36 weeks pregnant mother

Question: मुझे कल रात से बहुत जल्दी -2 टॉयलेट आ रहा है और पेट के निचले हिस्से मे दरद वी हो रहा है क्या यह नॉर्मल hai

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर , प्रेग्नेंसीय में हार्मोन चेंज होने की वजह से बार बार टॉयलेट होता है , ऐसे बेबी का आकार बड़ा होने की वजह से गर्भाश्यय बढ़ जाता है और जिसकी वजह से टॉयलेट वाली थैली में अधिक भार लगने लगने लगता हैं ऐसे में थोड़ा सा भी टॉयलेट आने पर बहुत अधिक दाब पड़ता है , और बार बार टॉयलेट होता हैं और ऐसे आप यही उपाय कर सकती है , रात को सोने के 2 घंटे पहले पानी या लिक्विड चीजे न ले , चाय , काफी , सॉफ्ट ड्रिंक आ प्रयोग न करे , और जब भी बाथरूम लगे टॉयलेट करे और पेट खाली कर दे जिससे आपको जल्दी ही आराम मिल जाएगा , ऐसे में प्रेग्नेंसीय में आपका यूट्रेस बढ़ जाता है जिसकी वजह के पेट कर निचले हिस्से या नाभि के आस पास में दर्द होने लगता है ऐसे में गर्भाशय को सहारा देने वाली मासपेशियो में दर्द होने की वजह से पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है , ऐसा दर्द होता है तो ऐसा होना नार्मल बात है आपको जब ऐसा दर्द हो तब आप आराम कर ले , खूब पाने पीती रहे ,दर्द होने पर हल्की हल्की गुनगुनी पट्टी से सिकाई कर सकते है प्रेग्नेंसीय में ऐसा दर्द नार्मल होता है अगर ये दर्द असहनीय हो यो आप तुरंत डॉक्टर को दिखाए।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे सवेरे से पेट के निचले हिस्से में दर्द हो रहा है क्या यह नॉर्मल है
उत्तर: प्रेगनेंसी में कभी कभी पेट में और आपकी छाती में या स्तन में दर्द होना आम बात है| प्रेग्नेंसी के दौरान आपका गर्भाशय बड़ा हो रहा है जिसकी वजह से डायाफ्राम पर भी प्रेशर आता है| डायाफ्राम पेट और छाती को अलग करने वाली एक पतली सी झिल्ली है| तो इस वजह से आपको ब्रेस्ट में थोड़ा पेन हो सकता है| प्रेग्नेंसी के दरमियान ब्रेस्ट का कद भी थोड़ा बढ़ता है और इस प्रक्रिया के दरमियान भी थोड़ा दर्द होता है| प्रेगनेंसी में पेट और छाती या ब्रेस्ट में दर्द का दूसरा कारण इनडाइजेशन या गैस की समस्या हो सकता है| प्रेगनेंसी में कई चीजों खाने से इनडाइजेशन हो सकता है और जिससे गैस की समस्या से कारण पेट या तो फिर छाती में दर्द या जलन होता है| ऐसा ना हो इसके लिए आप खाने में ध्यान रखें| ज्यादा ऑइली य स्पाइसी फूड ना खाएं| और जब भी खाना खाए थोड़ा-थोड़ा करके ज्यादा बार खाए एक बार बहुत सारा खाना ना खाए|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे 36 हफ्ते की प्रेग्नेन्सी है और कल रात से पेट के निचले हिस्से में रह रह कर दर्द हो रहा है क्या यह laber
उत्तर: दर्द पेट में बढ़ते वजन से या गैस से भी हो सकता है. या तो लेबर पेन की शुरुआत भी हो सकती है. में आपको लेबर पेन के लक्षण बताती हु वो ध्यान से पढ़े और जरुरत पड़ने पर अस्पताल जाये. लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है ।ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द , उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है ।जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे, जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो, इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो, आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो, तो यह प्रसव का ही एक लक्षण है।अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो बुखार सिरदर्द या पेट में दर्द हो। तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले. गर्भावस्था के दौरान आपका शिशु एक तरल पदार्थ से भरी थैली से घिरा रहता है जिसे एमनीओटिक सैक कहते हैं। आपके प्रसव के शुरुवात में संकुचन के साथ-साथ आपके एमनीओटिक सैक की झिल्ली टूट जाएगी। इसके द्वारा आपके शरीर से एक रंगहीन स्त्राव निकलेगा जिसे वाटर ब्रेक कहते हैं. वाटर ब्रेक होने पर लेडी को बॉडी से कुछ गिरने जैसा फील होता है जहाँ किसी तरल पदार्थ की धारा के गिरने जैसा महसूस होता है।गर्भवती महिला को कहा जाता है की अगर उनका वाटर ब्रेक हो गया है तो उन्हें शिशु का जन्म २४ घंटे के अंदर ही कर देना चाहिए। वाटर ब्रेक के साथ आप को दर्द हो भी सकता है या कई बार नहीं भी होता. पर वाटर ब्रेक हो जाये तो डॉ क पास तुरंत जाये.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे पेट के निचले हिस्से मे हल्का दरद हो रहा है मे क्या करु ..
उत्तर: हेलों आपको पेट में हलका दर्द होता है जैसे जैसे गर्भाशय बढ़ता है, राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव होता है, जिस कारण निचले पेट में दर्द होता है। जब आप अचानक अपनी स्थिति बदलती हैं तो दर्द तेज़ या बहुत तेज़ हो सकता है। आप ऐसे में लेफ्ट साइड लेट कर दर्द को कम कर सकती है या आपको जिस साइड दर्द हो रहा है उसके अपोजिट साइड लेट कर दर्द कम कर सकती है ऐसे कोई भी काम ना करे कि पेट में तनाव पड़े क्रॉस लेग ना बैठे दर्द अगर ज़्यादा हो तो डॉक्टर से सलाह ले.कोशिश करें कि ज्यादा देर खड़ी भी ना रहे एक ही पोजीशन में ना बैठे , अपनी पोजीशन बदलते रहे साथ ही अगर आप हील वाली चप्पल या सैंडल पहनती हैं तो अवॉयड करें जब भी आप सो कर उठे तो एकदम से ना उठे हैं पहले करवट ले फिर उठे हैं. अपना ध्यान रखें अपने खाने-पीने का ध्यान रखें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें