3 साल का बच्चा

Question: मेरा बेटा अब तक अच्छे से नही bolta h..kya karoo

5 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर, सभी बच्चे एक जैसे नहीं होते हैं कुछ जल्दी बोलने लगते हो कुछ को बोलने में बहुत समय लग जाता है अगर आपका बच्चा नहीं बोलता है आप अपनी बच्चे से ज्यादा से ज्यादा बात करने की कोशिश करें ताकि वह बोले ज्यादातर देखा गया है कि अधिक बिजी होने की वजह से भी बच्चा समय ना देने के का कारण बच्चा नहीं बोल पाता है अपने बच्चे के लिए समय निकालें अपने बच्चे से ज्यादा से ज्यादा बात करने की कोशिश करें ताकि आपका बच्चा बोले आप अपने बच्चों को दूसरे बच्चों के साथ थोड़ा खेलने बोलने का मौका दें लेकिन आप उसे अपनी देख-रेख में रखे, आपका बच्चा दूसरों बच्चे को देखकर अधिक से अधिक बोलने की कोशिश करेगा अगर आपका बेबी नहीं बोलता तो आप यह ना समझे कि आपका कमजोर है आपकी बच्चा का भी दिमाग उन्हीं बच्चों की तरह है जो ज्यादा बोलते है अपने बच्चे को जब भी कोई ना कोई कहानी स्टोरी लोरी बच्चे को सुनाएं ताकि आपका बच्चा सुनकर उसे याद करें और इसे बोलने की कोशिश करें आप अपने बच्चे को कई जानवरों की आवाज निकाल कर बताएं इससे आपके बच्चा अच्छे से जान लेगा आप प्रेरित होकर अधिक से अधिक बोलने की कोशिश करेगा लेकिन अपने बच्चे को दूसरे बच्चों के साथ बिल्कुल भी तुलना ना करें कंपेयर करने से बच्चे को दुख होगा और बच्चा एकांत हो जाएगा आपका बच्चा जो भी जैसा भी बोलता है उसे प्रोत्साहित करें उसे बोलने का मौका दें हर बच्चा अपने आप में अलग होता है
Answer: आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है कुछ बच्चे देर से बोलना शुरू करते हैं। यदि हम बच्चे से शुरुआत में विभिन्न भाषाओं में बात करते हैं जैसे अंग्रेजी हिंदी कन्नड़ तेलुगू तमिल इत्यादि तो बच्चे कंफ्यूज हो जाते हैं और ठीक प्रकार से बोलना नहीं सीख पाते हैं या फिर देर से बोलना शुरू करते हैं इसलिए जब आपका बच्चा छोटा हो और आप उसे बोलना सिखा रहे हैं तो उससे अपनी मातृभाषा में ही बात करें जिससे बच्चा जल्दी बोलने लगता है इसके बाद जब बच्चा अच्छे से बोलने लगे तब आप उसे अन्य भाषाएं भी सिखा सकते हैं लेकिन आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है आप अभी भी अपने बच्चे के साथ प्रयास कीजिए कि उससे आप अपनी मातृभाषा में बात करें और ज्यादा से ज्यादा उसे समय दें उसके साथ बातें करें खेले और उसे छोटे-छोटे शब्द बोलना सिखाए फिर धीरे-धीरे आप से लंबे सेंटेंस सिखा सकती हैं यदि 5 साल तक बच्चा अच्छे से बोलना नहीं सीखता है तब आप उसे स्पीच थेरेपी दिला सकते हैं।
Answer: hello dear अगर आपका बच्चा देर से बोलना शुरू करता है तो इससे आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि कुछ बच्चे प्राया देर से बोलना शुरू करते हैं उसके लिए कुछ उपाय अपना सकते हैं जिनसे उनकी इस कमी को पूरा किया जा सकता है। 1) अगर आपका शिशु देर से बोलना सीखता है तो आप अपने बच्चे को सिखाते वह दूसरे बच्चों का उदाहरण ना दें। 2) उसके हर प्रयास को प्रोत्साहित करें। 3) बच्चे को दूसरे बच्चों के साथ घुलने-मिलने का मौका दें इससे आपका बच्चा दूसरों के संपर्क में बोलने की कोशिश करेगा दूसरे बच्चों को देखकर उनसे सीखने की कोशिश करेगा। 4) बच्चे देर से बोलते हैं उनके लिए आपको ऐसा माहौल तैयार करना चाहिए जिससे वह अपने दिन का कुछ समय दूसरे लोगों के संपर्क में बिता सके ताकि उन्हें बोलने का भरपूर मौका मिले।
Answer: mari beti 1year ka hai ushe ear me pani bhsr gaya hai doctor ko dikhaya but abhi tak thik nehi hua hai bachi ko pain bhi hota hai .kya karu
Answer: koi baat nai kai bache let se bolte haii
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेटा अभी तक अच्छे से बैठना ऑर खुद से उठ कर बैठना नही सीखा है
उत्तर: हेलों आपका बेबी 9 महीने का है ..अच्छे से बैठ ता नही है..बच्चा कितनी जल्दी बैठेगा ये उसके sharirik विकास पर निर्भर करता है बच्चा जितना ज़्यादा ऍक्टिव होगा जल्दी बैठेगा आप बच्चे की विटामिन ई ऑयल से मालिश करे साइकल वाली एक्सर्साइज करवायें कैल्सीअम से भरपूर खाना खिलायें जैसे दूध पनीर देही egg और कुछ देर धूप में लें के ज़रूर जायें ताकि आपके बच्चे को विटामिन D मिल पाये जो हड्डियों के विकास में सहायक होता है आपका बच्चा अगर बैठना चाहें तो उसकी हेल्प करे बच्चे को समय से प्रॉपर फीड करवाये ताकि बच्चे को पोषण की कमी ना हो .ho.एक बात का ध्यान रखें की अपने bacche को केवल थोड़े देर के लिए ही बैठाएं। ज्यादा देर तक बैठाने से बच्चे के कमर में खीचाव हो सकता है और बच्चे को तकलीफ़ हो सकती है आप बच्चे को कैल्सीअम और विटामिन डी सप्लीमेंट्स डॉक्टर की सलाह ले कर दे सकते है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 19 महीने का हो गया ह अच्छे से नही बोल रहा ह कब तक अच्छे से बोलेगा 2
उत्तर: हेलों आप का बेबी 19 महीने का है . क्या आपका बच्चा मम्मी पापा यह छोटे छोटे शब्द बोल पाता है ? अपने नाम पर react करता है ? आपकी बातों को समझ पाता है .? आप उसे कोई काम बोले तो वह उसे करता है? आई कांटेक्ट करता है ? इशारों में अपनी बात समझा पाता है ? यदि आप का बच्चा के साथ काम करता है तो आप परेशान ना हो. कुछ बच्चे लेट बोलते हैं . सबसे पहले आप बच्चे का मोबाइल और टीवी बंद करें . बच्चा चाहे जितना रोई या चिल्लाए मोबाइल से इसे दूर रखें .मोबाइल और टी.वी. के यूज़ से बच्चे बोलने में अपना एफ्फोर्ट लगाना कम कर dete है आपके घर के सभी सदस्य मोबाइल और टी.वी. बच्चे के सामने यूज़ ना करे आप बच्चे से जितना बात कर सकती है करे और घर के सभी लोगों को भी ऐसा करने को कहिए बच्चे के साथ खेलिये उसके फ्रेंड बनिये बच्चे को outdoor ले के जायें नयी नयी चीज़ों में उसका इंटरेस्ट लायें कोशिश करे आपके बच्चे को और बच्चों का खेलने के लिए साथ मिलें बच्चे बच्चों के साथ ज़्यादा कम्फर्टेबल होते है उनके साथ जल्दी सिखते है .बच्चे से बात करने के दौरान उन्हें कुछ शब्द दोहराने के लिए कहें। उन शब्दों पर ज्यादा ध्यान दें, जिनका इस्तेमाल आप सबसे ज्यादा करते हैं। आप इन शब्दों को उनके बेडटाइम स्टोरी में भी शामिल करके बच्चे को बोलना सिखा सकते हैं।आप उन्हें खाना खिलाते, नहलाते और सुलाते समय कुछ सुना सकते हैंlअपने बच्चे के सामने अपने घर की हर चीज का नाम लें। साथ ही अपने सगे-संबंधियों के नाम को भी दोहराएं। अगर आपका बच्चा हो ऊपर दी हुई चीजें नहीं कर रहा है तो एक बार जरूर डॉक्टर से सलाह ले ले .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 1 सेल 4 महीने का और वो अभी तक bolta नही h
उत्तर: कई बच्चे लेट से क्लियर बोलना शुरू करते हैं आप अपने बच्चे से खूब बात किया किजिय और उन्हें प्रोतसहित किया किजिय आप बच्चे को दूसरे बच्चों के साथ खलने दिया किजिय...बच्चे 2...2 साल से छोटे छोटे वर्ड्ज बोलना शुरू कर देते हैं.. धीरे धीरे साफ बोलने लगते हैं....आप उन्हें इशारे दिखाइए जैस Tata करना सिखाइए और Tata बोलना सिखाइए इस तरह से बच्चे धीरे-धीरे ही सीखते हैं आप उनसे जितना बात करेंगे बच्चे सुन सुन कर उसे दोहराने की कोशिश करते हैं आप घबराइए नहीं धीरे-धीरे वह भी सीख जाएंगे अगर आपको ऐसा लगता है कि आपके बच्चे लेट से बोल raha है तो आप स्पीच थेरेपिस्ट के पास मिल सकती hai लेकिन बेबी अभी बहुत छोटा है उसे थोड़ा टाइम दीजिए ....
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा अब तक घुटने के बल नही चला
उत्तर: बहुत से बच्चे 6-10 महीने में घुटनों के बल चलना शुरु कर देते हैं। लेकिन अगर आपका बच्चा इससे बड़ा है और वो घुटनों के बल नहीं चल पाता है तो परेशान होने की जरुरत नहीं है। बच्चे का वजन ज्यादा होने की वजह से ऐसा नहीं कर पाता है। जिन बच्चों का वजन ज्यादा होता है उनको घुटनों के बल चलने में थोड़ी दिक्कत होती है। लेकिन अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखें तो आप अपने बच्चे को खुद घुटनों के बल चलाना सिखा सकते हैं। ☰ बच्चे को घुटने के बल चलना सिखाने के लिए आजमाएं ये टिप्स बच्चों को घुटने के बल चलना सिखाने से पहले कई चीजों को ध्यान में रखना चाहिए ताकि बच्चे को कोई परेशानी ना हो। बच्चे का वजन ज्यादा होने की वजह से कई बार उसे घुटनों के बल चलना सीखने में वक्त लगता हैं। BY: DIKSHA CHHABRA |   Jul 10, 2017 11:14 am NEXT  बहुत से बच्चे 6-10 महीने में घुटनों के बल चलना शुरु कर देते हैं। लेकिन अगर आपका बच्चा इससे बड़ा है और वो घुटनों के बल नहीं चल पाता है तो परेशान होने की जरुरत नहीं है। बच्चे का वजन ज्यादा होने की वजह से ऐसा नहीं कर पाता है। जिन बच्चों का वजन ज्यादा होता है उनको घुटनों के बल चलने में थोड़ी दिक्कत होती है। लेकिन अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखें तो आप अपने बच्चे को खुद घुटनों के बल चलाना सिखा सकते हैं। तो आइए आपको कुछ तरीके बताते हैं जो आपको घुटनो के बल चलने में मदद करेंगे। [ये भी पढ़ें: बच्चे के लिए क्यों जरूरी है एवोकाडो का सेवन] 1- बच्चे को पेट के बल लेटने की आदत डालवाएं:  बच्चों को पेट के बल लेटकर खेलने में मजा आता है। उन्हें फर्श पर पेट के बल लेटाने से उन्हें हाथ और गर्दन की मांसपेशियां विकसित होती हैं। आप इसे थोड़ी-थोड़ी देर के लिए करते रहना चाहिए। जैसे ही बच्चा 4 महीने का होता है तब से वह अपना सिर घुमाना शुरु कर देता है जिससे वह अपने शरीर पर कंट्रोल करने लगता है और घुटनों के बल चलने के लिए तैयार होता है। 2-बच्चे को बिठाएं ताकि उसकी कमर मजबूत हो सके:  जब तक आपका बच्चा बैठना ना सीखे आपको उसकी मदद करनी चाहिए। लेकिन जब तक वह अपने आप बैठना ना सीखे तब उसके सिर और पीठ पर हाथ रखें ताकि बच्चे को सीधा रहने और घुटनों के बल चलते समय सिर ऊपर रखने में मदद मिले। इसके लिए आप अपने बच्चे को सिर के ऊपर कुछ दिखाएं ताकि जब वह ऊपर की तरफ देखे। इससे सिर, कमर और कंधों की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद मिलती है।[ये भी पढ़ें: रोते हुए बच्चों को चुप कराने के लिए आजमाएं ये टिप्स] 3-एक सुरक्षित स्थान ढूंढे:आपके बच्चे को घुटनों के बल चलाना एक सुरक्षित और कोमल जगह से शुरु करें। क्योंकि अगर जगह बच्चे के लिए सहज नहीं होगी तो उसे चलने में दिक्कत होगी। आप फर्श पर कोई मुलायम कारपेट बिछा सकते हैं, जिससे बच्चे को कोई परेशानी ना हो। 4-ध्यान से बच्चे को पीठ के बल फर्श पर लेटाएं:आपका बच्चा जब खुश हो तो आराम से उसे पीठ के बल फर्श पर लेटाएं। कम से कम 10-15 मिनट तक बच्चे को पीठ के बल लेटे रहने दें। जब तक वह आराम महसूस करने लगे। 5-बच्चे को पेट के बल घुमाएं:अगर आपका बच्चा घुमते हुए सहज महसूस करता है तो उसे ऐसा करने दें। आप उसकी मदद करके उसे पेट के बल लेटा दें। वह अपने हाथ और सिर को सपोर्ट खुद करेगा। जैसे ही वह हाथ और सिर को सपोर्ट करे तो उसके सिर को ऊपर की तरफ करें। 6- बच्चे का कोई खिलौना उससे थोड़ा दूर रख दें:आप अपने बच्चे को खिलौने के पास जाने के लिए प्रोत्साहित करें और उसे आगे चलने में मदद करें। इससे आपका बच्चा घुटनों के बल चलने की कोशिश करेगा। मगर ध्यान रहे खिलौना ज्यादा दूर ना रखें। इससे बच्चे को परेशानी हो सकती है। 7-बच्चे के साथ घुटनों के बल चलें:बच्चे को आपकी तरफ घुटनों के बल चलकर आने की बजाय आप बच्चे के साथ घुटनों के बल चलें। आप और आपका बच्चा दोनों खिलौने की तरफ घुटनों के बल चलकर जा सकते हैं। ऐसा करने से आपका बच्चा घुटनों के बल चलने के लिए प्रोत्साहित होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें