18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: helo मेम thirod के kya kya लक्षण hote hai mera thirod ka report karvaya hai ..

1 Answers
सवाल
Answer: hello थायराइड दो तरह के होते हैं पहला होता है हाइपो थायराइड इस थायराइड के लक्षण में पूरे शरीर में ठंड लगना थकान सुस्ती लगना बालों का झड़ना वजन बढ़ना हाथ पैरों में सूजन होना गले में दर्द होना पसीना कम आना और स्किन ड्राई होना प्यास ज्यादा लगना यह सारी समस्याएं हाइपो थायराइड में होता है इससे मोटापा बढ़ता है दूसरे प्रकार का थायराइड हायपर थायराइड है और इस थायराइड में वजन लगातार कम होने लगता है तेजी से दिल धड़कना लूज मोशन होना ज्यादा गर्मी लगना हाथ पैर कांपना ज्यादा पसीना आना पीरियड में अनियमितता और अनावश्यक चिड़चिड़ापन आता है और दोनों ही थायराइड प्रेगनेंसी के लिए नुकसानदेह होते हैं इससे कंसीव करने में परेशानी होती है इसलिए इसका ट्रीटमेंट होना बहुत जरूरी होता है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: लेबर पेन शुरू होने के पहले के लक्षण hote hai
उत्तर: ड्यू डेट के आसपास आपको लेबर पर होगा जिसके कुछ विशेष लक्षण होते हैं जिसके आधार पर आपको यह स्पष्ट हो जाएगा कि डिलीवरी का टाइम आ चुका है# लेबर पेन के समय आपको पीरियड के समय जिस प्रकार पेट में दर्द होता है उसी प्रकार का दर्द का अनुभव होने लगेगा |पेट में खराबी ,लूज मोशन ,बार बार पॉटी जाने का अनुभव होने लगेगा| सफेद पानी का अधिक मात्रा में निकलना या फिर सफेद पानी के साथ हल्के गुलाबी रंग का द्रव भी बाहर निकलने लगेगा |कमर में दर्द' बैक व कमर में दर्द का एहसास बढ़ते जाएगा |पेट में रुक रुक कर दर्द होने लगेगा और कभी दर्द में कमी होगी और कभी दर्द तेज रूप से होगा |अगर इस प्रकार के लक्षण आपको अनुभव हो तो आप तुरंत ही अपने चिकित्सक से संपर्क करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hme kese pata chlega ki cervix ka muuh khul gya h ya nhi ..... or delivery hone ke 1-2 din phle k kya kya लक्षण hote hai
उत्तर: में आपको लेबर पेन के लक्षण बताती हु वो ध्यान से पढ़े और जरुरत पड़ने पर अस्पताल जाये. लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है। ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द, उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है। जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे, जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो, इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो, आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो, तो ये सब प्रसव के लक्षण है। अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो बुखार सिरदर्द या पेट में दर्द हो, तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले. गर्भावस्था के दौरान आपका शिशु एक तरल पदार्थ से भरी थैली से घिरा रहता है जिसे ‘emniotic sak’ कहते हैं। आपके प्रसव के शुरुवात में संकुचन के साथ-साथ आपके emniotic sak की झिल्ली टूट जाएगी। इसके द्वारा आपके शरीर से एक रंगहीन स्त्राव निकलेगा जिसे water break कहते हैं. Water break होने पर लेडी को बॉडी से कुछ गिरने जैसा फील होता है और किसी तरल पदार्थ की धारा के गिरने जैसा महसूस होता है। गर्भवती महिला को कहा जाता है की अगर उनका वाटर ब्रेक हो गया है तो उन्हें शिशु का जन्म २४ घंटे के अंदर ही कर देना चाहिए। वाटर ब्रेक के साथ आप को दर्द हो भी सकता है या कई बार नहीं भी होता. पर वाटर ब्रेक हो जाये तो डॉ क पास तुरंत जाये.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: लड़के के पेट में होने के कोई लक्षण कसें hote hai
उत्तर: हेलो ! बच्चे के लिंग का पता तो जन्म के बाद ही चल सकता है। भारत में बच्चे का लिंग जानने की अनुमति नहीं है अतः आप किसी और विधि से से भी इसका पता नहीं लगा सकती हैं। आपको किसी भी प्रकार का तनाव नहीं लेना चाहिए और खुश रहें साथ में आप को अधिक से अधिक आराम करना चाहिए। तरल पदार्थों का सेवन करें ।10 से 12 गिलास पानी प्रतिदिन पिए। साथ ही नारियल पानी भी पिएं और पौष्टिक आहार का सेवन करें, खुश रहें जिससे स्वस्थ बच्चे का जन्म हो । कुछ किवदंतियां हैं की यदि गर्भवती स्त्री को मीठा अच्छा लगता है तो बेटा जन्म लेता है और यदि नमकीन अच्छा लगता है तो बेटी जन्म लेती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें