11 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेम मेरी लास्ट डेट 8 अप्रेल ti मुजे kinsa मंथ h और मेरे पेरो में दर्द भी रहता h

4 Answers
सवाल
Answer: aapka ye 3rd month chal raha hai पैरों में दर्द में असरदार है अदरक का तेल अदरक दर्द निवारक दवाइयों में सबसे प्रमुख है| अदरक की सहायता से पैरों में दर्द और इसके साथ अगर पैरों में सूजन है तो उसे भी कम किया जा सकता है| पैरों में दर्द है तो आपको अदरक का तेल का इस्तेमाल करना होगा| अदरक का तेल लेकर अपने पैरों पर मसाज करें| कम से कम आधा घंटा रोजाना मसाज बेहद जरुरी है और अगर दर्द बहुत ज्यादा है तो दिन में दो बार मसाज करें| इसके अलावा, अदरक की चाय बनाकर इसके सेवन करने से भी शरीर में दर्द दूर होते हैं| जब तक दर्द दूर ना हो जाये तब तक रोजाना मसाज करें और सुबह शाम अदरक वाली चाय भी पियें| नीम्बू करता है सूजन कम जिन लोगों के पैरों में सूजन है या दर्द है उन लोगों को नींबू के रस का इस्तेमाल करना चाहिए| नींबू हर घर में मौजूद रहने वाली चीज़ है आपको बस इतना करना है कि एक बर्तन में थोड़ा पानी लें और इस पानी को गुनगुना कर लें| अब इस पानी में 2 चम्मच नींबू का रस मिला दें| इसके बाद इस रस को पी लें| अगर आपके पास शुद्ध शहद है तो इसमें थोड़ा शहद भी मिला लीजिये और इसका दिन में दो बार सेवन जरूर करिये| ठन्डे पानी में रखें पाँव एक बाल्टी या किसी खुले मुंह वाले बर्तन में ठंडा पानी भर लें| अब अपने पैरों को साफ़ करके इन बाल्टी में पैर डाल लें और आराम से कुर्सी पर बैठ जायें| कुछ देर तक पैर ठंडे पानी में ही रहने दें और आप कुर्सी पर बैठे रहें| इससे पैरों में रक्त का संचरण ठीक हो जाता है और पैरों में दर्द से तुरंत आराम मिलता है| इससे आसान और सस्ता तरीका दूसरा कोई हो ही नहीं सकता परन्तु अगर फिर भी आराम ना मिले तो अगला नुस्खा आजमाएं| गर्म पानी से पैरों की सिकाई पानी गर्म करके किसी बोतल में भर लें| आज कल मार्किट में सिकाई करने के लिए रबर की ख़ास बोतलें आती हैं जो सिकाई करने के लिए ही बनायी गयी होती हैं, आप उस बोतल का इस्तेमाल कर सकते हैं| पानी उतना ही गर्म करें जितना आप सह सकें| अब बोतल में पानी भरकर इससे पैरों की सिकाई करें| कोई जल्दबाजी ना करें, आराम से कम से कम 20 -30 मिनट तक सिकाई करें| इससे पैरों कर दर्द और सूजन तुरंत कम होने लगेगी| नीम के पत्तों करते हैं दर्द दूर नीम के पत्ते हर जगह आसानी से मिल जाते हैं| एक बर्तन में पानी गर्म करें और इसमें नीम के पत्ते डाल दें और तब तक उबालते रहें जब तक नीम के पत्ते अपना रंग ना छोड़ने लगें अर्थात पानी का रंग हरा हो जाना चाहिए| अब इस पानी से पत्तियां निकालकर इसमें थोड़ी फिटकरी मिला लें और इस पानी में कुछ देर तक अपने पैरों को डालकर रखें| नीम के अंदर बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति होती है, और यह दर्द निवारक का कार्य भी करता है| नाश्ते में खायें केला केले में भरपूर मात्रा में पोटेशियम होता है| अक्सर शरीर में पोटेशियम की कमी से भी पैरों में दर्द होने लगता है इसलिए रोजाना केले का सेवन करने से फायदा होता है| केले को रोजाना अपने नाश्ते में शामिल करें| इससे शरीर को एनर्जी भी मिलेगी और यह पैरों की अकड़न को भी दूर करेगा|
Answer: आपको प्रेग्नेंट हुए 2 महिने पूरे हो गये है और 3 महीना चल रहा है प्रेग्नेंसीय होने के बाद एक समस्या पैरो के दर्द की होती है प्रेग्नेंसीय के दौरान ठीक से रक्त प्रवाह ना होने के कारण पैरो में दर्द होता है प्रेग्नेंसीय में आपका वेट बढ़ जाता है जिसके वजह से सारा बॉडी का सारा भार पैरो पे आ जाता है और पैरो में दर्द होने लगता है आप अपने पैरों की सरसो के तेल से मालिश करे आपको आराम मिलेगा आप अपने पैरों को गुनगुने पानी मे नमक डालकर धो दे इससे भी आपके पैरों का दर्द कम हो जाएगा , ज्यादा हाई हील सैंडिल न पहनें , आप अपने पैरो की एक्सरसाइज करें पैर दर्द में बहुत लाभ होगा
Answer: आपको तीसरा महीना चल रहा है। गर्भावस्था में पैर दर्द ---गर्भावस्था के सुरूवात से लेकर अंतिम चरण तक पैरों तथा तलवों दरद होना सामान्य हैयह जादातर महीलाओं को होता है। गर्भ में पल रहे शिशु केकारण गर्भाशय का भार पैरों पर पड़ने लगता है।इससे पैरों को अधिक भार झेलने के दरद और सुजन भी हो सकती है जो शिशु जन्म के बाद खतम हो जाता है।दरद से बचने के लिये पैर के तलवों को गुनगुने तेल से मालीश करें और कम चले जादा देर तक खड़े न रहें ऊंची हील न पहने आराम दायक फ्लैट चप्पलें पहनें इससे आपके पैरों को आराम मीलेगा।
Answer: 13 जनवरी 2019 को आप की डिलीवरी हो सकती है यह आप की लास्ट पीरियड डेट के अनुसार है आपके स्कैन में बेबी की ग्रोथ के अनुसार यह डिलीवरी डेट थोड़ा चेंज भी हो सकती है। यदि आपके पैरों में दर्द रहता है तो आप गुनगुने पानी से स्नान कीजिए या फिर गुनगुने पानी में नमक डालकर उसमें पैरों को डालकर 10 से 15 मिनट रखिए आपके पैरों का दर्द कम होगा।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी लास्ट डेट 23 मार्च है मरे पेरो में बहुत दर्द रहता है kyu
उत्तर: कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि गर्भावस्था में टांगों में ऐंठन होने की वजह पोषक तत्वों की कमी होती है। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी नोर्मल डिलेवरी हुयी h 1 मंथ का बेबी h मेरी कमर और पेरो में बहुत दर्द रहता h
उत्तर: हेलो कैल्शियम की कम ी के का रण ऐसा होता है . आप अपने खाने में कैल्शियम सीमा से भरपुर खाना ऐड करें . जैसे रो बनाना ,बादाम, गाय का दूध . इसी के साथ आप सुबह सुबह धूप में थोड़ी देर रहा करें जिससे आपको विटामिन डी मिलेगा . से भी सर दर्द थोड़ा कम होते हैं .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे कमर और पेरो में बहुत दर्द रहता हें
उत्तर: kamar के व्यायाम कर सकती हैं आप सरसों के तेल की मालिश भी करवा सकते हैं, मालिश करने से मांसपेशियों का आराम मिलता है सही मुद्रा अगर आपकी आदत सही मुद्रा में बैठने की नहीं है तो भी आप कमर दर्द के शिकार हो सकते हैं गर्म स्नान दर्द कम करने में मदद कर सकते हैं उचित जूते या सैंडल पहने कम ऊंचे और आरामदायक जूते पहने फिर भी आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना बहुत ही कॉमन है इसमें घबराने की कोई बात नहीं है या अब बहुत सी महिलाओं को होता है प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होने का एक कारण हो सकता है कैल्शियम की कमी कुछ घरेलू उपचार के साथ आप अपने पैरों के दर्द को ठीक कर सकते हैं हल्का चलना-फिरना आपके और आपके होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बेहतरीन होगा सुबह शाम थोड़ा थोड़ा वॉक करें वॉक अप उतना ही करें जिसमें जिसमें आपको थकान महसूस ना हो गर्म पानी में आप थोड़ी देर अपने पैर डालें उस गर्म पानी में पहले थोड़ा सा नमक डालें फिर उस पानी से अपने पैरों की सिकाई करें अपने खाने-पीने का भी ध्यान रखें ,कैल्शियम रिच डाइट लें दूध दही पनीर यह सब अपने आहार में लें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेम मेरे पेरो मे बहुत दर्द होता ह और कमर में भी
उत्तर: हैलो डियर-कभी-कभी मांसपेशियों और हड्डियों पर पड़ने वाले दबाव के कारण पैरो मे दर्द के साथ सूजन और ऐंठन भी हो सकती है यह दर्द और सुजन बच्चे के जन्म के साथ ही खत्म हो जाता है यह कभी किसी तो कभी किसी पैर में होता है यह परेशानी ज्यादातर प्रेगनेंसी में महिलाओं को होता ही है यह दर्द गर्भाशय में बच्चे के बढ़ने के कारण पड़ने वाले दबाव के कारण होता है दर्द से राहत के लिए आप पैरों और तलवों में हल्के गुनगुने सरसों तेल से मालिश ले सकती हैं नमक कम खायें।पैर के नीचे तकिया लेकर सोऐं। दर्द वाले की स्थिति में आप ज्यादा देर तक चले नहीं ना खड़े हो आपको आराम करना चाहिए और आपको फ्लैट आरामदायक नरम चप्पले पहननी चाहिये। गर्भावस्था में जैसे जैसे आपकी बैली साइज बढ़ती है यह समस्या बढ़ती जाती है मेडिटेशन के जरिए आप अपने कमर दर्द की समस्या से राहत पा सकती है इसके लिए आप किसी शांत जगह पर लेट जाएं और अपने सांस पर अपना ध्यान केंद्रित करें इससे आपके हारमोंस भी नियंत्रित होंगे कमर दर्द से बचने के लिए आप ज्यादा देर तक एक ही अवस्था में ना रहे और ना ही ज्यादा देर तक खड़े रहे दर्द से राहत के लिए हमेशा करवट लेकर पी लो का इस्तेमाल करके सोए जिससे आपको राहत मिलेगी और निंद भी आयेगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें