3 महीने का बच्चा

Question: मेरा बचचा 50 दिन का ओर रात का रोता झहादा है

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर छोटे बच्चे होते हैं और अपनी प्रॉब्लम बता भी नहीं पाते हैं इसलिए मां-बाप को बहुत चिंता करनी पड़ती है कि मेरा बच्चा क्यों रो रहा है मेरा बच्चा भी बचपन में बहुत रोता था और मुझे भी समझ में नहीं आता था कि आप कि वह क्यों रो रहा है मुझे किसी ने बताया था बच्चे दो या तीन कारण की वजह से होते हैं 1-बच्चों के रोने का पहला कारण होता है कि बच्चों का पेट ना भरा होना अगर मां का दूध सही से नहीं आ पा रहा होता है तो बच्चों का पेट नहीं भर पाता है इसलिए बच्चे के कीड़े हो जाते हैं और रोना शुरू कर देते हैं इसलिए आप इस बात का खास ख्याल रखें कि आपके बच्चे काफी बड़ा है या नहीं अगर आप का बहुत सही से नहीं आ रहा है कि आप खानपान में बदलाव करें दूध और दूध से बनी चीजों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें खाने में हरी सब्जी फलों का सेवन भरपूर मात्रा में करें खाने में भरपूर मात्रा में जीरे का इस्तेमाल करें रात को सोते समय एक गिलास पानी में पिसा जीरा डालकर उसका सेवन करें उससे आप का दूध काफी सही हो जाएगा 2-दूसरा हम इस बात का ध्यान देना होता है कि बच्चे को पेट में दर्द तो नहीं है छोटे बच्चे को बहुत जल्दी पेट में दर्द हो जाता है इस वजह से बच्ची रोना शुरू कर देते हैं अगर आपको ऐसा लगे तो आप अपने बच्चे के पेट में हाथ लगाकर हल्का सा दबाए नाभि की तरफ अगर वो और ज्यादा रोए तो समझ जाना कि आपके बच्चे को पेट में दर्द है पेट के दर्द के लिए आप उसकी नाभि के के चारो और हींग का लेप लगाएं ध्यान रहे हैं उसकी नाभि के ना लगे ऐसा करने से उसको काफी राहत मिलेगी आप उसकी एक्सरसाइज भी करवा सकते हैं उसे भी पेट की गैस निकल जाती है और रात मिल जाती है 3-तीसरा हमें इस बात का ध्यान देना चाहिए कि हम अपने बच्चे को जरूर से ज्यादा गर्म कपड़े तो नहीं पहना रहे हैं अगर हम अपने बच्चे को जरूरत से ज़्यादा कपड़े पहनने से भी बेबी रोते है इसबात का ध्यान दें इन सब बातों का ध्यान दे बच्चे के रोने में काफी फर्क पड़ जाएगा
Answer: हेलो डियर, बच्चे रात में ज्यादातर या तो भूखे होते हैं इस वजह से रोते हैं या उनके शरीर में दर्द होता है 90% बच्चों का यही कारण होता है कभी-कभार बच्चे और किसी वजह से रोए बट ज्यादातर यही दो कारण होते हैंl *सोने से पहले उसके अच्छे से मसाज कर दीजिए कई बच्चों के हाथ पैर बहुत दर्द होते इस वजह से भी रोते हैंl *ज्यादातर बच्चे रात में भूखे होने की वजह से होते हैं इसलिए आप दो-तीन दिन से ट्राई करिए रात में एक या दो बार उसे कुछ खिलाकर फिर सुलाइएl
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बचचा रात को बहुत रोता है पेट भर जाने पर भी सोता नही है
उत्तर: छोटे बच्चे का रोना समझ नहीं आता इसलिए माँ बहुत परेशां रहती है लेकिन ये कोई चिटा जिनबाट नहीं होती है इसमें सिर्फ बच्चे को समझाना होता है कि उसे किसमिस टाइम में क्या चहिये अगर हम समझ नहीं पते और नहीं कर पते तो बच्चे रोने लगता है जीसे किनगर बच्चे को बहुत भूल लगी हो आपके दूध पिलाने के बाद भी बच्चे रट है क्युकी ऐसे में उनका पेट तो भर ज्यादा है लेकिन उनका सटिस्फैक्शन नहीं होता उनमे एक सटिस्फैक्शन होता है सकिंग का जो पूरा भी होने से रोने लगते है कभी कभी रात में बच्चे को अचनाक ठंडी या बहुत गर्मी के वजह से रट है वो बताना चाहते है कि उन्हें गरमृ लगी है या फिर ठंडी लगती है टाब कभी कभी पेट में दर्द रहने से भी बच्चे रोने लगते है और कभी कभी तो बच्चे को आपका ध्यान कस हैबिट्स रहता है वो चाहते है कि आपको उनको स्पर्श करे और उनके सामने हो कभी कभी उनके कान में खुजली होने के कारन रट है ये सब का ध्यान दे बच्चे को क्या चाहिए और समझने कि कोसिस करे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा 28 दिन का है रात को बहुत रोता है क्या करें
उत्तर: छोटे बच्चों के रोने या रात में नही सोने की कई कारण हो सकते हैं जैसे उनके पेट में दरद, सर्दी, या गैस।कई बार छोटे बच्चे भूख लगने पर भी रोते हैंकहीं बच्चे के पेट में दर्द तो नहीं।कभी-कभी बच्चे भूखे रहते हैं तब भी वो बार बार उठते हैं रोते हैं।उन्हें ज्यादा ठंडी या गर्मी लगे तब भी वह ठिक से नही सो पातेे हैं क्योंकि वह बता तो नहीं पाते कभी-कभी बच्चे थकावट की वजह से भी निंद नही आती तो उन्हें मालिश कर देनी चाहिए जिससे उन्हें अच्छी निंद आय आपको परेशान होने के बजाए धैर्य के साथ यह पता करने की कोशिश करनी चाहीये कि आखीर बच्चे के रोने कि वजह क्या है।क ई बार समझ ही नही आता तब आप को डाक्टर को दीखाना चाहीये।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बचा 51 दिन का है वो पुरी रात रोता है सोता नही रात में बिल्कुल भि मैं kyA करु
उत्तर: हेलो डियर छोटे बच्चे इसलिए रोते हैं क्योंकि उनका पेट अच्छे से नहीं भर पाता और भूख के वजह से बेबी चिड़चिड़ाte या रोते हैं इसलिए आप बेबी कोअच्छे से दूध पिलाएं हर 2 घंटे में बेबी को दूध पिलाएं और कम से कम 10 से 15 मिनट तक बेबी को दूध पिलाएंक्योंकि अक्सर ऐसा होता है कि बेबी दूध पीते पीते ही सो जाते हैं और वह पेट भर दूध नहीं पी पाते और उनको नींद लग जाती है मगर जब उठते हैं तो उनके पेट में बहुत भूख होती है इस वजह से वह रोते हुए उठते हैंइसलिए आप बेबी को दूध पिलाते समय ध्यान दें कि जैसे ही आपका बेबी सोने को करें आप बेबी को बीच-बीच में उसके गाल में अपने उंगलियों को टच करके उठाएं और उस को दूध पिलाएं यदि बेबी 3 घंटे लगातार हो रहा है तो भी आप बीच में बेबी को उठा-उठाकर दूध पिलाते रहेंरात में भी बेबी को दूध पिलाएं हर 2 घंटे मेंया फिर हो सकता है कि बेबी थकान की वजह से नहीं सो रहा हो इसलिए आप बेबी को रेगुलर दिन में दो से तीन बार अच्छे से मालिश करेमालिश करने से बेबी का शारीरिक विकास भी अच्छा होगा हड्डियां मजबूत होंगी और बेबी को आराम मिलने से वह अच्छे से सोएगा भी या फिर बेबी गैस की प्रॉब्लम या पेट में दर्द होने की वजह से भी रोते हैं इसलिए डॉक्टर से सलाह लें
»सभी उत्तरों को पढ़ें