5 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेटा फाइव मंथ का उसे पोटी ग्रीन कलर की आ राही है मे क्या करू

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डीयर वैसे हरा मल बहुत common होता है बेबी मे। ये कई कारणो से होता है है जैसे-- बेबी को सर्दी हो। बेबी मदर फ़ीड पर हो और मदर ने कुछ हरा खाया हो। बेबी को infection या डायरिया हो। बेबी को digestion issue हो। आप ध्यान दे क्या बेबी को पेट मे दर्द है या मल मे बहुत ज्यादा अजीब smell है तो digestion की दिक्कत हो सकती है। इस condition मे डॉक्टर को दिखाएं।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा ग्रीन कलर की पोटी कर रहा हे क्या करू
उत्तर: ब्रेअस्टफ़ीफ़ करने वाले बच्चों में कभी-कभार ग्रीन स्टूल आना काफी सामान्य है, यदि बच्चे का वजन बढ़ रहा है और उसका विकास सही हो रहा है तो चिंता की कोई बात नहीं होती यदि आप बेबी को एक निश्चित समय तक दूध पिलाकर ब्रेअस्टफ़ीफ़ करवाना बंद कर देती हैं, तो हो सकता है कि बेबी को वसा युक्त दूध न मिल पाए अगर बेबी को  ब्रेअस्टफ़ीफ़ की शुरुआत में आने वाला अग्रदूध ज्यादा मिल रहा है। ब्रेअस्टफ़ीफ़ के अंत में आने वाला वसायुक्त गाढ़ा दूध उसे पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल पा रहा,इससे उसके पेट में गड़बड़ हो सकती है . दूध पिलाने से पहले शुरू का दूध थोड़ा निकाल दें जो पानी की तरह होता है , ताकि बच्चे को बीच का अच्छा गाड़ा दूध मिल सकें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 8 मंथ का है उसे कोल्ड और खाँसी आ राही है क्या karu
उत्तर: हेलो डियर अगर आपकी बेबी को सर्दी हो गई है दोहा परेशान ना हो उसका पूरा ख्याल रखें धीरे-धीरे सही हो जाएगी आप उसको रोज रात को सोते समय हल्दी वाला दूध दे उससे उसको काफी राहत होगी हेलो डियर छोटे बच्चों को सर्दी बहुत जल्दी लग जाती हैइसलिए हमें इस बात का विशेष ध्यान देना होता है कि हम अगर स्तनपान करा रहे हैं तो हम कोई ऐसी ठंडी चीज ना खाएं जिससे बच्चे को सर्दी हो जाएऔर जो पानी पीते हैं तो हल्का गुनगुना पिये तो अच्छी बात होती हैइससे बच्चे को सर्दी लगने का डर कम होता है अपने बेबी की सर्दी के लिए आप उसको भाप दीजिये भाप देने के लिए आप बाथरूम में पानी को खोला लेऔर फिर जब बाथरूम में भाप भर जाएतब आप उस बाथरूम में बच्चे को दस से पन्द्रह मिनट लेकर बैठेइससे बच्चे की नाक खुल जाएगी और गुर गुर की तकलीफ भी बंद हो जाएगी दूसरा उपाय यह है कि आप अपने बच्चे कीअजवाइन और लहसुन के तेल से मालिश करें तेल बनाने के लिए आपएक छोटी कटोरी तेल लेउसमें चार कली लहसुन और आधा चम्मच अजवाइन डालकर तेल को पकये और जब लहसुन का रंग लाल हो जायें तो गैस बन्द कर दें और जब तेल हलका गुनगुना रह जायें तो आप तेल से बेबी की मालिश करे और इज बात का खास खयाल रक्कहे की आप तेल बेबी की हथेली और तलवों मेंऔर बच्चे के नाखूनों में जरूर लगाएउससे बहुत जल्दी आराम मिल जाता है रात को सोते समय आप अपने बेबी कीछाती में हल्दी का लेप लगाएंउससे भी आपको काफी राहत मिलेगी बेबी को जब आप स्पंज करेंतो हल्के गुनगुने पानी में टॉवेल को निचोड़ लेंऔर उस टॉवेल को बच्चे की छाती और पीठ में रखेंइस बात का खास ख्याल रखें कि पानी ज्यादा गरम न होइससे भी बच्चे को बहुत राहत मिलती है इन सब उपायों को करें आपका बच्चा जल्दी ठीक हो जाएगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी फाइव मंथ का है और वो एक दो दिन से ग्रीन कलर की पोट्टि कर रहा है जिसमें थोड़ी सी चग होती है क्या करू ?
उत्तर: छोटे बच्चों के साथ ऐसा बहुत ही नॉर्मल है. 6 महीने तक आप उनकी पार्टी के रंग में परिवर्तन देखेंगे इससे आप परेशान ना हो| नवजात में पॉटी के रंग में बदलाव का कारण लैक्टोज होता है, क्योंकि, इस समय शिशु का शरीर दूध से मिलने wale लैक्टोज (दुग्ध शर्करा) को अच्छे से पचा नहीं pata. जिस कारण उसके पेट में सामान्य से अधिक गैस और पानी तैयार होने लगता है, जो हरे या काले रंग के पॉटी के रूप में सामने आता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें