7 महीने का बच्चा

Question: मेरा बच्चा बॉटल से दूध नही पिता है क्या करे

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर बेबी को बोतल से दूध पिलाना नहीं चाहिए क्योंकि प्लास्टिक के बोतल जब गर्म दूध के संपर्क में आता है तो उससे कुछ रसायन उत्पन्न होते हैं जो की बेबी के लिए हानिकारक होता है जिसे बेबी को उल्टी और दस्त जैसी प्रॉब्लम हो सकती है इसलिए आप कोशिश करें कि बेबी को कटोरी चम्मच से ही दूध पिलाना चाहिए
Answer: hello डियर अगर आपका बच्चा बोतल से दूध नहीं पी रहा है तो आप उसे कटोरी चम्मच या छोटे से गिलास से दूध पिलाने की कोशिश कर सकते हैं अगर बच्चा मां का दूध पिए तो यह बच्चे के लिए और भी अच्छा होगा बीच बीच में आप बच्चे को बाटल से दूध पिलाने की कोशिश करते रहे हो सकता है बच्चा बोतल से दूध पीने लगे।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बच्चा बॉटल से दूध नहींं पिता है तभी वो पूरे दिन भुका रहता है सही से पेट नही भरत है उसका क्या करूं
उत्तर: हेलो डियर वैसे भी बेबी को बोतल से दूध नहीं पिलाना चाहिए क्योंकि बोतल से दूध पिलाना बच्चे के लिए हानिका रक हो सकता है इसलिए आप अपने बेबी को कटोरी चम्मच से दूध पिला सकते हैं और आप अपने बेबी को दूध के अलावा सॉलि़ड फूड भी दें ं ं सकते हैं जैसे के दाल पानी गाये का दूध और भी तरल पदार्थ जैसे की सेब की पीउृइ या जूस अंगूर जूस चावल का सुप गाजर चुकन्दर का जुस बच्चे के टेस्ट के अनुसार दे सकते है आलु का सुप और दलिया उसमें टमाटर पालक और भी कुछ कुछ सब ्जी डालकर बना लें फिर उन सब को चन्कर पतला बना लें जिसको बच्चा आसानी से घुतक सकें चवाल और दाल को पतला पीस् कर भी पीला सकते है केले और दूध का सेक भी दे सकते है ये आपके बच्चे के विकास में भूत फ़यदेम्नद होंगे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा दूध कम ह्हो गया है बच्चा bottle से नही पिता चम्मच से भी नही पिता
उत्तर: मां का दूध बच्चों के लिए बहुत ज्यादा जरूरत होती है मां के दूध में इतने सारे विटामिंस होते हैं कि बच्चों को किसी और चीज की जरूरत नहीं होती आप कुछ घरेलू उपाय करके अपना dudh badha सकती हैं खजूर ,खोपरा ,मक्खन, दूध, घी खाने से और मक्खन और मिश्री एक साथ खाने से बहुत ज्यादा मात्रा में दूध बनता है अगर आप गाय के दूध में चावल को पकाकर खाती है तो इससे भी दूध काफी ज्यादा मात्रा में आता है अरंडी के पत्ते को पानी में उबालकर उस पानी को स्तन पर डाले और उसके सूखे हुए पत्तों को स्तनों पर लगाने से भी बहुत काफी ज्यादा मात्रा में आता है सफेद जीरा ,सौंफ और मिश्री को समान मात्रा में लेकर इसे पीसकर चूर्ण बनाकर रख लें और रोज एक चम्मच दूध के साथ खाने से भी दूध का उत्पादन बहुत ज्यादा मात्रा में होता है अगर आप पका हुआ पपीता या कच्चा पपीता का भी सेवन करते हैं तो इससे भी काफी ज्यादा मात्रा में दूध बनता है और खून की कमी की पूर्ति होती है आप अंगूर के रस का भी उपयोग कर सकते हैं यह भी दूध उत्पादन के लिए उपयोगी माने जाते हैं मुनक्के को भी दूध में उबालकर इसे खाने से फायदेमंद रहता है आप गाजर को सब्जी में या फिर गाजर के रस का उपयोग कर सकते हैं यह भी बहुत उपयोगी होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बाबु ऊपर का दूध नहीं पिता वो सिर्फ मेरा दूध पिता है तो क्या करें
उत्तर: हेलों बच्चा आप का 8 महीने का है एक साल होने से पहले बच्चे को केवल मां का दूध या फॉर्मूला दूध देना चाहिए बाहरी और कोई भी दूध नहीं देना चाहिए . आप एक बार फार्मूला दूध देकर ट्राई करें ..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा कभी कभी दूध नही पिता है क्या करे
उत्तर: हेलो डियर अगर आपका बेबी कभी कभी दूध नही पीता है तो आप परेशान ना हो ।आपका बेबी अब 6 मंथ का हो चुका है ।आप उसे सॉलिड फूड़ खिला सकती है ।अगर आप बेबी को हर 2 घन्टे मे कुछ कुछ खाने को देती हैं तो बेबी का वजन भी बढ़ेगा और बेबी का विकास भी होगा। आप दिन में 3 बार भोजन दे सकती हैं जिसे अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए। 8-- बजे - बीएम / एफएम सुबह 9 बजे रावा इडली , ओट्स रागी डोसा, सूजी खीर, केला, दलिया, पेन्केक सेब प्यूरी (कोई भी एक) सुबह 11बजे-- बीएम / एफएम 12बजे-- मसला हुआ केला, दही, 1बजे-- Khichdi, आलू और गाजर Khichdi, दही चावल, रागी दलिया, veggie के साथ suji upma 3बजे-- बीएम / एफएम 5बजे--कोई नरम फल, दही, उबले हुए आलू, सेब प्युरी 7बजे-- उत्तम, सूजी खीर, चावल के साथ मूंग दाल, कच्चे केले का दलिया, जौ अनाज, गेहूं अनाज दलिया। अन्य खाद्य पदार्थ जो आप 6 महीने के baby को खिला सकती हैं। रागी या बाजरा दलिया, रागी खीर, दाल पानी, चावल का पानी, ऐप्पल और केला, ऐप्पल प्यूरी, चिकू प्यूरी, कद्दू प्यूरी, गाजर प्यूरी, ब्रोकोली प्यूरी, आलू मैश, मीठे आलू प्यूरी, आलू और गाजर के साथ दलिया दलिया सूप, वेगी खिची, एवोकैडो प्यूरी, सब्जियों के सूप, मखाना खीर पपीता प्यूरी, तरबूज, ऐप्पल खीर, सूजी और केले दलिया। आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें