12 महीने का बच्चा

Question: मेरा बच्चा 1 साल का हो गया रोग कुछ खाता पीता भी नहीं है वजन भी बहुत कम ह

1 Answers
सवाल
Answer: डियर ...बच्चे को खिलाते समय उन्हें कहानिया सुनाएँ, उनसे बातें करें...बच्चे का टाइम टेबल बनाएं, उन्हें किसी भी टाइम न खिलाने लग जाएँ ..bcche k sath jabरदस्ती न करें, यदि उनका मन नहीं हैं तो थोड़ी देर बाद खिलाएं...baby.के लिए उनका मनपसंद खाना बनाएं, जो की हेल्थी भी ho...baby के लिए खाने में रंगीन सब्जियों का इस्तेमाल करें, जिसे देखकर बच्चा खुश हो जाएँ ..बच्चो को थोड़ी-थोड़ी देर बाद की बजाय उनके मांगने पर खिलाएं ऐसे में बच्चा आराम से खा सकेगा, परंतु यदि बच्चा अपने आप नहीं मांगता हैं तो आप उसे खिलाएं....बच्चों के साथ खेलें, जिससे उनका शरीर थकेगा और उन्हें भूख लगेगी... ओके
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बच्चा कुछ खाता पीता नहीं है 6 साल का है बहुत कमजोर है
उत्तर: हेलो डियर बेबी जैसे जैसे बड़े होने लगते हैं वैसे वैसे उनका ज्यादा से ज्यादा वक्त खेलने में गुजर जाता है इसी वजह से वह खाने पर अच्छे से ध्यान नहीं दे पाते इसके लिए आपको बेबी को केले खिलाने चाहिए ड्राई फ्रूट्स के पाउडर बनाकर दूध में मिलाकर पिलानी चाहिए उबले हुए आलू खिलाने चाहिए आलू पराठे खिलानी चाहिए हरी सब्जियां खिलानी चाहिए सभी फल खिलानी चाहिए फ्रूट जूस पिलाने चाहिए इससे बेबी का वजन बढ़ेगा और आपको बेबी को खेलते वक्त खिलाना चाहिए क्योंकि अक्सर खेलते हुए बेबी अच्छे से खाना खाते हैं अपना और बेबी का ख्याल रखना
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा डेढ़ साल का है और यह खाना बहुत कम खाता है दूध भी नहीं पीता
उत्तर: हेलों आप का बच्चा डेढ़ साल का है खाना नहीं खाता है दूध भी नहीं पीता है तो बेहतर हो गा आप डॉक्टर की सलाह ले कर जीन्क और भी कंपलेक्स सप्लीमें ट अपने बच्चे को लेकर दें ं ं ं ं ं ं ं जिनके बच्चे की ग्रोथ में सहायक है भी कांप्लेक्स से आपके बच्चे का पाचन सही होगा और उसे भूख लेगी बच्चे का विकास तभी होता है जब बच्चा खानपान के साथ -साथ एक ्टिव भी रहे आप अपने बच्चे को थोड़ी थोड़ी देर में खाना खिलाए बहुत ज्या दा खाना एक साथ नहीं खिलाए कभी भी बच्चे को खाने के लिए फोर्स नहीं करें नहीं तो बच्चे की खाने के प्रति रुचि कम होती जाती है आप अपने बच्चे को भूख का एहसास होने दे अपने बच्चे के टेस्ट को जाने बच्चे को क्या पसंद है उसी के हिसाब से अलग -अलग वैरायटी के खाना बनाकर उसको दे .आप खाने में सब चीज दे सकते हैं लेकिन वह पौष्टिक हो तो बच्चे का विकास अच्छे से होता है| जैसे अगर आप बच्चे को सुबह के नाश्ते में सैंडविच और एक गिलास दूध दलिया सूजी का हलवा आलू पराठा और दही मूंग दाल का चीला और दही और कहा यह सब अलग-अलग दिन ों में आप दे सकते हैं। किसी प्रकार दोपहर के खाने में मूंग दाल की खिचड़ी मटर गाजर की सब्जी और रोटी पांच दालों की बनी हुई खिचड़ी वेज पुलाव और रायता राजमा और राइस पुलाव और पनीर की सब्जी पौष्टिक दाल और सब्जियों की खिचड़ी दे सकते हैं। शाम के नाश्ते में अगर आप बच्चे को हर रोज अलग अलग आइटम जैसे एक केला दूसरे दिन एक संतरा एक से एक सेब एक अमरुद नाशपति और कुछ अंगूर दे सकते हैं।इसी प्रकार रात के खाने में एक कटोरी दाल और रोटी पनीर की सब्जी और रोटी भिंडी की सब्जी और मूंग दाल के साथ राइस या कुछ भी ले सकते हैं।कुछ ऐसी चीजें हैं जो बच्चे के वजन को बढ़ाने में सहायक होते हैं जैसे काजू और बादाम इन्हें बच्चे के खाने में हर रोज शामिल करें दूध के साथ आप बच्चे को काजू और बादाम दे सकते हैं|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा 2 साल का है अभी खाना भी नहीं खाता और दूध भी नहीं पीता
उत्तर: हेलो बच्चे को खाना खिलाने के लिए उनकी मनपसन्द शेप, या खाने के उपर किसी प्रकार का डिजाइन या डिफरेंट डिजाइन के बाउल में खाना परोस सकती हैँ। इससे यकीनन बच्चे खाने की तरफ आकर्षित होंगे। बच्चे के लिए खाना बनाते समय एक बार में दो से ज्यादा टेस्ट मिक्स न करेँ। आप अपने बच्चे की ईटिंग हैबिट्स को ध्यान में रखकर एक बार में मीठा और चरपरा या मीठा और नमकीन टेस्ट सर्व कर सकती हैँ। बच्चे को दिन में तीन बार खाने की आदत जरूर डालें। उसके खाने में हैल्दी स्नैक्स जरूर दें। जब बच्चा दिन में तीन बार खाना शुरू करेंगा तो यहीं उसकी आदत बन जाएगी और उसे भूख भी अधिक लगेगी।  बच्चे हर बार एक ही तरह का खाना खाकर ऊब जाते हैं इसलिए हमेशा उनके खाने में बदलाव करते रहे लेकिन ध्यान रखें कि खाना स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा भी होनी चाहिए। बच्चों को कभी भी एक-साथ ज्यादा खाना न दें। उन्हें पहले खाने की थोड़ी मात्रा दें। ऐसा करने से उनकी भूख भी बढ़ेगी और वह खाने से बोर भी नहीं होगे बच्चे को जब भूख लगे, तभी उसे खाना खिलाएं। इसके अलावा अगर भूध लगने पर खाना नहीं खाता तो उसे फल, हैल्दी सूप, जूस खाने को दे बच्चों को पहले ही उतना खाने को दो, जितना वह खा सकें। जबरदस्ती खूब सारा ना खिलाएं  
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा 1 साल का हो गया है बट वो बहुत बीमार रहता है कुछ खाता भी नहीं है ऊपर का दूध को नहीं पीता सिर्फ मेरा ही पिता है क्या मैं उसे मसाला ओट्स खिला सकती हूं
उत्तर: हेलो अगर आपका बेबी मसाला बहुत खा लेता है तो आप उसे जरूर खिलाएं लेकिन इसके साथ-साथ का बेबी को बाकी सारी डाइट भी दे जब तक बच्चा सही डाइट नहीं लेगा उसकी इम्यूनिटी पावर स्ट्रांग में होगी और वह बार-बार बीमार पड़ेगा आप 1 साल के बच्चे को यह डाइट दे बच्चे को सुबह उठने के बाद सबसे पहले आप ब्रेस्टफीड कराएं या दूध पिलाएं बच्चे को नाश्ते में आलू पराठा ,बेसन का चीला सूजी का उपमा , खीर, आटे का हलवा, सूजी का हलवा ,अंडा ,सैंडविच, मीठा या नमकीन दलिया इनमें से कोई एक से जो आप बना सके या जो आपका बच्चा खा सके आप बच्चे को दे सकते हैं। दोपहर के खाने से पहले आप बच्चे को फल जैसे अंगूर ,केला, एप्पल ,पपाया या उबले हुए गाजर की स्मूदीज बिस्कीट मैं से कोई चीज आप बच्चे को दे सकते हैं। दोपहर के खाने में दाल चावल ,हरी सब्जी ,पुलाव रायता, दही चावल ,कढ़ी चावल ,या रोटी दाल में से कोई एक चीज जो बच्चा खाएं आप खिला सकते हैं। शाम को आप ब्रेस्टफीड कराएं और बच्चे को कुछ बिस्किट खिला सकते हैं रात के खाने में दाल रोटी, दूध रोटी छोटा सा आलू पराठा, मसूर दाल की खिचड़ी ,गोभी मटर की सब्जी, लौकी की सब्जी ,डोसा सांभर ,पनीर का पराठा , इनमे से जो आपका बच्चा खा ले आप खिला सकती हैं सोने से पहले आप बच्चे को ब्रेस्टफीड जरूर कराएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें