21 weeks pregnant mother

Question: मुझे नॉर्मल डि ली व र ई सें डर लगतa है

1 Answers
सवाल
Answer: hello प्रेगनेंसी में नॉर्मल डिलीवरी नेचुरल प्रोसेस है । यह ना तो भयानक होता है और ना ही असहनीय। हमारे आसपास डॉक्टर्स और नर्सेज की पूरी प्रशिक्षित टीम होती है जो हर पल हमारे साथ होते हैं। अगर हम बच्चे को 9 महीने तक अपने गर्भ में रख सकते हैं। और इन 9 महीने के दौरान हर रोज एक नई चुनौती का सामना कर सकते हैं रोज़ एक नए तरीके का दर्द सह सकते हैं तो डिलीवरी के 2 से 4 घंटे का दर्द इसके सामने कुछ भी नहीं है। और इसे हम ही कर सकते हैं इसलिए ईश्वर में यह काम हमें सौंपा है। इसलिए आप निश्चिंत रहिए कोई भी परेशानी नहीं होने वाली जब डॉक्टर आपको लेबर पेन के समय पूश करने कहे तो आप पूरी ताकत से पूश करिए बहुत जल्द बेबी बाहर आएगा और उसके रोने की आवाज से आप अपने सारे दर्द को भूल जाएंगे। और जब उसे आप अपनी गोद में लेंगे तो जो गर्व औरखुशी आप अपने आप पर महसूस करेंगे वह अनमोल होता है इससे बढ़कर दुनिया में कोई खुशी और कोई शांति नहीं होती। गोद में बेबी का आना एक नारी के लिए पूर्णता का परिचायक होता है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी नॉर्मल डि ली व री हो सकती है पहला बच्चा सी ज र से हुआ है
उत्तर: hello ma'am apko apki pregnancy ke liye badhai, ma'am main apko batana chahungi ki ye predict karna bilkul impossible hai, apki agar pehle c section hua hai to next kaise delivery hogi ye apko uss time pe pata chal sakega and apke doctor hi apko suggest karenge...isiliye filhaal app stress na le...relax kare.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ह र व क त डा ई प र प ह ना ना kya sahi h
उत्तर: बच्चो को डाइपर लगा तार ना पहनाये। आप हर ४ से ६ घंटे में डाइपर चेंज करती रहे। जयादा समय तक डाइपर पहनाने से बच्चे को गीलेपन से तकलीफ हो सकती हैं। उसकी नींद खुल सकती है या उसे ठंड लग सकती है या सर्दी। ज्यादा देर तक डाइपर पहनाने से उन्हें इन्फेक्शन होने का भी चांस रहता है। इस्लिय समय समय पर डाइपर बदल ले।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: में री पे ह ली डि ले व री ओ प रे श न से हु ई हे तो दू स री नो र म ल हो स क ती हे
उत्तर: yadi aap ki puri pregnancy normal or healthy rehti hai toh aap ki normal delivery hone ke chance Badh जायेंगे । नॉर्मल डिलीवरी के लिए बहुत जरूरी है कि प्रेग्नेंसी में आप क्या खा रहे हैं और क्या नहीं खा रहे हैं यह भी आपके नोर्मल डिलिवरी योगदान देते हैं। ऐसी अवस्था में आप सही समय पर सही आहार खाएं। प्रेगनेंसी में आयरन और कैल्शियम की कमी नहीं होनी देनी चाहिए इसके लिए हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए.अपने आहार में  जूस, अंडा और फल आदि को शामिल करें। इससे आपको और आपके पेट में पल रहे बच्चे को प्रोटीन और विटामिन मिलते रहेंगे। गर्भावस्था के दौरान यह ध्यान रखिए कि शरीर में पानी की कमी न हो। पानी केवल आपको हाइड्रेटेड ही नहीं रखता बल्कि नोर्मल डिलिवरी पाने में आपकी सहायता भी करता है। गर्भवती महिला को हर दिन रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पीना सेहतमंद होता है और पानी की कमी दूर होती है प्रेग्नेंसी में नॉर्मल डिलीवरी हो इसके लिए आप सांस लेने वाले प्राणायाम कर सकती हैं। इसका फायदा यह होता है कि उचित और पर्याप्त ऑक्सीजन बेबी को मिलती रहती है, जिससे बच्चे का सही तरह से विकास भी होता है। इसलिए नियमित रूप से ध्यान और सांस लेने वाले प्राणायाम कीजिए। अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए और 10 से 12 गिलास पानी प्रतिदिन पीना चाहिए तथा नारियल पानी का सेवन प्रतिदिन करना चाहिए इससे आपका शरीर हाइड्रेटेड रहेगा और आपको जल्दी कोई संक्रमण नहीं होगा यह भी नॉर्मल डिलीवरी के लिए सहायक है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें