1 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझे chhkar bohot aare hai

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर, प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में चक्कर और घबराहट आना नॉर्मल बातें अगर आपको चक्कर और घबराहट आता है तो आप अपने सारे काम छोड़ कर आराम करें आप किसी भी भीड़ भाड़ वाली जगह पर ना जाएं आपको ऐसा होने पर पानी पीते रहना चाहिए इससे आपको घबराहट और चक्कर मैं आराम हो जाएगा अगर आपको घबराहट होती है तो ऐसा हार्मोन चेंज होने की वजह से होता है ऐसे मैं आपको थोड़ा शांति और हरे भरे माहौल में पेड़ पौधों की हरियाली में टहले इससे आपको घबराहट और बेचैनी नहीं होगी अगर आप को में चक्कर आता है तो ऐसे में आप अपने मुंह में थोड़ा सौफ लेकर चबाये इससे चक्कर आना कम हो जाता है!
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mujhe chakker bohot aare hai humesha lete rahna padta hai chalti hu to aankho ke aage andhera ho jata hai
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान शरीर के कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम के कई तरह के बदलाव होते हैं। खून की नलिकाएं चौड़ी हो जाती हैं जिससे बेबी तक पर्याप्त मात्रा में खून और पोषक तत्व पहुँच सकें, इसके अलावा हार्ट रेट भी बढ़ जाता है जिससे बच्चे तक आसानी से ब्लड पहुँच सके। इन सभी कारणों की वजह से नसों में खून की गति धीमी हो जाती है और यही कारण है जिससे ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। डॉ़. सरवैया बताती हैं कि प्रेगनेंसी के बीच में एक ऐसा समय भी आता है जब ब्लड प्रेशर बहुत कम हो जाता है जिसे इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस को नियंत्रित करके ठीक किया जाता है। शरीर में होने वाले इन बदलावों को ठीक करने के लिए आपका हार्ट और मस्तिष्क दोनों इसी में व्यस्त हो जाते हैं और इसी वजह से आपको चक्कर महसूस होने लगते हैं।वैसे तो चक्कर आने से कोई नुकसान नहीं होता है लेकिन अगर आपको चक्कर के साथ नजर में धुंधलापन, पेट में दर्द और सीने में दर्द भी हो तो देर न करें बल्कि तुरंत किसी डॉक्टर के पास जाकर चेकअप करवाएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Muze ulti,jimachlna,chhkar,morning seekness,sabji ko tadka lagte samay bHi kuch taklif nahi hoti
उत्तर: किसी किसी प्रेग्नेन्ट वूमेन को ये सारे लक्षण नही होते फ़िर भी प्रेग्नेन्ट होती है । यदि आपको किसी भी प्रकार का डाउट हो रहा है तो आप 9 सप्ताह के बाद अपना टीवी ऐसी स्कैन करा सकती हैं जिससे आपके बच्चे की हार्ट बीट और उसकी क्रोध का ठीक से पता चल जाएगा आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है और अपने खानपान पर विशेष ध्यान दें तथा शुरू के 3 महीने जितना हो सके रेस्ट करें अधिक सीढ़ियां चढ़े उतरे नहीं कोई भी भारी काम ना करें और खुश रहें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere baby ko poo tight aare hai mai kays karu
उत्तर: हेलो आप परेशान ना हो ब्रेस्ट फीड करने वाले बच्चे की तुलना में फॉरम्यूला पीने वाले बच्चों में कब्ज़ होने की ज़्यादा समस्या होती है माँ के मिल्क में पाये जाने वाले न्यूट्रिशन आसानी से पच जाते है आपके बेबी की पोटी हार्ड हो रही है बेबी को पानी की कमी हो रही है ऐसे में अगर आप ब्रेस्ट फीड मदर है तो बच्चे को बार बार समय से फीड करायें ताकि बच्चे को पूरे पोषण मिलें और बच्चे को पानी की कमी ना हो और आप अपना खाना हेल्थी और संतुलित रखें आप बच्चे को साइकल चलाने वाली एक्सर्साइज करायें आप बेबी ऑयल से हलके हाथों से नाभि के नीचे लेफ्ट साइड मसाज करे फॉर्म्यूला मिल्क आप साफ़ और बॉइल पानी में बनाये कुछ दिन आप फॉरम्यूला थोड़ा ज़्यादा 6 से 7 चम्मच पानी में बनाये ताकि बच्चे को पानी की कमी ना हो आप बच्चे का फॉरम्यूला मिल्क ब्राण्ड डॉक्टर की सलाह ले कर चेंज भी कर सकती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें