10 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझ वॉमिटिंग बहुत होती है

2 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेन्सी के शुरू के 3 माह मे ज़्यादातर महिलाओ के उलटी की प्रॉब्लम होती हि है , जैस जैस प्रेगनेन्सी बढ़ने लगेगा , उलटी चक्कर की तकलीफ़ काम हों जाएगी , आप उल्ती के लिए ये ट्राइ करे , आराम मिलेगा जिस भोजन में फाइबर की मात्रा ज्यादा हो उनका सेवन करें नींबू को काटकर बीज निकाल दें, कटे हुए नींबू पर थोड़ा सेंधा नमक और काली मिर्च पाउडर डालकर चूसने से उल्टी और जी मिचलाना कम हो जाता है संतरा और अनार खाने से उल्टी में आराम मिलता है धनिये की पत्ती का रस रस निकाल कर एक एक चम्मच लेते रहने से उल्टी होना बंद होता है तनाव को कम करे,ज्यादा पानी पीए,रोज शाम को थोड़ा walk करे .
Answer: मेरा 6month छाल रहा है पर baby के moment नही समझ मी अ रही है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे बहुत वॉमिटिंग होती है क्या करूँ ?
उत्तर: हेलो डियर ,गर्भावस्था के दौरान बहुत सारी गर्भवती महिलाओं को उल्टी की समस्याएं रहती हैं किसी को शुरू के 3 महीने होती है और किसी को पूरी प्रेगनेंसी के दौरान उल्टियां होती हैं अतः उल्टी से राहत पाने के लिए कुछ घरेलू उपाय हैं जिन्हें आप अपना सकते हैं पहला आप संतरे का जूस पी सकती हैं इससे आपको आराम मिलेगा नींबू को काटकर उसे गर्म करें और उसके ऊपर हल्का सा काला नमक डालें और इसे चाट लें इससे भी उल्टी में आराम मिलता है खट्टे मीठे फलों का फ्रूट चार्ट बनाएं जैसे कि केला संतरा सेब इत्यादि कांटे और उस पर चाट मसाला और हल्का सा काला नमक डालकर खाएं इससे भी आपको आराम मिलेगा और पौष्टिक तत्व भी आपके शरीर में जाएंगे पुदीने की शिकंजी बनाकर आप भी सकती हैं नींबू का शरबत बनाकर पी सकती हैं यह सारे उपाय आप अपने आप को उल्टी में आराम मिलेगा और आपका जी भी नहीं मिचली नही करेगा .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: वॉमिटिंग होती है बहुत क्या करू
उत्तर: hello dear प्रेग्नंसी मे उल्टी होना नॉर्मल है येह बॉडी मे होने वाले हर्मोनल परिवर्तन्ंं की वजह से होती है।यह लगभग 65% महिलाओं को प्रभावित करती है। कुछ महिलाओं को किसी भी लक्षण का सामना नहीं करना पड़ता है। अदरक का रस चाटने से उल्टी मे आराम मिलता है इसके अलावा आपको जब भी उल्टी मह्सूस हो तो curry पत्ता सूंघ सकती है।आप हरा धनिया पीस्कर उसका सेवन करिए इससे भी उल्टी आनी बन्द हो जाती है।आप निम्बू मे काली मिर्च काला नमक मिकस करके उसे चातिये इससे भी आपकौ आरांम मिलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे वॉमिटिंग का मन होता है पर वॉमिटिंग नही होती ना ही मॉर्निंग सिकनेस होती है
उत्तर: गर्भावस्था में उल्टी मीतली और जी घबराना बहुत आम समस्या है। उल्टी होने से शरीर में पानी की कमी होने की संभावना हो सकती है।ईसलिये अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए । एक दिन में कम से कम 8 से 10 गीलास पानी पीना चाहिए । सुबह सुबह जुस भी पीने से उल्टी से राहत मीलती है। ैजसे पूरे दिन कुछ न कुछ खाते रहना जो आपको पसंद हो वही खाऐं जो आपको पसंद न हो वह न खायें अक्सर जो चीजें पसंद न हो उन चीजों को खाने से भी मीतली और उल्टी की परेशानी होती है।अदरक वाली चाय नारीयल पानी जुस का सेवन करने से अक्सर उल्टी मितली से राहत मिलती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: नरेन्द्र मोदी जी ने जो योजना बनायी हे वों किन्को लागू होती है
उत्तर: Welcome to healofy and we are happy to help. PMMVY or Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana or Pradhan Mantri Martu Vandana Yojana is a flagship scheme of Narendra Modi Government for pregnant women and lactating mothers. Under the PMMVY pregnancy aid scheme, the central government is providing a financial assistance of Rs. 6000 to the pregnant women and lactating mothers for the first live birth of child. The PMMVY registration for claiming Rs. 6000 pregnancy aid can be done through the Anganwadi Centers (AWC) or the nearest approved health facility. The application form for registration under Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana can be obtained directly from the Anganwadi Centers or the approved health facility free of cost. The PMMVY pregnancy aid scheme application forms can also be downloaded from the official website of Ministry of Women and Child Development. The dully filled PMMVY application form can be submitted at the same Anganwadi center or the health facility for the claim of pregnancy aid amount of Rs. 6000. The pregnant women and lactating mothers who have their pregnancy on or after 1 January 2017 are eligible to apply for Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana. Hope this information was helpful.
»सभी उत्तरों को पढ़ें