3 साल का बच्चा

Question: मेरा बेटा दुबला है हेल्दी कैसे हो उसे क्या आहार दें

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आप अपने 3 साल के बेबी को ये सब दे सकते है monday नाश्ता: मक्खन के साथ मेथी परंथा दूध का ग्लास दोपहर का भोजन: काला चाना सब्जी रोटी, दही शाम का नाश्ता: ऐप्पल सोया कटलेट्स। रात्रिभोज: सोया सेम और शिमला मिर्च करी चावल मंगलवार नाश्ता: केले और दूध के साथ ओट दलिया दोपहर का खाना: राजमा, जीरा चावल ककड़ी रायता शाम का नाश्ता: नाशपाती रात्रिभोज: आलू और मटर करी, मिस्सी रोटी बुधवार नाश्ता: उत्तपम और नारियल चटनी छाछ का ग्लास दोपहर का भोजन: पनीर पुलाओ बीटरूट, लोकी रायता शाम का नाश्ता: अनानस रात्रिभोज: राजमा की सब्जी और रोटी , गाजर का रायता। गुरूवार नाश्ता: सब्जियों से बना हुआ मूँग दाल चीला , दूध का ग्लास दोपहर का भोजन: दाल, अरबी सब्जी, चावल दही शाम का नाश्ता: अंगूर रात्रिभोज: आलू (आलू) और प्याज (पायजा) पराथा दही शुक्रवार नाश्ता: डोसा संभार, छाछ का ग्लास दोपहर का खाना: छोला करी, परवल आलू, चावल दही शाम का नाश्ता: ऑरेंज (संतारा) रात्रिभोज: सब्जी पुलाओ ककड़ी (खेरा) रायता शनिवार नाश्ता: बीन्स, गाजर और नारियल की चटनी साथ सूजी उपमा और छाछ का ग्लास दोपहर का भोजन: कढ़ी, जीरा आलू सब्जी चावल शाम का नाश्ता: केले रात्रिभोज: मशरूम, मटर सब्जी और रोटी। रविवार नाश्ता: पनीर भूरजी, दूध का ग्लास, टोस्ट दोपहर का भोजन: साग मक्का की रोटी शाम का नाश्ता: चिकू रात्रिभोज: संभार चावल आप ऐसे आहार दे अपने बेबी को आपका बेबी की हेल्थ ठीक हो जायेगी
Answer: कार्बोहाइड्रेट्स , विटामिन और मिनरल्स होना बहुत जरुरी होता है बाछे इस उम्र में खाना के लिए बहुत नाटक करते है पर सब माँ के ऊपर निर्भर करता है कि बच्चो को कब और कैसे खाना खिलती है बाछा जब सो कर उठे उसे आप रोज एक कप दूध के साथ बईगा बादाम दे सकते है ओर फिर उसे नास्ता दे अगर आप दूध नास्ता के बाद देंगे तो बेबी सायद दूध न पिए पेट भरे रहने के वजह स उसे आप एक कप डाल खिचड़ी है जो एक रोटी के बराबर है आप रोटी डाल भी दे सकते है नेसल कर अच्छे स एक कप सब्जिओ का मिक्स जिसे आप दाल मे' डालकर पकाये उसे बच्चे को द ओर एक कप फलो को काटकर दे जो भी पसंद है बेबी को आंडा ,पनीर ,ओर दही उसके
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेबी 6 महीने का हो गया है. उसे अब क्या आहार दें
उत्तर: हेलो डियर जब आपका बेबी 6 मंथ का हो जाये तो उसे आप निम्न फूड़ खिला सकते है जिससे बेबी के हेल्थ के साथ साथ उसका विकास भी अच्छे तरीके से होगा। 8-- बजे - बीएम / एफएम सुबह 9 बजे रावा इडली , ओट्स रागी डोसा, सूजी खीर, केला, दलिया, पेन्केक सेब प्यूरी (कोई भी एक) सुबह 11बजे-- बीएम / एफएम 12बजे-- मसला हुआ केला, दही, 1बजे-- Khichdi, आलू और गाजर Khichdi, दही चावल, रागी दलिया, veggie के साथ suji upma 3बजे-- बीएम / एफएम 5बजे--कोई नरम फल, दही, उबले हुए आलू, सेब प्युरी 7बजे-- उत्तम, सूजी खीर, चावल के साथ मूंग दाल, कच्चे केले का दलिया, जौ अनाज, गेहूं अनाज दलिया। अन्य खाद्य पदार्थ जो आप 6 महीने के बेबी को खिला सकती हैं। रागी या बाजरा दलिया, रागी खीर, दाल पानी, चावल का पानी, ऐप्पल और केला, ऐप्पल प्यूरी, चिकू प्यूरी, कद्दू प्यूरी, गाजर प्यूरी, ब्रोकोली प्यूरी, आलू मैश, मीठे आलू प्यूरी, आलू और गाजर के साथ दलिया दलिया सूप, वेगी खिची, एवोकैडो प्यूरी, सब्जियों के सूप, मखाना खीर पपीता प्यूरी, तरबूज, ऐप्पल खीर, सूजी और केले दलिया। आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 10 महिने को लगा हे उसे बेहद खाँसी हो रही है उसे क्या दें
उत्तर: बच्चे को आराम पहुंचाने के लिए आप नीचे दिए गए कुछ उपाय यूज कर सकते हैं बच्चे को भाप युक्त कमरे में रखें बच्चे को बलगम वाली खांसी है जिसमें बहुत सारा बलगम बन रहा हो तो आप उसे भाप दिलाएं भाप लेने से उसकी नाक और छाती खोलने में मदद मिलेगी बाथरूम में गर्म पानी का शाबर चला ले और बच्चे को अंदर ले कर बैठ जाए करीब 15 मिनट बाहर आने के बाद उसके नाम कपड़े उतार कर सूखे कपड़े पहना दे गद्दे का सिरहाना ऊंचा उठा दे कई बार खांसी की वजह से बच्चे को रात भर नींद नहीं आती गद्दे का सिरआना ऊंचा उठा देने से बच्चे को सांस लेने में आसानी होगी बच्चे को तरल पदार्थ दें बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराएं इससे खांसी के कारण से निपटने में मदद मिलेगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा बहुत दुबला पतला उसे क्या दें
उत्तर: हेलो डियर, अपके बेबी का वेट 6 मंथ तक अपके दूध से ही बढ़ेगा. 6 महीने से कम उम्र के बच्चों का वजन बढ़ाने के लिए मां का दूध ही एकमात्र उपाय होता है। स्तनपान कराना आपके बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए सबसे पौष्टिक, स्वस्थ, संतुलित और बेहतर माना जाता है। स्तनपान आपके बच्चे को उचित अनुपात में सभी आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है। नवजात शिशु के लिए मां के दूध को पचाना आसाना होता है, इसलिए मां के दूध से शिशु को कब्ज, दस्त या पेट की अन्य परेशानी बेहद ही कम होती है। ख्याल रखना.
»सभी उत्तरों को पढ़ें