33 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेम मेरे गले मे बहुत जलन होती हें सो भी नही पाती क्या kru

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर प्रेग्नन्सी के थर्ड ट्रिमस्टर मे गले में जलन होना नार्मल है।मैं आपके साथ कुछ टिप्स हैं आप फॉलो कीजिये:- आप तीन टाइम अच्छे से खाना खाने की बजाये थोड़ी थोड़ी देर मैं खाना खाए दही का सेवन करे। खाना खाते समय पानी नहीं पीजिये। खाना खाने के बाद तुरंत लेटे नहीं वॉक करें जब लेटे तोह पिलो का सहारा लें इससे आपका दिगेंस्टीवे सिस्टम ठीक रहेग। जब ज़्यादा जलान हो तोह ठंडा मिल्क लीजिये। इन सबसे अगर कुछ फ़र्क़ न पड़े तो डॉक्टर से कंसल्ट करे।
Answer: इसका कारन आपको एसिडिटी हो सकती है. इसके लिए आप खाना एक बार में बहोत सारा न खाये. थोड़ा थोड़ा करके ज्यादा बार खाइये. अगर आपको कोई कॉम्प्लीकेशन्स नहीं है तो आपसे हो सके उतना वाकिंग करे. ज्यादा पानी पिए. ये सब से आपको रहत मिलेगी. आप खाने के बाद आधा चम्मच अजवाइन पानी के साथ ले इससे भी आपको रहत होगी.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे गले मे बहुत जलन होती है क्या करें
उत्तर: यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती,एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, रेडीमेड भोजन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। कई बार लेटने से भी छाती में जलन होने लगती है, क्योंकि गुरुत्व बल के कारण पेट से अम्ल बाहर निकलने लगते हैं। रात को देर से भोजन करने पर, कोशिश करें कि खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेरो मे बहुत खुजली होती हे रात को सो भी नही पाती हु
उत्तर: हेलो ,,,प्रेगनेंसी में pero me खुजली की समस्या एक आम समस्या है इसलिए इस संबंध में आप बिल्कुल चिंता ना करें pero में खुजली Dur karne ke liye kuch upay Apna sakte hain आप खीरे के रस को प्रभावित स्थान पर लगाएं धीरे-धीरे खुजली कम होने लगेगी |टमाटर का रस या आप सुबह उठकर टमाटर का रस ही पिएगी तो इसका प्रभाव आपकी बॉडी पर पड़ेगा ,खुजली भी कम हो जाएगी |नारियल व कपूर तेल का मिश्रण खुजली वाले जगह पर लगाएं या एलोवेरा के जूस को भी धीरे-धीरे मसाज kre.खुजली में भी कमी आएगी|विटामिन ई की टेबलेट को लगाएं इससे धीरे-धीरे खुजली से भी राहत मिलेगी| हल्दी पाउडर ,चंदन पाउडर को दूध में मिलाकर लगाएं khujli में कमी आएगी| जिन स्थानों पर khujli है फंगल इंफेक्शन हो सकते हैं इसलिए आप उसी स्थान पर तुलसी की पत्तियों का रस या लहसुन का रस मिलाकर लगाएं धीरे-धीरे वह इस फंगल इन्फेक्शन की कमी करेगा|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे गले मे बहुत जलन होती है रात को नीद नही आती है क्या करु
उत्तर: हेलो डियर आपके पेट और गले में जलन ऍसिडिटी की वजह से हो सकती है । एसिडिटी एक आम समस्या है जो प्रेगनेंसी के दौरान अधिकतर महिलाओं को हो जाती है।इससे बचने के लिये आप सन्तुलीत और पौस्तिक भोजन कीजिये।तैलीय और वसा युक्त भोजंन का सेवन मत किजिये।ज्यदा से ज्यादा मात्रा माय पानी पीजिये।चिन्ता मुक्त रहिए । एसी कोई भी चीज़ मत पिजिये या खाइये जिससे आपको ऍसिडिटी की समस्या हो । प्रेगनेंसी के दौरान नींद ना आना या नींद कम आना दोनो ही आम बात होती है। प्रेग्नेंसी के समय हमारे शरीर में कुछ हार्मोन परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से यह समस्या देखने को मिलती है आप बिल्कुल भी परेशान ना हो ।आप यह उपाय अपना करके अपनी परेशानी को कम कर सकती हैं। गर्भावस्था में अनिद्रा या अच्छी नींद के लिए कुछ सुझाव ---- कुछ हल्के व्यायाम करें। भारी भोजन खाने से बचें। हल्का खाना खाए। बहुत सारे मुलायम तकिए लें जो आपको आराम दे। अपने कमरे के तापमान को सामान्य रखें। सोने से पहले अच्छी किताबें पढ़ें। 2 घंटे सोने से पहले गर्म दूध पीएं। तनाव से बचें। सोने से पहले गर्म पानी से स्नान करें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें