21 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझे बहुत जोर्ज सर्दी हुई है .. आँख और नाक से पनि निकाल रहा है .. टु क्या karun

3 Answers
सवाल
Answer: गुड मॉर्निंग मैम आप इस गर्भावस्था के दौरान घरेलू उपचार करें तो ज्यादा बेहतर होगा आप हर्बल चाय या गर्म पानी और नींबू के साथ शहद के दो चम्मच मिलाकर आपको काफी आराम होगा आप नमक और पानी के साथ गरारे करें पानी गर्म है यह आपके कफ को काफी हद तक बाहर निकालने में मदद कर सकता है स्टीम भी ले सकते हैं कफ को तुरंत ढीला करने में मदद करती है आप गर्म दूध में हल्दी डालकर पी सकते हैं उससे भी आपको बलगम में काफी आराम मिलेगा गर्म सूप इसमें आपको खांसी खांसी से राहत मिलेगी इसमें मौजूद प्याज लहसुन अदरक और काली में जैसे मसालेदार पदार्थ आपके गले को काफी आराम पहुंचाएंगे सूखी अदरक और काली मिर्च का मिश्रा चुरा एक अच्छी औषधि है आप इसमें मिश्री भी डाल सकती हैं आपको अपनी जीभ पर इससे जुड़े जुड़े को केवल एक छोटी चुटकी लगाने की जरूरत है इससे आपको काफी आराम मिल जाएगा
Answer: सर्दी से बचने के लिए आपको उबला हुआ पानी पीना चाहिए । स्टीम लेनी चाहिए । आप को गर्म पानी में नमक डालकर गैर्गल करना चाहिए। साथ ही तरल पदार्थों का सेवन अधिक करें।  ताजे फल, सब्जियां और साबुत अनाज शामिल अपने भोजन में शामिल करें। इन सबसे बने विविध आहार आपको खनिज व विटामिन प्रदान करेंगे, जिससे आपको संक्रमणों से लड़ने में सहायता मिलेगी।
Answer: सुक्रिया .....
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी को जोर से सर्दी हो गयी है आँख और नाक से पानी आ रहा है क्या करूँ
उत्तर: सर्दी और जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  अजवाइन के सूखे दाने को तवे पे भून लीजिये, अब एक सूती के रूमाल में इसे बांध के एक पोटली बना लीजिये, यह पोटली जब हल्का गरम रहे, उसी वक्त इससे बेबी की छाती, पीठ, पैर के तलुए, और हाटों की हटेलियोँ पे घिसिये. इससे सर्दी और जुकाम में आराम पहुंचेगा लहसून के कुछ फाकों को सरसों के तेल में भून लीजिये,इस तेल को बेबी की गर्दन, छाती, पीठ और पैर के तलुओं पे लगाइये एक चम्मच सेंधा नमक में गरम सरसों का तेल मिलके इस मिश्रण से बेबी की छाती और पीठ पे मालिश करें मालिश वाले तेल में कुछ तुलसी के पत्तों को डाल सकती हैं। तुलसी वाला मालिश का तेल त्यार करने के लिया आप तीन चम्मच नारियल का तेल ले लीजिये, नारियल के तेल को गरम कीजिये,अब इसमें तुलसी के पत्तों को कुचल कर तेल में मिलाइये. इस तरह से कुचलने से तुलसी के पत्तों का अर्क नारियल के तेल में मिल जायेगा.नारियल का तेल तुलसी के पत्तों के सरे उपयोगी गुणों को सोख लेगा नरम कपडे या स्पंज का उपयोग कर बच्चे के कुछ भाग जैसे बगल, पैर और हाथो को भी पोछ सकते हो, इससे बच्चे ke शरीर का तापमान भी कम होगा यदि आप फैन चला रहे हो तो ध्यान रहे की इसे धीमी स्पीड पर ही चलाये, ध्यान रहे की आपका बच्चे सीधे पंखे के निचे ना सोया हो. नरम कपडे को पानी में भिगोकर ठंड़ी पट्टी बच्चे के सिर पर रख, पट्टी पूरी तरह से सुख जाये तब समझ जाये की पट्टी ने बुखार सोख लिया है और इससे शरीर का तापमान भी कम होता है. एस
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी की आँख से बोहोत पनि ऑर गन्दा निकाल रहा है क्या करु
उत्तर: छोटे बच्चों में आँखों के चिपकने की और पानी आने की समस्या काफी आम है, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि डक्ट सिस्टम में आंसू का प्रवाह कम हो जाता है, जिस कारण इस तरह की समस्या होती है यदि बच्चे के आँखों से लागातार पानी निकल रहा हो तो ऐसे में बच्चे की आंसू नलिका block हो सकती है, साथ ही आँख से संबंधित दूसरा इंफेक्शन भी हो सकता है.अगर आपको लगे कि बच्चे की आंखों से लगातार पानी गिर रहा है तो आप डॉक्टर से जरूर दिखाएं आप अपने बच्चे को नाक के पास हल्के हांथों से मसाज करें जिससे कि उनके टियर डक्ट का विकास हो सके, इसके अलावा, कॉटन बॉल को पानी की मदद से आँखों को साफ करने की कोशिश करें और जो एक बात है जिसका ध्यान रखा जाना चाहिए वह यह है कि आप बेबी को को ठंड से बचा कर रखें,ऐसा करने से कुछ ही दिनों में बच्चे को इस समस्या से निजात मिलेगी .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी 6 मंथ का हुआ है उसको सर्दी हुई है नाक से पनि बेह रहा है कुछ उपाय बताइए
उत्तर: हेलो डियर छोटे बच्चों को अक्सर मौसम बदलने की वजह से सर्दी जुकाम की समस्या हो जाती है लेकिन आप घबराएं नहीं आपको जो पाए से अपनी बेबी को सर्दी जुखाम में राहत दिला सकते हैं 5 या 10 लहसुन को सरसों के तेल का तड़का अजवाइन का बीज के सन्त तड़का दें ऑर ठण्डा करकें रख लें फ़िर बेबी के सर छाती गले में मलीस करें भाप दें बेबी को अजवाइन को थोड़ा शा भून कर उसे पोटली बना कर रखें फ़िर उसको बेबी के नाक के पास सुनघऐ सर्दी या परेसानी ज्यदा होने की स्थिति में डॉक्टर से बेबी को सुलाने के टाइम पतला सा तकिया सर पर रख कर सुनाएं इससे बेबी का सर पर उठा रहेगा तो उसको सांस लेने में प्रॉब्लम नहीं होगी और बेबी अच्छे से सो पाएगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें