20 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझे नीन्द नही आती पुरी रात ऑर एम डिन एम बी नही सोती क्या karu

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो प्रेगनेंसी में बहुत लोगों को नींद नहीं आने की प्रॉब्लम होती है। इसका कारण हारमोनर चेंजेस है जो प्रेगनेंसी के दौरान होते हैं। अगर आप नींद नहीं आने की समस्या से ग्रस्त हैं तो आप अपना एक रूटीन बनाएं। सुबह उठने का नाश्ते का लंच का दोपहर रेस्ट का इवनिंग वॉक का और डिनर का फिर रात में सोने का कुछ दिन आप एक टाइम टेबल पर इस रुटीन को फॉलो करेंगे तो धीरे-धीरे आपको आपकी समस्या से छुटकारा मिलेगा। आप सोने से पहले गुनगुना दूध पीकर सोए। कुछ अच्छे बुक्स पढ़ते हुए सोए। अगर टीवी देखते हुए सोने की आदत है तो तेज आवाज में ना देखें । कम आवाज में अपने मनपसंद की चीजें देखें चाहे तो आप गाने भी सुन सकते हैं। मॉर्निंग वॉक और इवनिंग वॉक जरूर ले। वाॅक लेने से हमारे शरीर में ऑक्सीजन की कमी नहीं होती जिसके कारण हमें बेचैनी नहीं होती और नींद अच्छी आती है। ज्यादा से ज्यादा पानी पीयेे
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे रात एम नीन्द नही आती ऑर भूक भि नही लगती एच
उत्तर: भले ही आपको भूख लगे या न लगे आप समय पर, पोषक आहार लीजिए क्योंकि यह आपके और आपके बेबी के लिए बेहद जरूरी है। भले ही आपका मन खाने का न कर रहा हो, लेकिन जब आप एक बार धीरे-धीरे खाना शुरू करेंगी तो आपको भूख का अहसास भी होने लगेगा। साथ ही अपने आहार में ऐसी चीजों को भी शामिल कर लीजिए जिनसे आपकी भूख बढे प्रेग्‍नेंसी के दिनों में भूख बढ़ाने के लिए यह सबसे खास टिप्‍स है कि गर्भवती महिला एक साथ भोजन न करके थोड़ी - थोड़ी देर पर कुछ - कुछ खाती रहें। गर्भावस्‍था के दिनों में हल्‍का व्‍यायाम करें, इससे भूख में बढ़ोत्‍तरी होगी। व्‍यायाम करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह अवश्‍य लें। गर्भावस्‍था के दिनों में हेल्‍दी स्‍नैक्‍स खाएं। इनके सेवन से गर्भवती महिला की भूख में वृद्धि होती है और पाचन क्रिया में भी सुधार आता है। गर्भावस्‍था के दिनों में अगर आप एक ही प्रकार का भोजन खाकर तंग आ गई है तो कुछ नया ट्राई करें, बस वो भोजन ऐसा हो, जो आपको और आपके बच्‍चे को ताकत दें। फूड के स्‍वाद और सूरत में बदलाव आने से खाने का मन करता है। इस चरण के आखिर में पेटदर्द जैसी शिकायतें नींद में खलल डाल सकती हैं। गर्भ में हलचल और सीने में जलन से भी उनकी नींद प्रभावित हो सकती है। ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ जैसे पानी, जूस आदि लें। लेकिन बिस्तर पर जाने से कुछ देर पहले तरल पदार्थ न लें। इससे रात में बार-बार पेशाब के लिए उठने की जरूरत कम पड़ेगी और नींद में खलल नहीं पड़ेगा। प्रेग्नेंसी के दौरान की जाने वाली एक्सरसाइज और टहलना नियमित रखें। इससे शरीर में रक्तका प्रवाह सही बना रहता है। रात में पैरों में ऎंठन की परेशानी कम करने में मदद मिलती है। एक्सरसाइज सुबह के समय करनी ज्यादा फायदेमंद होती है। गर्भवती महिला को हर समय खुश रहने का प्रयास करना चाहिए और परेशानी को दूसरों से शेयर कर लेना चाहिए। प्रेग्नेंसी के तीसरे चरण में बाएं करवट सोने से गर्भ, किडनी और यूट्रस तक रक्त का प्रवाह बेहतर होता है। प्रेग्नेंसी के इस चरण में ज्यादा वक्त सीधे पीठ के बल नहीं सोना चाहिए वर्ना रक्त का प्रवाह सही न होने पर कई परेशानियां हो सकती हैं और कोई भी परेशानी नींद खराब कर सकती है। प्रेग्नेंसी के दौरान खाना खाने के एक से दो घंटे तक बिस्तर में जाने से बचना चाहिए। अगर ऎसी परेशानी होती है तो सोने के दौरान सिर ऊंचा रखने के लिए तकिए का प्रयोग कर सकती हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे पुरी रात नीन्द नही आती क्या करे
उत्तर: डियर , गर्भावस्था में ऐसा महसूस करना एकदम नॉर्मल है क्योंकि इस दौरान शरीर में बहुत सारे आ रहे होते हैं .... आपके शरीर में हारमोंस के बदलने के साथ-साथ जो बच्चा ग्रो कर रहा है उसकी वजह से नींद आने में परेशानी हो जाती है ... आप रात को सोते टाइम गर्म दूध पीकर सोये ... इसके साथ ही कोशिश करें कि सोने से पहले मोबाइल , टीवी ना देखें ... आप कोई अच्छी किताब पढ़ सकती हैं या लाइट म्यूजिक सुन सकती हैं ... अपनी दिनचर्या बनाई. सोने का समय निश्चित करें .चाहे तो दोपहर में भी 2 घंटे सो लिया करें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डॉक्टर मुझे रात मि नीन्द नही आती एच .बहुत बेचनी रहती ह .एम क्या karu
उत्तर: हेलो डिअर ऐसा होता है प्रेगनेंसी में नींद नहीं आती आप चिंता नहीं करें सबसे पहले चिंता मुक्त हो जाए रत में सोने से प[ेहले फ्रेश हो जाया करें पैरो को धो कर हलके गुनगुने तेल से मालिश कर लिया करें और दिन में काम से काम सोये रात में सोने के लिए जाए उस टाइम कोई किताब या म्यूजिक सुने टेंशन फ्री रहे अच्छा सोचे नींद आ जाएगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें