11 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझे तिसरा महीना 2 तारीख से लगा है 2 महीने तक पेट मे दर्द रहता रहता था but अब मुझे कुछ भी फील नही हो रहा ना पेट दर्द ना गैस की शिकायत मुझे कुछ समझ मे नही आ रहा ब्लीडिंग की शिकायत भी nahi hai

1 Answers
सवाल
Answer: कोई तो उत्तर दो
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मैम मेरा पिरीयड 7जनवरी को आया था और अभी तक नही आया कुछ समझ मे नही आ रहा है
उत्तर: अगर आप प्रेगनेंसी के लिए कोशिश कर रहे हो और पीरियड मिस हुआ है तो आप बाजार से प्रेगनेंसी स्ट्रिप लाकर टेस्ट करे. अगर आपका टेस्ट पॉजिटिव आये तो आप प्रेग्नेंट हो.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मे ने अपना एम्ब्रीओ ट्रांसफ़र कराया है ,9 दीन तक मुझे पेट मे दर्द था मगर मुझे अभी कुछ भी मेहसुश नही हो रहा है एम्ब्रेयो ट्रान्स्फर के बाद ब्लीडिंग हो ना ज़रूरी है ,
उत्तर: देखा गया है कि आईवीएफ का चयन करना किसी भी जोड़े के लिए पहाड़ चढ़ने से कम नहीं होता है क्योंकि आईवीएफ में कई मामले देखें गए हैं जहां महिलाओं को गर्भपात का सामना करना पड़ता है या सफल प्रत्यारोपण के बावजूद भी आईवीएफ फेल हो जाता हैं. पहला कारण यह है कि आईवीएफ तकनीक इस्तेमाल करने वाली 50 फीसदी से अधिक महिलाओं में क्रोमोजोमल असामान्यताओं के कारण गर्भपात हो जाता है. अगर क्रोमोजोमल असामान्यताओं के बाद भी बच्चें का जन्म हो पाता है तो ऐसी असामान्यताओं वाला बच्चा मानसिक या शारीरिक रुप से परिपक्व नहीं होता है. दूसरा कारण, आईवीएफ विफल होने के कारणों में एक कारण गर्भाशय की परत परिपक्व नहीं होना है. उदाहरण के लिए, पॉलीसिस्टिक ओवरीसिंड्रोम (पी.सी.ओ) से पीड़ित महिलाओं को गर्भधारण में अधिक कठिनाई का सामना करना पड़ता है. तीसरा कारण, महिलाओं में 25 फीसदी भ्रूण का ट्रांसफर गलत दिनों में किया जाता है. जिससे महिला को गर्भपात का सामना करना पड़ता है, इसीलिए ई.आर.ए टेस्ट के जरिए भ्रूण आरोपण की सही खिड़की (डब्लू.ओ.आई) के बारे में सूचना मिलती है, साथ में, 60 फीसदी गर्भावस्था की दर में वृद्धि हो जाती हैं. तीसरा कारण, महिलाओं में 25 फीसदी भ्रूण का ट्रांसफर गलत दिनों में किया जाता है. जिससे महिला को गर्भपात का सामना करना पड़ता है, इसीलिए ई.आर.ए टेस्ट के जरिए भ्रूण आरोपण की सही खिड़की (डब्लू.ओ.आई) के बारे में सूचना मिलती है, साथ में, 60 फीसदी गर्भावस्था की दर में वृद्धि हो जाती हैं. सफल गर्भावस्था के लिए अपनाएं ये उपाय- तो ऐसी विफलताओं से निपटने के लिए आईजोनॉमिक्स के विशेषज्ञों का मानना है कि आईवीएफ विफलताओं से गुजर रहे युगलों को एंडोमेट्रियल रिसेप्टीविटी एनालिसिस (ई.आर.ए) और प्री इम्प्लांटेशन जेनेटिक स्क्रीनिंग (पी.जी.एस))जैसी तकनीकों को इस्तेमाल करना चाहिए, जिससे सफल गर्भावस्था की संभावनाएं बढ़ाई जा सके.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे अभी सिर्फ़ डेर month ही हुए ह पर मुझे ये समझ नही आ रहा कि मीयर पेट मै दर्द क्यू होता है और गैस की भी भोत शिकायत रहती है
उत्तर: डिअर हमे ज्यादा तर प्रेगनेंसी में यह प्रॉब्लम होती है पेट साफ न होना और गैस होना कब्ज प्रॉब्लम ये सब आम है इसलिए आप टेंशन न ले और कुछ उपाय करें कि जिससे आपको इस प्रॉब्लम से राहत मिले *प, क़ब्ज़ से बचने के लिए ऐसी चीजें अधिक खाये जिनमें फाइबर की मात्रा जादा हो जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां, फल और सलाद। अमरूद खाने से भी stomach clear रखने में मदद मिलती है। पत्तागोभी का जूस और पालक का जूस भी अच्छे पेट साफ करने के तरीके है। *नारियल पानी भी पेट साफ़ करने में मददगार है। प्रतिदिन नारियलL पानी सुबह खाली पेट पीने से बहुत फायदा मिलता है। * रात को अलसी के बीज एक गिलास हल्के गरम दूध के साथ सेवन करने से पेट साफ़ होने में मदद मिलती है। *पेट साफ़ रखने के लिए शरीर में अच्छे बैक्टेरिया होना जरुरी है। इसलिए दिन में एक से दो कप दही अपनी डाइट में शामिल करे। *. रात को एक चम्मच मेथी एक गिलास पानी के साथ सेवन करने से अगली सुबह पेट साफ़ हो जाएगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें