14 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरा बी.पी. 98/60 है कोई प्रॉब्लम तो नही है ना मेरे बेबी को ?

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर जहाँ तक मुझे पता है की 98/60 bp होने पर आपका बी पी लो होता है।यदि आपका बीपी लो है तो अपने डॉक्टर को सूचित करें और दवा के लिए उससे परामर्श लें। लेकिन कई महिलाएं दवा के बजाय घरेलू उपचार पर भरोसा करती हैं। यहां कुछ उपचार आपकी मदद करेंगे --- कम बीपी में हम बहुत आलसी महसूस करते हैं इसलिए बाकी बहुत जरूरी है। बाईं तरफ लेटने से हृदय में रक्त प्रवाह में वृद्धि हो सकती है जो शरीर को स्थिर करने में मदद कर सकती है। ढीले फिटिंग कपड़े पहनने से चक्कर आना और थकान से बचने में मदद मिल सकती है। अगर लो बी पी मतली पैदा कर रहा है, गर्म हर्बल चाय मदद कर सक्ती है। आप एक कप कॉफी भी पी सक्ती हैं। गर्भावस्था के दौरान एक विविध और पोषक तत्व युक्त आहार विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। नियमित रूप से चेकअप कराए और डॉक्टर की निगरानी मे रहें।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बी.पी. 90/60 है तो कोई प्रोबल नही ना होगा
उत्तर: अगर आपका BP कम है तो हो सकता है आपको चक्कर आ सकते हैं ,वोमिट फील हो सकता है आपके पैरों में आपकी बॉडी में सूजन आ सकती है आपको बहुत जल्दी थकान महसूस होगी इससे बेहतर है कि आप अपना bp लो ना होने दें अपने खाने का पूरा ध्यान रखें जहां तक संभव हो पौष्टिक आहार खाएं बीपी को सामान्य रखने के लिए मैं आपको कुछ सलाह देना चाहती हूं आप सुबह शाम अपने पार्टनर के साथ टहलने जाएं, पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लें तीनो टाइम भोजन करें बीपी को कंट्रोल करने वाले तत्व जैसे लहसुन आदि का प्रयोग करें खुश रहें पूरी नींद लें और दिमाग को शांत करने के लिए ध्यान लगाएं गर्भवती महिला को नियमित रूप से अपना ब्लड प्रेशर चेक करते रहना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बी.पी. 60/90 है लो बी.पी. है टु क्या कर्ण चाहिए इसे बेबी को टु प्रॉब्लम नही होगी
उत्तर: बी.पी. कम है बट प्रेग्नेन्सी मे हाई बी.पी. रिस्की होता है ,आप नमक खाया करो और आपने डॉक्टर से कन्सल्ट करो
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बेबी को मोशन चार दीन बाद होते है कोई प्रॉब्लम तो नही होगी ना isse
उत्तर: एक नवजात शिशु अपना पहला मल पैदा होने के 24 घंटे भीतर निकाल देता है। लकिन कुछ बच्चे जो की कब्ज से ग्रस्त होते है उन्हें यह काम करने में तकलीफ होती है। उनमे या तो मल सूखा हो सकता है या रुक रुक कर आ सकता है या उनका मल कठोर हो सकता है। जिसको की आसानी से है निकाला जा सकता है। कभी कभी जब भी आप किसी अभिभावक को रोते हुए बच्चे के साथ देखे जिसे की बहुत ही असुविधा हो रही हो तो आप यह मान सकते हैं की बच्चे को कोलिक हुआ है। पर जबकि कोलिक एक आम अस्थायी दशा है , शिशुओ में गंभीर कब्ज की शिकातय एक गंभीर समस्या हो सकती है।मल निकालने में बहुत ताकत लगानी पड़ती है जिसमे की वे अपने पैर अपने पेट की तरफ ले आते हैं और यह काम करते वक्त उनका चेहरा लाल हो जाता है। सबसे बदतर दशा में एक सख्त मल को निकालते वक्त बच्चे के मलाशय की दीवार फट सकती है। जिसकी वजह से कभी कभी खून निकल सकता है। यह लक्षण अभिभावकों के लिए चिंता की बात है और बच्चे के लिए भी बहुत दुःख की बात है ।नए पैदा हुए शिशुओ में कब्ज से निपटने के लिए यहाँ कुछ सुझाव दिए हैं :गर्म पानी के अंदर बच्चे के पेट की मालिश करने से भी बच्चे की अंत उत्तेजित हो जाती है  और मल निकालने में आसानी हो जाती है जिसकी वजह से उसे कब्ज से राहत मिल जाती है।अगर बच्चे को बोतल से दूध पिलाया जाए तो ऐसा हो सकता है की वह ब्रांड उसके पाचन तंत्र के लिए सही न हो तो इसलिए अलग अलग उद्योग के दूध पिलाए जा सकते हैं ताकि उसके लिए सबसे बेहतर दूध मिल सके।
»सभी उत्तरों को पढ़ें