30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझ पूरी बॉडी और सर एम बहुत पानी हो रहा ह पैरों एम भी बहुत की करूँ

1 Answers
सवाल
Answer: हलों डियर ,आप के बॉडी की मास पिशियो में दर्द होता है की सरसों के तेल में लहसुन और अजवाइन पकाए और छान कर अपने बॉडी के पार्ट की मालिश करे इससे आपके बॉडी के मास पेशियो का दर्द कम हो जाएगा , आप गुनगुने पानी में सेन्धा नमक डाले और जहाँ भी दर्द होता है पैर, हाथ कंधा वाले बॉडी को इस पानी में कुछ देर के लिए डीप कर दे इससे भी बॉडी का दर्द कम हो जाएगा , गुनगुनी सिकाई से भी दर्द में आराम हो जाता है , दर्द वाली जगह पर गुनगुना हल्का गर्म तोवेल 15 मिनट रखने से भी दर्द वाली जगह पे आराम हो जाता है, प्रेग्नेंसीय में हार्मोन परिवर्तन के कारण सर दर्द जैसी समस्या बनी रहती है इसका उपाय घरेलू तरीके से कर सकते है , इसमे बिल्कुल भी परेशान होने वाली बात नही है , सर दर्द होने पर आप को बाम वैगेरह लगा लेना चाहिए और सर की तेल से अच्छे से मॉलिश करनी चाहिए सर दर्द में आपको आराम मिल जाएगा आप सर दर्द में गाय का देसी घी को गुनगुना कर ले और फिर नाक दोनो छिद्रों में डाल दे इससे सर दर्द कम हो जाता है आप तुलसी की पत्तियों को पीस कर पानी मे गर्मा दे फिर इस पानी पी ले इससे सिर दर्द कम हो जाता है सर दर्द में आप अदरक की चाय भी पी सकती है ये सर दर्द के लिए बहुत ही अच्छा है ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mujh pero m bot drd hota h or aasiditi bi bot hoti h ky krna chahiye
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों तक पर्याप्त रक्त संचार न हो पाने के कारण उसमें ऑक्सीजन की कमी से पैर दर्द होने लगता है। यह घुटनों, और पैरों की उँगलियों में भी होता है। कभी कभी पैर सुन्न पड़ सकता है।बदलते हॉर्मोन्स लेवल से पैरों में दर्द होता है। जैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है उस प्रकार बदन की निचली मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं। इस कारण महिलाओं में पैर दर्द होता है। बढ़ते वज़न के कारण उसकी पैरों की हड्डी पर प्रभाव पड़ता है जिससे मांसपेशियों और पैरों में दर्द होता है। पैरों के दर्द से बचने के लिए पैर की उँगलियों को हलके हाथ से दबाएं। साथ ही गुनगुने तेल से मालिश करें! यह धीरे धीरे बेहतर परिणाम देगा। गर्भावस्था में ऊँची हील की सैंडल न पहनें। आरामदायम फ्लैट्स और ढीली चप्पलें पहनें। इनसे भी आपके पैरों और एड़ियों को आराम मिलेगा। डियर अदरक, सौंफ, मेथी और अजवेन जैसे कुछ जड़ी बूटी भी पाचन में सुधार और गर्भावस्था के दौरान मतली / उल्टी acidity को कम करने के लिए माना जाता है ताकि यू थोड़ा सा ले सके। आप उन्हें पूरी तरह खत्म करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं, लेकिन ऐसी चीजें हैं जिन्हें आप कम करने की कोशिश कर सकते हैं: • अमीर, तेल या मसालेदार व्यंजन, चॉकलेट, नींबू के फल, शराब और कॉफी सभी को acidity बढ़ने के लिए जाना जाता है। यदि आप असहज महसूस करते हैं तो थोड़ी देर के लिए इन खाद्य पदार्थों से बचें। • कार्बोनेटेड या फिजी ड्रिंक के बजाय पानी पीएं क्योंकि ये पेय पहले से ही बहुत अम्लीय हैं। • ठंडा दूध या दही का एक गिलास दिल का दर्द और acidity के लिए एक पुराना उपाय है। कैमोमाइल या अदरक चाय (अद्रक चाई) का एक कप भी मदद कर सकता है।केला मदद करते हैं। • छोटे, लगातार भोजन खाएं और अपने भोजन को अच्छी तरह से चबाएं। भोजन के बीच एक लंबा अंतरacidity का कारण बन सकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेट एम बहुत भारीपन सा महसूस हो रहा ह ....और पूरी बॉडी एम भी बहुत पेन ह ... प्लीज बताएं एम क्या करूँ ...
उत्तर: asa आपके बेबी के वेट के कारण हो रहा है आप रेस्ट कीजिये और हेल्दी खाना खाए dhud पिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझ 8मंथ लगा हुआ ह और मेरे पूरी बॉडी .एम बहुत ित्तिचिंग हो रही ह और पैरों एम और कमर एम बहुत दर्द हो रहा ह
उत्तर: प्रेग्नेंसी में ऐसा नॉर्मल ह इचिंग के लिए आप किसी ठंडे पाउडर या मॉइस्चरीज़र का उसे कर सकती ह और कमर और पैर दर्द के लिए आप वॉलिनी स्प्रे उसे कीजिए बहुत आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें