Few weeks old baby

Question: medam मुझे बहुत acidity banti है ऑर iske karan mere baby को भी ges ban rhi है mei kya करु

1 Answers
सवाल
Answer: नही अपने आप andar हो jayega pet khataai नही khana chahiye operation वालो ko
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे बहुत ges ban rhi है please mei kya khau एस जबकि mei kuch esa nhia kha rhi hu सलाद bhi khati hu taki pet साफ़ rhe
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पाचन तंत्र कमजोर हो जाता है और भोजन को पचने में परेशानी होती है हारमोंस परिवर्तन के कारण भी गैस की स्थिति निर्मित हो जाती है आप कुछ उपाय कर सकते हैं 1) आप अपने भोजन में 8 से 10 गिलास पानी पीजिए | 2) खाने में मिर्च मसाले तेल से तले हुए चटपटे खाने लेना कम कर de.. 3): आप अपने भोजन में दही ,छाछ का प्रयोग करना प्रारंभ कर दीजिए | 4) हल्का गुनगुना पानी और उसमें नींबू मिलाकर piye.. 5)जब भी खाना खाएं गरम, ताजा ही भोजन करें | भोजन एक साथ अधिक मात्रा में ना लेकर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में चार से पांच बार ले सकते हैं| 6) अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों चुकंदर, गाजर ,मूली का प्रयोग करें यह फाइबर युक्त होते हैं | 7अपने खाने में आप जीरा, अजवाइन ,कड़ी पत्ता का प्रयोग करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere baby को ges बहुत banti ह uske कारण वो सो नही pata main kya karu
उत्तर: बच्चों में गैस की समस्या का होना बहुत ही कॉमन है, अगर बच्चा फॉरम्यूला मिल्क पीता है तो सही तरीके से सही मात्रा मे हि दूध त्यार करे .बोतल से दूध पिलाते समय धयान रखें की बुलबुला ना bane. बच्चे को बोतल से दूध पिला रहे हैं तो उसका सिर उसके पेट से थोड़ा ऊपर रखें बेबी को अपने कंधें पर लगाएं और हाथ से उसकी पीठ को थपथपाएं या मलें बच्चे को पीठ के बल लिटा के पैरो को साइकल की तरह चलाये , बच्चे के पेट से गैस निकलेगा . गुनगुना पानी से बच्चों को नहलाने से भी बच्चों को गैस मे आराम मिलता है . आप बेबी के नाभि के पास थोड़ा हींग पानी मे मिलाकर भी लगा सकती है . हींग की बहुत ठोड़ी मात्रा हि लें . अगर बच्चा गैस की वजह से बहुत रों रहा है तो आप डॉक्टर से दिखाये , बच्चे की ऐज की हिसाब से बच्चे के लीई कोई गैस की दवाई सजेस्ट करेगें , पर आप अपने मन से कोई दवाई ना दे .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे 8 वा मंथ चल रहा है ऑर बहुत aciditi ban rahi h kya करु
उत्तर: हेलो डियर--- अक्सर महिलाओं को पहली बार गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी और छाती या पेट में जलन दरद और गैस होती है।गर्भावस्था के दौरान सीने में जलन और दरद एसिडिटी शरीर में हॉरमोनल बदलावों के कारण होती है। तैलीय या चटपटा मसालेदार खाना चॉकलेट, खट्टे फल, चाय और कॉफी, एसिडिटी को बढ़ाते है। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही लेने से एसिडिटी और जलन में आराम मिलता है।गर्भावस्था मे 12 गिलास पानी पीना चाहीये।एसीडिटि से बचने के लिये सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए जीर्ण भोजन न करें जल्दी पचने वाले हल्के और सुपाच्य भोजन और फल फुल जूस हरी सब्जियां आदि लें।खाना खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही सोना चाहिए जादा परेशानि होने पर डाक्टर से सलाह लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें