कुछ दिनों का बच्चा

Question: मेरा बेटा अभी 7 दीन है और डॉक्टर ने कह है की उसे पीलिया हो गया है तो टेंशन बात है क्या

8 Answers
सवाल
Answer: हेलो ... आप की बेबी sirf 7 दिनों की है . आप उसका पुरा ट्रीट्मेण्ट अपने डॉक्टर की देख रेख मे ही करना चाहिए .. ऑर बेबी को पीलिया कितना है ये to डॉक्टर हो आप को thik से bata पायेङ्गे . की आप की बेबी को पूरा तिक होने मे कितना टाइम लॅग सकता है .. टॅब तक आप से रिक्वेस्ट है की आप डॉक्टर से बिना पूँछें बेबी के ऊपर कुछ भी ट्राइ ना करे . कुछ भि करने के पहले डॉक्टर को एक बार ज़रूर इन्फोर्म करे . ओके टेक केयर योर बेबी
Answer: 🙏 आंखो का पिला दिखना और शरीर भी हल्का पीला दीखना पिलीया के ही लक्षण हैं इसमें घबराने वाली बात नही है अक्सर छोटे बच्चों को यह हो जाता है। अतः आप बच्चे को स्तन पान अच्छे से कराते रहें ईसके अलावा डॉक्टर से कंसल्ट करें और कोई भी दवाई अपने मन से बच्चे को न दें।पीलीया का सही उपचार डाक्टरी सलाह से ही हो सकता है। Take care💐
Answer: tnsn na le bcho ko piliya hona normal h aap ache dr. se cnslt kre
Answer: नेही कोई बात नहीे रोज सुब्हे धूप द डॉक्टर से पूछें
Answer: आप उस घयुप में लेकर बेठ सूब के 8 टु 10 के बीच
Answer: नही कोई बात नही उसे सुब्हे की धुप देने चहिई
Answer: डॉक्टर की स्लेम ले
Answer: नहि
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा लड़का 5 दीन का हे और उसे पीलिया हो गया हे हमे बहोत टेंशन हो रही हे
उत्तर: हैलो डियर--आंखो का पिला दिखना और शरीर भी हल्का पीला दीखना पिलीया के ही लक्षण हैं इसमें घबराने वाली बात नही है अक्सर छोटे बच्चों को यह हो जाता है। अतः आप बच्चे को स्तन पान अच्छे से कराते रहें।बच्चे को हल्का धुप दीखायें। ईसके अलावा डॉक्टर से कंसल्ट करें और कोई भी दवाई अपने मन से बच्चे को न दें।पीलीया का सही उपचार डाक्टरी सलाह से ही हो सकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा 7 मान्थ सुरु हूआ हे और आज सोनोग्राफी हुई तो डॉक्टर ने kha की पानी जायदा हे तो कोई टेंशन की बात तो नही हे न
उत्तर: हेलो डियर , अगर डॉक्टर ने बताया है की पानी ज़्यादा है तो प्रेग्नेन्सी के समय पानी होना भी बहुत ज़रूरी है क्योकी इसी पानी के सहारे ही आपकी नॉर्मल डिलिवरी होती है अगर पानी नही होगा तो आपका बेबी सूख जाएगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी 4 दीन का है और उसे पीलिया हो गया हे ।
उत्तर: हेलो डियर , पीलिया होने पर सूरज की किरणे प्राकृतिक उपचार है बच्चे के शरीर पर सूरज की किरणें पड़ने पर शरीर मे बिलीरुबिन की मात्रा कम हो जाती है , बच्चो को धूप में 1 से 2 घंटे तक रखे इसके लिए बच्चे को सीधा धूप में ना लिटाये , पीलिया होने पर शिशु के शरीर मे बिलीरुबिन को मल या फिर पेशाब द्वारा निकाला जाता है , शिशु का लिवर उस वक्त कमजोर होता है जिस कारण वह अपने शरीर से बिलीरुबिन को नही निकाल पाता है , शिशु को अच्छे से ब्रेस्ट फीडिंग करा कर इसे मल या पेशाब द्वारा निकलवाया जाता है , पीलिया का शिकार होने पर बच्चे को नींद बहुत आती है इसलिए 2 से 3 घंटे के बाद स्तनपान कराते रहे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें