्तेमाल करके खाना अच्छे से बचाता है . अगर Zink ki मात्रा कम होगी तो हाइड्रोक्लोरिक एसिडकी मात्रा कम बनेगी इससे हमारी बुक कम हो जाएगी. हल्लो। आप ध्यान रखे आपका बचा दिन में ४ बार याने उठते साथ , दोपहर में ,शाम को , और रात में सोने से पेहल।। आपका दुध ले और ३ टाइम याने नाश्ता , दोपहर का भोजन फिर रात का खान।। जो भी आप ताज़ा बनाये वह थोड़ा थोड़ा खै। आप डेरी प्रोडक्ट दिया करे। जैसे घर का बना दही , पनीर ।। आप बाकी ये सब दे सकती है।। Chawal kheer , सूजी की kheer , गाजर की kheer ,ल्वाकि की kheer।। मूँग दाल की खिचडी मासूर दाल की खिचडी दाल चवाल दाल रोटी दुढ रोटी केला शीक फ्रुइट्स की स्मूथिएस काधी चवाल आते का हल्वा सूजी का हल्वे सब्जीयू का सूप काऊ मिल्क याने gaay का दुध pine नहीं द. बच्चे के 1 साल होने के बाद है उसे गाय का दूध देना चाहिए .6 महीने तक के बच्चे के लिए आप जो भी खाना बनाती हैं उसमें आप गाय का दूध इस्तेमाल कर सकते हैं. पर दूध पीने के लिए बिल्कुल भी ना दें. गाय के दूध में पर्याप्त मात्रा में आयरन नहीं होता. जिससे कि उसके शरीर एनिमिक होने की समस्या हो सकती है . मां के दूध में और फार्मूले में गाय के दूध की तुलना में आयरन ज्यादा होता है इसलिए आप 1 साल तक गाय का दूध बिल्कुल भी ना दें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 9 मंथ का हो गया ह पर वो कुछ खाता पिता नहे h
उत्तर: हेलो बच्चे जब शुरुआत में दूध के बाद कुछ सॉलिड चीजें लेना शुरू करते हैं तो एकदम से उन्हें एक्सेप्ट नहीं कर पाते और खाना नहीं चाहते या तो उन्हें उनका स्वाद अच्छा नहीं लगता या उनकी थिकनेस के कारण वह नहीं खाना चाहते क्योंकि उन्हें खाना गटकने की आदत नहीं होती और बच्चे उसे ठीक से पचा नहीँ पाते। और उन्हें दस्त की प्रॉब्लम होती है इसलिए बच्चों को लिक्विड के बाद डायरेक्ट सॉलि़ड ना देकर सेमी सॉलि़ड फूड देना चाहिए। सेमी सॉलि़ड फूड में सेरेलक दाल और चावल की मिक्स पतली खिचड़ी दलिया की खिचड़ी या दलिया का खीर चावल का खीर फलों की स्मूदीज या फ्रूट शेक देना शुरू करें बच्चा जब यह सब चीजें खाने लगे तो एक या दो माह बाद उसे यही सब चीजें थोड़ा गाढ़ा करके दे। और साथ में दाल चावल मसलकर और दूध रोटी मसल का या दाल रोटी मसलकर खिलाएं और जब बच्चा ऐसे भी खाने लगे तो उसके 2 महीने बाद फिर नॉर्मल खाना बच्चे को खिलाना शुरू करें स्टेप बाई स्टेप बच्चों के आहार को गाढ़ा करने से बच्चे आसानी से डाइजेस्ट कर लेते हैं और खाना भी सीख जाते हैं। इससे बेबी का वजन जरूर बढेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें