4 weeks pregnant mother

Question: मेम मुजे बहुत जयदा खाँसी है क्या करो दवाई से बी फर्क नही पड़ रहा

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो, अगर आपको खांसी आ रही है और कफ की प्रॉब्लम बहुत हो रही है तो गर्म पानी में हल्का नमक डालकर तीन या चार बार दिन में गरारे लें ।इससे गले की सिकाई होगी और खांसी कम होगा| आप चाय में तुलसी की पत्तियां डालकर पिएं| तुलसी की पत्ती का रस निकालकर उसमें शहद डालकर तीन या चार बार चाटती रहे ध्यान रहे अदरक का रस बिल्कुल ना डालें| प्रेगनेंसी के दौरान अदरक का रस गर्म करता है| सादे पानी का भाप लें| सोते समय गले में सीने में विक्स या बाम लगाएं| एकदम ठंडा पानी ना पिएं| ज्यादा ठंडी चीजें ना खाएं| जब खांसी आए तोआराम से बैठकर खांसे खड़ी ना रहे| खड़े होकर खांसने से पेट पर तनाव पड़ता है| जिससे पेट में और शरीर में दर्द होता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेम मेरे बेबी को बहुत सर्दी हो रही है खासी बी बहुत चल रही है दवाई भी दे रहें है फिर भी कोई फर्क नही पड़ रहा है में क्या करु
उत्तर: छोटे बच्चे को सर्दी खांसी बहुत ही जल्दी लगती है आप भी बीच में बच्चे की गीली नैपकिन बदलते रहिए आप उन्हें ज्यादा से ज्यादा अपना दूध पिलाई है। अब बच्चे को सर्दी से संक्रमित व्यक्ति से दूर रखने की कोशिश कीजिए आप उनके कपड़ों को किसी अच्छे एंटीबैक्टीरियल शॉप में धोकर एंटीबैक्टीरियल पानी में डुबोकर धोकर फिर धूप में अच्छे से सुखा कर रखिए और यूज कीजिए। आप बच्चे के सीने में सरसों के तेल में 3... 4 कड़ियां लहसुन की kadka कर तेल को गर्म करके ठंडा करके अच्छे से सीने में मसाज कर सकती इससे बच्चे को सर्दी और खांसी में थोड़ा आराम मिलेगा। आप बच्चे को भाप दे सकती है पर छोटे बच्चों को भाप देने के लिए आप गर्म आप बाथरूम में गर्म पानी टब में ऑन कर दीजिए। थोड़ी देर के लिए बाथरूम को बंद करके रखे जिससे बाथरूम में बाप भर जाएगा और अपने छोटे बच्चे को आप लेकर थोड़ी देर के लिए बैठ जाइये। जिससे उनको सीने में कफ नहीं जमेगा और खांसी और सर्दी में थोड़ा आराम मिलेगा। आप बच्चे का सिर हल्का सा ऊपर रखकर ने दूध pilaiye और सुलाएं जिससे उन्हें खांसी काम आएंगी सिर का पोजीशन थोड़ा सा ऊपर होना चाहिए इसके लिए आप पतला तकिया कभी यूज कर सकती है। ज्यादा तकलीफ है या आपको आराम नहीं मिलता है तो आप डॉक्टर के पास जाइए और बच्चे का इलाज करवाइए बच्चे की खांसी सर्दी देखकर सीने को चेक करके आपको बेहतर सलाह देंगे। आप डॉक्टर की सलाह जरूर लीजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 3 डिन से फीवर हो रह h क्या करु डॉक्टर की दवाई से फर्क नही पड़ रहा h
उत्तर: यदि 3 दिन से फीवर हो रहा है तो इसके लिए आप बिल्कुल भी इंतजार नहीं कर सकते आप हॉस्पिटल जाकर फिर से डॉक्टर से मिले और ब्लड टेस्ट करवाएं है कि बुखार आने का वजह बहुत सारा चीज हो सकता है इसलिए ब्लड टेस्ट करा कर आप सबसे पहले कंफर्म करें कि बुखार किसके वजह से आ रहा है उसके बाद अपना इलाज चालू करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा सर बहुत दर्द कर रहा है 7 8 दीन से कोयि फर्क नही पड़ रहा है दवाई लिखी थी डॉक्टर ने उस्से भी कोए फर्क नही पडा तो मुझे क्या करना चाहिए
उत्तर: हेलो डियर गर्भावस्था के दौरान शरीर में बहुत हारमोनल परिवर्तन होता है जिसके चलते सिर में दर्द होना उल्टी का मन कुछ खाने पीने का मन ना करना जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती है|हारमोनल चेंजेस के अलावा गर्भावस्था में सर दर्द होने का कारण ब्लड प्रेशर नियंत्रण ना होने पर भी होता है |अपने शरीर की देखभाल के साथ मानसिक देखभाल भी रखनी जरूरी है | गर्भावस्था के दौरान चिंता या तनाव होने पर सिर दर्द हो सकता है | प्रेगनेंसी के दौरान सिरदर्द का इलाज करने के लिए भाप का करें इस्तेमाल | पिपरमेंट या निलगिरी तेल तीन चार बूंदे पानी में डालें और इसका भाप लें | मौसम के बदलने पर सर्दी जुखाम जैसी समस्या हो सकती है जिससे गर्भावस्था में सिर दर्द होना आम बात है | भाप से सर्दी जुकाम दूर होती है और सिर दर्द का इलाज होता है | कैफीन का सेवन करना गर्भावस्था के दौरान अच्छी बात नहीं है क्योंकि यह हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर करता है और गर्भवती स्त्री को कमजोर बनाता है | इसीलिए कैफीन पर रोक लगाएं और गर्भावस्था के दौरान सिर दर्द का इलाज करें | यदि आपको आंखों का नंबर यानी चश्मा है और आप चश्मा नहीं पहनते तो आंखों में दुखाव जलन होता है जिसका असर आपके सिर पर होता है और सिर दर्द होता है | यदि आप चश्मा पहनते हो फिर भी सिर दर्द है तो आंखों का इलाज करें हो सकता है आंखों का नंबर बढ़ गया हो या कम हुआ हो |मालिश करने से सिर दर्द कम होता है और आराम मिलता है | औषधीय तेल या नारियल तेल की मालिश करने पर गर्भावस्था के दौरान सिर दर्द का इलाज फौरन होता है |पौष्टिक आहार प्रेगनेंसी के दौरान बहुत जरूरी है क्योंकि गर्भवती स्त्री के शरीर में बहुत से हारमोनल चेंजेस होते हैं और इन वजहों से बहुत विटामिन प्रोटीन जैसे पौष्टिक पदार्थों की कमी होती है | इसीलिए गर्भावस्था के दौरान पौष्टिक आहार का करना बेहद जरूरी है | प्रेगनेंसी के दौरान प्रेगनेंसी टिप्स अनुसार हर 2 घंटे में कुछ ना कुछ पौष्टिक आहार का सेवन जरूर करें | यह गर्भवती महिला और बच्चे की सेहत के लिए बेहद जरूरी है |
»सभी उत्तरों को पढ़ें