14 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुझे ऍसिडिटी होती हे उससे बचने के लिए क्या करना चाहिये

2 Answers
सवाल
Answer: hello dear garbhavastha ke दौरान गर्भवती स्त्रियों को हार्मोन अल बदलाव के कारण एसिडिटी जैसी समस्याएं हो जाती है।गर्भावस्था के दौरान सीने में जलन और दरद एसिडिटी शरीर में हॉरमोनल बदलावों के कारण होती है। तैलीय या चटपटा मसालेदार खाना चॉकलेट, खट्टे फल, चाय और कॉफी, एसिडिटी को बढ़ाते है। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही लेने से एसिडिटी और जलन में आराम मिलता है।गर्भावस्था मे 12 गिलास पानी पीना चाहीये।एसीडिटि से बचने के लिये सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए जीर्ण भोजन न करें जल्दी पचने वाले हल्के और सुपाच्य भोजन और फल फुल जूस हरी सब्जियां आदि लें।खाना खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही सोना चाहिए जादा परेशानि होने पर डाक्टर से सलाह लें।
Answer: एसिडिटी शरीर में हार्मोनल और शारीरिक बदलाव के कारण होती हैआप कुछ उपाय अपनाकर इसे अवश्य कम कर सकते हैं एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही के सेवन से आपको एसिडिटी में आराम होगा केला खाने से भी एसिडिटी में आराम मिलता है इस समय आप को यह सब चीजें अवॉइड करनी चाहिए जैसे कि तैलीय मसालेदार भोजन खट्टे फल चॉकलेट कॉफी यह सब खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं इसलिए इनसे दूरी बनानी चाहिए, टोमेटो केचप डिब्बाबंद चीजें ना खाएं क्योंकि इनमें प्रिजर्वेटिव्स यूज करते हैं जो कि एसिडिटी को बढ़ाते हैं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हाय.. मैं 5 सप्ताह की गर्भवती हूँ और मुझे PCOD की समस्या है। कृपया मुझे बताएं कि बेबी के स्वस्थ विकास के लिए मुझे क्या करना चाहिए?
उत्तर: हैलो... प्रेगनेंसी के दौरान आपको जो खाने का मन हो आप खा सकती हैं, लेकिन भोजन आपके एवं आपके बढ़ते बचे के लिए सही होना भी ज़रूरी है। एक संतुलित आहार जिसमें पोषक तत्वों और खनिज पदार्थों की भरमार हो, आपके लिए महत्वपूर्ण है। प्रोटीन युक्त भोज्य पदार्थ जैसे चिकन, मछली, आदि का सेवन करें। इससे आपको ओमेगा 3 फैटी एसिड भी मिलेगा, जो दिमाग के विकास में सहायक होता है। आपको शरीर में तरल पदार्थ की मात्रा बनाए रखना होगा। इसके लिए बार-बार पानी पिएं, छाछ, फ्रूट जूस, मिल्क शेक पीती रहें। बेबी का वजन बढ़ाने के लिए अपने भोजन में डेयरी उत्पाद, घी आदि शामिल करें। फल, हरी पत्तेदार सब्जियां, फाइबर युक्त भोज्य पदार्थ को अपने आहार में ज़रूर शामिल करें। सिट्रस फ्रूट का सेवन न करें इससे आपको एसिडिटी की समस्या हो सकती है। पपीता या अनानास का सेवन न करें। इनमे एस्ट्रोजन की मात्रा अधिक होती है, जिससे आपके बच्चे को नुकशान हो सकता है। खुली हवा में थोड़ी देर सैर करें और एक्सरसाइज करें। यह आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: नॉर्मल डिलिवरी के लिए क्या करना चाहिये
उत्तर: लेबर पेन के समय शरीर में खून की कमी नहीं होनी चाहिए इसलिए नियमित रूप से ब्लड टेस्ट करवाएं और खानपान का ध्यान रखें नार्मल डिलीवरी के लिए शारीरिक रूप से हेल्दी रहना चाहिए प्रेग्नेंट लेडी की डाइट में विटामिन, कैल्शियम और प्रोटीन की मात्रा अधिक रखें इसके अलावा ताजा फल हरी सब्जियां खाना चाहिए साथी समय पर खाना बहुत जरूरी है गर्भावस्था के दौरान शरीर में पानी की कमी ना होने दें नॉर्मल प्रेगनेंसी के दौरान मेथी का सेवन करने से भी नार्मल प्रेगनेंसी में फायदा मिलता है नवे महीने में आपको ghee का सेवन भी करना चाहिए यह भी नॉर्मल डिलीवरी होने में मदद करता है नॉर्मल डिलीवरी के लिए एक्सरसाइज और योग करने से भी फायदा मिलता है इससे पेट और कमर की मांसपेशियां बहुत मजबूत होती हैं नियमित तौर पर आप केसर वाला दूध भी पी सकते हैं इसके पीने से भी नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस बढ़ जाते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ऍसिडिटी से बचने के लिए क्या करना चाहिए
उत्तर: hello dear pregnancy me gas ki samasya Hona 1 normal baat hai aap kuch changes Apne daily routine me kre... 1) आप अपने भोजन में 8 से 10 गिलास पानी पीजिए | 2) खाने में मिर्च मसाले तेल से तले हुए चटपटे खाने लेना कम कर de.. 3): आप अपने भोजन में दही ,छाछ का प्रयोग करना प्रारंभ कर दीजिए | 4) हल्का गुनगुना पानी और उसमें नींबू मिलाकर piye.. 5)जब भी खाना खाएं गरम, ताजा ही भोजन करें | भोजन एक साथ अधिक मात्रा में ना लेकर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में चार से पांच बार ले सकते हैं| 6) अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों चुकंदर, गाजर ,मूली का प्रयोग करें यह फाइबर युक्त होते हैं | 7अपने खाने में आप जीरा, अजवाइन ,कड़ी पत्ता का प्रयोग करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें