18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेम मेरे हाथ पैर मे बहुत दर्द होता है .. और रात में पेट में दर्द होता है . और यूरिन ज़ीयद होती है

2 Answers
सवाल
Answer: hello dear गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द, पीड़ा और मरोड़ होना सामान्य बात है। अगर आपकी गर्भावस्था एकदम स्वस्थ चल रही है, तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते।  गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है। इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी परेशानी महसूस हो सकती है। मजबूत, लचीले ऊत्तक व मांसपेशियां, जो आपकी हड्डियों को जोड़ते हैं, उनमें पूरी गर्भावस्था के दौरान बढ़ते गर्भ को सहारा देने के लिए खिंचाव होता है। इसलिए जब आप हिलती-डुलती हैं, तो आपको शरीर में एक या दोनों तरफ हल्का दर्द महसूस हो सकता है।थोड़ी देर के लिए बैठ जाएं।जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें।हल्के गर्म पानी से नहाएं।जहां दर्द हो रहा हो उस क्षेत्र में गर्म पानी की बोतल या गेहूं की छोटी पोटली से सिकाई करें। अगर आप गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें, तो इसमें गर्म पानी भरें और ध्यानपूर्वक इसे तौलिये या किसी मुलायम कपड़े में लपेट लें। व, गेहूं की पोटली एक कपड़े की पोटली होती है जिसमें गेहूं की भूसी भरी होती है। इस पोटली को माइक्रोवेव में कुछ मिनटों तक गर्म करना होता है। यह पोटली आपके शरीर के आकार के अनुसार ढल जाती है और एक घंटे या इससे ज्यादा के लिए गर्म रहती है।आराम करें। कई बार, sexकरने और पर भी मरोड़ या हल्का सा कमर दर्द हो सकता है। जिससे आपको बाद में मरोड़ जैसा महसूस हो सकता है।आप कैसा महसूस कर रही हैं,जादा परेशानी होने पर डॉक्टर को बताएं। महिला को बार बार यूरिन आने के कारण परेशान होना पड़ता है, प्रेगनेंसी में गर्भ में शिशु का विकास होने के साथ महिला के गर्भाशय का आकार भी बढ़ता जाता है, और महिला को बार बार यूरिन आने का सबसे बड़ा कारण महिला को यूरिनरी इन्फेक्शन होता है, और इसका कारण होता है महिला के गर्भाशय का आकार बढ़ना, जिसके कारण आपको और महिला को यूरिन रुक रुक कर आता है, और महिला के यूरिन आने वाले भाग का मार्ग आंशिक रूप से बंद हो जाता है, इसीलिए महिला को बार बार यूरिन आने लगता है। प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से बचने के उपाय:- अनार के छिलको का उपयोग करें:- अनार के छिलको का उपयोग करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिल सकती है, इसके लिए आप सबसे पहले अनार के छिलको को अच्छे से सूखा लें, और उसके बाद इसे पाउडर के रूप में तैयार करें, और अब इस पाउडर को एक चम्मच एक गिलास पानी के साथ लें, इसे लेने से आपको यूरिनरी इन्फेक्शन की समस्या से राहत मिलती है, और साथ ही बार बार यूरिन आने की समस्या से भी निजात मिल जाता है। गुड़ और चने का सेवन करें:- प्रेगनेंसी में महिला को यदि बार बार यूरिन आने की समस्या होती है, तो इससे बचने के लिए महिला को थोड़े से भुने हुए चने लेकर उसका सेवन गुड़ के साथ करना चाहिए, ऐसा करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिलती है, और भुने हुए चने खाने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है
Answer: is waqt aisa होता h dear aap garam pani से pero ko senk sakti hai ya kisi tel se malish kr sakti .... urinary bladder p दबाव पड़ने से यूरिन ज़्यादा आती है .... ये प्रॉब्लम नेक्स्ट मंथ जब बेबी थोड़ा ऑर बड़ा हो जाएगा तब सही हो जाएगी ... आप पैड का यूज़ कर सकती है अगर यूरिन ज़्यादा हो रही हो khanste या chhinkte हुए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेम मेरे हाथ पैर मे दर्द होता हें रात में
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान अक्सर पेट में पैरों में हाथ में दर्द होता है आप अपने पैरों को गर्म पानी में डालकर बैठा कीजिए कम से कम दिन में दो बार और हो सके तो गर्म तेल से मसाज कराया कीजिए ताकि आपके ब्लड सर्कुलेशन अच्छा हो और पैरों में दर्द होना बंद हो जाए इसी तरीके से आप हाथों की गर्म तेल से मसाज कराई है ताकि ब्लड सर्कुलेशन अच्छा हो और इसके अलावा रोज सुबह सुबह की धूप में कम से कम आधा घंटा बैठी है ताकि आपको विटामिन दा भी मिलता रहे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे रात में बहुत घबराहट होती है और हॅथ पैर कमर मे बहुत दर्द होता है
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में हार्मोन चेंज होने पर डर, घबराहट , नींद न आना और बेचैनी होती है आप बिल्कुल भी ना घबराये , ऐसे में बिल्कुल भी निगेटिव नही सोचना चाहिए जो भी सोचे वो पॉजिटिव सोचे क्योंकि आपको जब भी घबराहट हो ऐसे में आपको किसी हरे भरे वातावरण में जाये और इसे देखकर आपको अच्छा महसूस होगा , आप ऐसे में एकान्त बैठ कर मेडिटेशन करना चाहिए, प्रेग्नेंसीय में हाथ और पैर में दर्द होना rakt sanchar bdh jaane की वजह से हो ता है आप अपने हाथ , पैर के दर्द को इस तरह से इलाज कर सकती है आप अपने हाथ , सरसो के तेल में अजवाइन , लहसुन डाल कर पका दे और इसे तेल से आप हाथ और पैरो की मॉलिश करे आपको आराम हो जाएगा , आप अपने हाथ , पैर की गुनगुने पानी में सेंधा नमक डालकर सिकाई करे इससे भी आपको लाभ होगा , कुछ एक्सरसाइज करें हाथ और पैरो की आपको दर्द में आराम मिलेगा , यूट्रेस के बढ़ जाने की वजह से होता हैं कमर दर्द होने पर आपको कुछ इस तरह से घरेलू तरीके से ठीक किया जा सकता है आप सरसो के तेल में अजवाइन , लहसुन डालकर पका दे जब लहसुन अच्छी तरह से पक जाए तब आप उस तेल से अपने कमर की मॉलिश करे आपको फायदा होगा , कमर दर्द में आप गरम पानी से सिकाई भी कर सकती है , कोई भी चीज को उठाने के लिए कमर के बल से ना झुके बल्कि अपना घुटना मोड़ कर ही झुके , ज्यादा देर तक कुर्सी पर ना बैठे थोड़ी देर लेट भी जाये , कोई काम ज्यादा देर तक एक ही पोजीशन में होकर ना करे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आजकल मेरे हाथ और पैर मे बहुत खुजली होती है क्या डीलिव्री में एसा होता है???
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में जब बेबी का आकार बढ़ता है तो मास पेशियों में खिंचाव होने लगता है जिसके कारण बॉडी में खुजली होने लगती है जो इस तरह से अपनी देख भाल कर सकती है आपके बॉडी में खुजली होने पर भी खुलाना नही चाहिए इससे रैशेस पड़ने का डर हो सकता है आप जब भी नहाने जाए पानी मे 4 से 5 बूंद डेटॉल डाल दे इससे आपको खुजली कम होगी , आप हमेशा बॉडी में नमी बनाए रखे ताकि स्किन सुखी होने से भी खुजली होती है आपने पूरे बॉडी में नारियल के तेल में कपूर डाल कर लगाए इससे खुजली ज्यादा नही होती है ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेट में दर्द होता है हाथ पैर बहुत दर्द करता है क्या करु मै
उत्तर: हेलो डियर, प्रेगनेंसी में utress बढ़ने की वजह से पेट की मास पेशियों में खिंचाव होता है और आपका पेट दर्द होता है अगर यह हल्का हल्का होता है तो यह नॉर्मल बात है आप बिल्कुल भी परेशान ना हो ऐसा दर्द आपकी जब तक की डिलीवरी नहीं हो जाती तब तक हल्का हल्का दर्द बना रहता है प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में बेबी के भूर्ण बनने का प्रोसेस होता है जिसकी वजह से पेट में हल्का दर्द और ऐंठन होती है ऐसा अगर आपको होता है तो यह नॉर्मल बात है ऐसे में आप अधिक से अधिक पानी पिएं ज्यादा आराम करें और गुनगुनी पट्टी से सिकाई कर ले , आप ऐसे में हल्के हाथ से तेल लगा कर मॉलिश भी कर सकती हैं, प्रेग्नेंसीय में हाथ और पैर में दर्द होना हार्मोन परिवर्तन की वजह से हो ता है आप अपने हाथ , पैर के दर्द को इस तरह से इलाज कर सकती है आप अपने हाथ , सरसो के तेल में अजवाइन , लहसुन डाल कर पका दे और इसे तेल से आप हाथ और पैरो की मॉलिश करे आपको आराम हो जाएगा , आप अपने हाथ , पैर की गुनगुने पानी में सेंधा नमक डालकर सिकाई करे इससे भी आपको लाभ होगा , कुछ एक्सरसाइज करें हाथ और पैरो की आपको दर्द में आराम मिलेगा ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें