Planning for pregnancy

Question: मेरा पिछली डेट 24 जनवरी को आयी थी | अब मेरे कमर में दर्द हो रहा है और पेरो में भी क्या ये प्रेग्नेन्सी के लक्षण हो सकते है

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear जी हां यह सब गर्भावस्था के लक्षण है अगर आपने ओवाल्युशन डे में संबंध बनाया है तो आप की गर्भवती होने के चांसेस अधिक हैं पर आपको आपके पीरियड डेट मिस होने के 8 से 10 दिन बाद सुबह के पहले यूरिन से प्रेगनेंसी टेस्ट करके देखना चाहिए उसके बाद आप का रिपोर्ट पॉजिटिव या नेगेटिव आपको एक बार डॉक्टर से कंसल्ट कर लेना चाहिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेम मेरा डेट 24 जनवरी को आया था | अब मेरे कमर और पैर में दर्द हो रहा है और मुझे कब्ज़ की भी प्रॉब्लम हो ग्यी है | क्या ये प्रेग्नेन्सी के लक्षण हो सकते है लेकिन मुझे उलटी की प्रॉब्लम नही है | प्लीज़ कोई बताये ?
उत्तर: hmm ho skta h apna dhyn rakhe march strting me check krke cnfrm kr le
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा पिछली डेट 29 नोवेम्बर को थी लेकिन इस बार डिसेम्बर पूरा मिस हो गया और अब 24 जनवरी को मेरी डेट आयी है क्य इस महीने प्रेग्नेन्ट होने के कोई चान्स हो सकते है |please बताये
उत्तर: हेलो डियर , kuch baato ka aap dhyaan rakhe jo aapko बेबी ko कन्सिव करने मे मददगार हो सकते है .... 1. संतुलित आहार le. अपने डाइट में फाइबर protein, folic acid,कैल्शियम की मात्रा ज्यादा रखेंl 2. Stress बिल्कुल भी ना ले खुश रहिए और अपने आसपास के माहौल को इंजॉय करिए 3.रेगुलर एक्सरसाइज या योगा या प्राणायाम करिएl 4.शादी क तुरंत बाद ही गर्भ thaharne के पूरी चान्सेस होती है क्योंकि उस टाइम पर हमारी बॉडी के हारमोंस पूरी तरह बैलेंस होते हैंl 5.हर 1 ya २ दिनों क अंदर सेक्स करे esse सीरम की संख्या बढ़ती है,सेक्स करने क बाद हाफ half आवर तक रहिएl 6.आप period होने के १२ दिन पहले से सेक्स करे और पीरियड होने के 14वे दिन सेक्स करें क्योंकि यह सबसे बेस्ट ovulation टाइम माना गया हैl 7. सेक्स करने के तुरंत बाद वॉशरूम ना जाए l अगर आपका पीरियड साइकिल 28 डेज में होता है to 12 Se14 दिनों के बीच के लक्षणों को देखेंl अगर आपका पीरियड साइकिल irregular है तो इस केस में ओवुलेशन का टाइम भी बदल जाता है तब आप अपने लास्ट पीरियड से 10 वीं और 16 दिनों के बीच के लक्षणों को देखेंl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेरो में और कमर दर्द ज़्यादा हो रहा हैं
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में कमर और पैरो में दर्द होना यूट्रेस बढ़ जाने पर ज्यादा भार होने की वजह से भी होता है , जब आपके बेबी के आकार बढ़ने लगता है तब सारा वजन आपके कमर और पैरो पर पड़ता है , ऐसे में पैरो में खिंचाव भी होने लगता हैं आप इसके लिए कुछ ऐसा कर सकते है आप कमर और पैरों की सिकाई गर्म पानी को बोतल में भर कर ऊपर से एक कपड़ा डाल कर सकते है आप अपने कमर और पैरों की सरसो के तेल से मॉलिश करने से भी दर्द कम हो जाता है दर्द होने पर ज्यादा चले फिरे नही बल्कि आराम करे कोई भी भारी सामान ना उठाये या फिर कोई भी भारी भरकम काम भी ना करे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें