27 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझे पेल्विक पेन हो रह ह ओर पेट एम भी रुक रुक के पेन होता ह एम क्या करु

1 Answers
सवाल
Answer: डियर परेगेंसी में हलक फूलक पेन होना to कोई बड़ी bat नहीं है पर अगर आपको पेन कुछ ज्यादा है to आप अपने डॉक्टर से मिले
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे सुबह से पेट मे दर्द ह रुक रुक कर पेन हो रहा ह वाइट डिस चार्ज भी हो रहा मुझे क्या करना चाहिए
उत्तर: अभी आपको ३९ वीक हुए है. आपके ये लक्षण लेबर पेन की शुरुआत भी हो सकती है. में आपको लेबर पेन के लक्षण बताती हु वो ध्यान से पढ़े और जरुरत पड़ने पर अस्पताल जाये. लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है ।ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द , उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है ।जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे, जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो, इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो, आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो, तो यह प्रसव का ही एक लक्षण है।अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो बुखार सिरदर्द या पेट में दर्द हो। तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले. गर्भावस्था के दौरान आपका शिशु एक तरल पदार्थ से भरी थैली से घिरा रहता है जिसे एमनीओटिक सैक कहते हैं। आपके प्रसव के शुरुवात में संकुचन के साथ-साथ आपके एमनीओटिक सैक की झिल्ली टूट जाएगी। इसके द्वारा आपके शरीर से एक रंगहीन स्त्राव निकलेगा जिसे वाटर ब्रेक कहते हैं. वाटर ब्रेक होने पर लेडी को बॉडी से कुछ गिरने जैसा फील होता है जहाँ किसी तरल पदार्थ की धारा के गिरने जैसा महसूस होता है।गर्भवती महिला को कहा जाता है की अगर उनका वाटर ब्रेक हो गया है तो उन्हें शिशु का जन्म २४ घंटे के अंदर ही कर देना चाहिए। वाटर ब्रेक के साथ आप को दर्द हो भी सकता है या कई बार नहीं भी होता. पर वाटर ब्रेक हो जाये तो डॉ क पास तुरंत जाये.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेट के निचले हिस्से में कल से रुक रुक के बहुत पेन हो रहा है बँटाओ मैं क्या करु
उत्तर: अभी आप ३९ वीक प्रेग्नेंट हो. आपको पेट का दर्द लेबर पेन की शुरुआत भी हो सकती है. में आपको लेबर पेन के लक्षण बताती हु वो ध्यान से पढ़े और जरुरत पड़ने पर अस्पताल जाये. लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है ।ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द , उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है ।जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे, जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो, इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो, आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो, तो यह प्रसव का ही एक लक्षण है।अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो बुखार सिरदर्द या पेट में दर्द हो। तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले. गर्भावस्था के दौरान आपका शिशु एक तरल पदार्थ से भरी थैली से घिरा रहता है जिसे एमनीओटिक सैक कहते हैं। आपके प्रसव के शुरुवात में संकुचन के साथ-साथ आपके एमनीओटिक सैक की झिल्ली टूट जाएगी। इसके द्वारा आपके शरीर से एक रंगहीन स्त्राव निकलेगा जिसे वाटर ब्रेक कहते हैं. वाटर ब्रेक होने पर लेडी को बॉडी से कुछ गिरने जैसा फील होता है जहाँ किसी तरल पदार्थ की धारा के गिरने जैसा महसूस होता है।गर्भवती महिला को कहा जाता है की अगर उनका वाटर ब्रेक हो गया है तो उन्हें शिशु का जन्म २४ घंटे के अंदर ही कर देना चाहिए। वाटर ब्रेक के साथ आप को दर्द हो भी सकता है या कई बार नहीं भी होता. पर वाटर ब्रेक हो जाये तो डॉ क पास तुरंत जाये.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: में रे स्टोमैक मे पेन है ो रहा ह रुक रुक के होता है
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेंसी में ं ं हल्का फुल्का पेट में दर्द हो ना नॉर्मल है प्रेग्नेंसी में होने वाले हार्मोनल पर िवर्तन की वजह से ऐसा होता है ।आप परेशान ना हो।कभी कभी पेट दर्द गैस और कब्ज की वाजह से भी होने लगता है इसलिए आप सन्तुलित और पौष्टिक फ़ूड खाइए ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीजीए ।तनाव मुक्त रहिए।कोई भी भारी समान ना उठाये ।ज्यादा देर तक एक ही जगह पर खडे ना रहे और ना ही बैठे।रात मे एक ही करवट लेकर ना सोए।अगर ज्यादा तेज पेट मे दर्द होता है तो डॉक्टर से सलाह लीजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें