1 महीने का बच्चा

Question: मेरा बेटा का लिप बहुत कला है उसे लाल या गोरा करने का उपाय बताये

4 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर , वैसे बेबी का लिप जिंस कलर का जनम के समय होता है वो उसी कलर का होगा इशके लिए कुछ करने की कोई ज़रूरत नही है लेकिन अगर जनम के समय लिप लाल थे और बाद में काला कलर का होने लगता है तो ऐसा बाहरी वातावरण और अच्छे से देखरेख ना हाॅन की वजह से हो जाता है आप अपने बेबी को जब भी अपना मिल्क पिलाये तो बेबी को milk पिलाने के बाद किसी शाफ़ कपड़े को गिला करकें lips पोछ दिया कर और इसके बाद लिप्स पर नारियल के तेल से हलकी मालिश कर दिया करे इससे लिप्स काले नही होंगे , आप अपने बेबी को जब भि अपना मिल्क पिलाये तो सबसे पहले अपने ब्रेस्ट के नीप्पल को अच्छे से गिले कपड़े से शाफ़ करकें ही स्तनपान कराये ऐसे नही ऐसा करने से आपके बेबी का लिप्स काला नही होगा , बेबी के लिप्स के ऊपर ड्राइ हाॅन पर पपड़ी जम जाती है इससे भी लिप्स काले हो जाते है आप बेबी के लिप्स पर नारियल का तेल लगा दिया करे इससे लिप्स ड्राइ नही होगी
Answer: आप बच्चे को जितनी बार भी दूध पिलाएं उतनी बार बच्चे के होठों को साफ कॉटन के कपड़े से पानी में भिगोकर साफ करें इससे आपके बच्चे के होंठ साफ रहेंगे और काले नहीं पड़ेंगे जब बच्चे के होठों में दूध लगा रह जाता है तो वह दूध होठों को काला कर देता है इसलिए आप बच्चे के होठों की साफ सफाई पर विशेष ध्यान दें।
Answer: aap jab v baby ko feed karwati h to uske baad saaf kapde se baby ke lip ko saaf kiya kijiye... iske aalawa aap gulab ki pankhudiyon ka ras lip pe laga sakti h
Answer: kisi kchhe gulabi kpde se hr baar dudh pilane k baad lips ko ponch de koii esa gulabi ya lal kpda jo colour chhodta ho
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेबी गोरा है या कला
उत्तर: यह तो जन्म के बाद ही पता चल सकता है । बच्चे का गोरा या काला होना बहुत हद तक माता पिता पर डिपेंड करता है क्योकि रंग जनेटिक होता है लेकिन खान पान का बहुत असर होता है आप निम्न तत्वों का सेवन कीजिए इस्से आपका बच्चा सुन्दर होगा जैसे .. गर्भवती महिला को रोजाना रसीले संतरों का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद विटामिन सी होने वाले बच्चे का रंग निखारने में मदद करता है।  कच्चा नारियल खाने से शरीर को काफी मात्रा में पोटेशियम मिलता है जो गर्भ में पल रहे बच्चे के बाल और त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। कच्चे नारियल की जगह नारियल पानी भी पी सकते हैं । गर्भावस्था के दौरान हरी सब्जियां जरूर खानी चाहिए। इससे शरीर को भरपूर मात्रा में आयरन मिलता है जो बच्चे की सेहत के लिए बहुत जरूरी है।  प्रैग्नेंसी' में रोजाना गाजर का जूस पीने से काफी फायदा होता है। इससे शरीर में खून की कमी पूरी होता है और इससे बच्चे की त्वचा को भी लाभ होता है। दूध में केसर और बादाम 'मिक्स' करके पीने से बच्चे का शरीर तंदुरूस्त होता है और इससे बच्चे का रंग भी निखरता है। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा कला हे तो उसे गोरा बना ने के कोई उपाय बटाये वो 6 महीने का हे
उत्तर: नवजात शिशु जन्म के समय अक्सर गोरे लगते हैं, और कभी-कभी त्वचा में गुलाबी रंगत भी होती है। यह गुलाबी रंगत लाल रक्त वाहिकाओं से मिलती है, जो कि शिशुओं की पतली त्वचा में से दिखाई देती हैं। अधिकांश माता-पिता इसे बच्चे की त्वचा का वास्तविक रंग मान लेते हैं। मगर नवजात की त्वचा का रंग थोड़ा गहरा होने लगता है, क्योंकि त्वचा को रंग देने वाला प्राकृतिक रंजक (पिग्मेंट)-मेलानिन- का उत्पादन शुरु हो जाता है। इसलिए शुरुआत में शिशु की रंगत में बदलाव आना सामान्य है। फिर भि आप कुछ घरेलु नुस्खे ट्राइ कर सकती है . चंदन, हल्दी, केसर और दूध का पेस्ट बनाएं और इसे अपने बच्चे के शरीर पर लगाएं। इसे 10 मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें। उसके बाद गुनगुने पानी से बच्चे को नेहला के साफ करे बच्चे के रंग को बरकरार रखेगा साथ ही सूखेपन को भी दूर करे साबुन के इस्तेमाल की बजाये बच्चे को दूध और गुलाब जल से साफ करें। इसके आलावा आप ग्लिसरीन और क्रीम से बने baby वाश का भी इस्तेमाल कर सकते है।  
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे bete का रंग कला होते जारा है उसे गोरा करने के लिए कुछ bataye
उत्तर: बच्चे का रंग शुरुआत में जैसा रहता है उससे थोड़ा सा बदलाव देखने लगता है लेकिन इसके वजह से आपको घबराने की जरूरत नहीं है बच्चे के रंग में बदलाव तब तक होता है जब तक बच्चे बड़े नहीं हो जाते लेकिन बच्चे का वास्तविक कलर वही होता है जो मां बाप का कलर होता है इसलिए आपको किसी उपाय की जरूरत नहीं है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी का कलर बहुत डाउन है उसका कलर गोरा करने के लिए कुछ उपाय बताये
उत्तर: हेलो बेबी का कलर जींस पर डिपेंड करता है यह एक जेनेटिक फैक्टर्स है। लेकिन अगर बच्चे का रंग पहले साफ था और अब दब रहा है या डल हो रहा है तो उसके लिए आप यह कुछ उपाय कर सकती हैं। मसूर की दाल को चिकना पीस कर रख ले। इस पाउडर को दो चम्मच लें और उसमें चार चम्मच कच्चा दूध डालकर पेस्ट बनाने और इससे बच्चे के पूरे शरीर को स्क्रब करें। दो चम्मच बेसन में कच्चे आलू के रस को डालकर स्क्रब बनाएं और उसे बच्चे के स्किन को स्क्रब करे। इन दोनों सक्ब में से आप कोई भी एक स्क्रब यूज करें और बच्चे को गुनगुने पानी से नहलाने। धीरे-धीरे बच्चे का कलर वापस आने आर
»सभी उत्तरों को पढ़ें