गर्भावस्था की तैयारी

Question: मुझे लेफ्ट साइड ब्रेस्ट के नीचे पेन होता है ऑर लेफ्ट साइड हि अबदोमिन ऑर uterus me bhi hota है मुझे क्या krna chahiae ?

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear गर्भावस्था के दौरान स्त्री के शरीर में कई परिवर्तन आते हैं। इन सभी परिवर्तनों का प्रभाव कई बार दर्द और तकलीफ के रूप में आपके शरीर में दिख सकता है। इसलिेए इनसे घबराने की जरूरत नहीं है। गर्भावस्था में स्तनों में दर्द यानि ब्रेस्ट पेन सामान्य है।गर्भावस्था में ब्रेस्ट पेन से राहत पाने के लिए आप ये उपाय अपना सकती हैं। सही कपड़ों का चुनाव गर्भावस्‍था के दौरान फिटिंग ब्रा पहनने की आदत डालिए। इसलिए अच्‍छे गुणवत्‍ता की ब्रा ही खरीदिए। इस दौरान आपके स्‍तन फूल जाते हैं। चौड़े पट्टियों  वाली ब्रा ही पहनिए। जिस ब्रा में तार लगे हों उसे बिलकुल मत पहनिए। तीसरी तिमाही में बड़े कप साइज वाली ब्रा पहनिए। फिटिंग ब्रा पहनने से आपके स्‍तनों का मूवमेंट ज्‍यादा नही होता, जिसके कारण स्‍तनों में ज्‍यादा दर्द नही होता। रात में सोते वक्‍त भी फिट ब्रा पहनिए। गर्म और ठंडी सिंकाई स्‍तनों का दर्द कम करने के लिए हल्‍के गर्म और ठंडे पैक का प्रयोग कीजिए। आइस पैक स्‍तनों पर रखने से उनके ऊतक सुन्‍न हो जाते हैं, जिसके कारण सूजन भी कम हो जाती है। यदि आप गर्म पैक का प्रयोग कर रहे हैं तो उससे रक्‍त का संचार बढ़ जाता है जिसके कारण आपको आराम मिलेगा। हालांकि गर्म पैक का इस्‍तेमाल करने से स्‍तन ज्‍यादा सूज सकते हैं। लेकिन ध्‍यान रहे कि ज्‍यादा देर तक गर्म पैक को अपने स्‍तनों पर न रखें, इससे त्‍वचा को नुकसान हो सकता है। फास्ट फूड्स से बचें ट्रिगर फूड खाने से बचें। ट्रिगर फूड को फास्‍ट और जंक फूड भी कहते हैं। प्रेग्‍नेंसी के दौरान पिज्‍जा, बर्गर आदि खाने से परहेज कीजिए। इस दौरान ज्‍यादा नमक का सेवन करने से ब्रेस्‍ट में दर्द हो सकता है। ज्‍यादा मात्रा में पानी का सेवन कीजिए। पानी पीने से स्‍तन के दर्द से राहत मिलता है। व्यायाम करें नियमित रूप से व्‍यायाम करने की आदत डालिए। हर रोज कम से कम 20 मिनट तक व्‍यायाम कीजिए। व्‍यायाम करने से रक्‍त का संचार अच्‍छे से होता है और शरीर स्‍वस्‍थ रहता है। ये आसान करें पीठ के बल लेटकर गहरी सांस लीजिए, इस क्रिया को 10 मिनट तक करने से स्‍तन का दर्द कम होगा और आपको आराम मिलेगा। इसके अलावा पेन किलर दवाइयों को खाने से बचिए। यदि इन टिप्‍स को आजमाने के बाद भी आपके स्‍तनों का दर्द कम नही हो रहा हो तो एक बार अपने चिकित्‍सक से सलाह अवश्‍य लीजिए। गर्भावस्था के दौरान, पेट में हल्की-फुल्की समस्याएँ होना आम बात होती है। इस अवस्था में, पेट दर्द, विशेषकर पेट के निचले हिस्से में हल्का-हल्का दर्द भी हो सकता है प्रेगनेंसी के समय में ज्यादा वजन उठाने वाला काम करने और ज्यादा नीचे झुकने वाला काम करने से भी पेट दर्द हो सकता है जमीन पर ना बैठे और क्रॉस लेग करके नहीं बैठे वरना दर्द ज्यादा बढ़ सकता है पीठ के बल सोने की बजाए साइड की करवट लेकर सोना चाहिए  यह दर्द हील वाली सेंडिल पहने से भी हो सकता है इसलिए हमेशा स्लिपर ही पहने ज्यादा देर तक एक स्थिति में खड़े ना रहे  जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे लेफ्ट साइड नीचे की ओर पेन होता ह
उत्तर: hello यूट्रस हमारे बॉडी में लेफ्ट साइड पर होता है। जिसके कारण लेफ्ट साइड में ज्यादा खिंचाव का एहसास होता है। ज्यादा खिंचाव होने से और दर्द होने से आराम करना अच्छा रहता और सोते समय लेफ्ट करवट करके ही सोए।राइट करवट सोएंगे तो बच्चा लेफ्ट साइड से राइट साइड पर लटके गा जिसके कारण लेफ्ट साइड में खिंचाव होगा। और बच्चे का दबाव आंतरिक अंगों पर बनेगा जिसके कारण बच्चे को सही तरीके से ब्लड सप्लाई नहीं होता है इसलिए सोते समय ध्यान रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे लेफ्ट साइड मे ब्रेस्ट के नीचे बहुत पेन होता है थोड़ी स्वेलिंग भी रहती है पेन डेली रहता है
उत्तर: अगर आपको पेन के साथ-साथ स्वेलिंग भी है तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए डॉक्टर आप की स्पेलिंग देख कर आपको बेहतर salah देंगे हल्का-हल्का पेन हो सकता है क्योंकि प्रेग्नेंसी के आखिरी आखिरी समय पर बच्चे को पेट में कम जगह मिलती है जिससे कि वह ऊपर की ओर आ जाता है जिससे हमें पेट दर्द की शिकायत हो सकती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुजे पेट के नीचे के हिस्से मे कभी राइट साइड तो कभी लेफ्ट साइड पेन होता हे होता थोड़ी देर के लिए हि हे क्या कारण होगा इसका ?
उत्तर: hlo डियर प्रेग्नेन्सी मे thoda दर्द तों होता ही हे aap rest kare. अगर दर्द jada हो तो आप डॉक्टर से कन्सल्ट करे
»सभी उत्तरों को पढ़ें