30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुजे सास लेनें मे प्रॉब्लम होती है मुजे 8th month स्टार्ट ho रहा है

3 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर गनेंसी में सांस lene meप्रॉब्लम बहुत आम बात है यह इसलिए होता है की आपको और आपके बेबी को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन चाहिए होता है जिस वजह से पूर्ति ना होने के कारण सांस फूलने की प्रॉब्लम आ जाती है इसके आप कुछ उपाय कर सकते हैं जिससे आपको सांस फूलने की प्रॉब्लम नहीं होगी संतुलित आहार करें ज्यादा तला-भुना खाना ना खाएं खाना खाने के बाद तुरंत आराम ना करें और बिस्तर par na लेते हैं peeth के बल या पेट के बल ना सोए करवट लेकर ही सोए ज्यादा धूल और धुएं वाले जगहों में जाने से बचें नियमित व्यायाम करें और अपना फुलाने जैसा व्यायाम करें पुगा फुलाने से आपको सांस लेने में प्रॉब्लम नहीं होगी और आपको अच्छा लगेगा साथ छोड़ने और सांस लेने वाला व्यायाम करें
Answer: hello डियर ,,प्रेगनेंसी के लास्ट week में सांस लेने में दिक्कत होना बहुत ही नॉर्मल है बेबी का वजन बढ़ जाने से फेफड़े अच्छी तरह से काम नहीं कर पाते जिससे ,ऑक्सीजन सही मात्रा में नहीं मिल पाती है इसलिए प्रेग्नेंट लेडी को सांस लेने में दिक्कत होती है आप खाना खाने के बाद तुरंत ना लेटे ही , बाई करवट लेकर सोने का प्रयास करें ,नियमित व्यायाम व हल्की वॉक ले धीरे धीरे आप को सांस लेने में दिक्कत नहीं होगी|
Answer: आखिरी महीने में पेट के बहुत ज्यादा बढ़ जाने के कारण हमारे फेफड़े और स्टमक में दबाव पड़ता है इसके कारण हमें सांस लेने में थोड़ी बहुत मुश्किल का सामना करना पड़ता है क्योंकि फेफड़े थोड़े दब जाते हैं जिससे हमें छोटी-छोटी सांसे आती है अगर आपको ज्यादा तकलीफ है और दर्द ज्यादा है तो आप बिल्कुल जा कर डॉक्टर से संपर्क कर सकती हैं।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: सास लेने मे परेशानी होती है बेचैनी होती है
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में सांस लेने में प्रॉब्लम होना नॉर्मल है क्योंकि आपको और आपके बेबी को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन चाहिए होता है जिस वजह से पूर्ति ना होने के कारण सांस फूलने की प्रॉब्लम आ जाती है इसके आप कुछ उपाय कर सकते हैं संतुलित आहार करें ज्यादा तला-भुना खाना ना खाएं खाना खाने के बाद तुरंत आराम ना करें और बिस्तर par na लेते हैं peeth के बल या पेट के बल ना सोए करवट लेकर ही सो ज्यादा धूल और धुएं वाले जगहों में जाने से बचें नियमित व्यायाम करें और अपना फुलाने जैसा व्यायाम करें पुगा फुलाने से आपको सांस लेने में प्रॉब्लम नहीं होगी और आपको अच्छा लगेगा साथ छोड़ने और सांस लेने वाला व्यायाम करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेम मुजे सास लेले मे तकलीफ होती है और उलटी जेसा लगता है पेट मे दर्द होता है
उत्तर: हेल्लो डीयर प्रेग्नन्सी मैं सांस लेने की परेशानी बहुत कॉमन है। ये ७५% प्रेगनेंट वीमेन को होती है जो नार्मल है। सांस फुल्ने के कारण प्रेगनेंसी के दौरन बॉडी मैं बहुत से परिवर्तन होते हैं उनमे से एक है हारमोनल परिवर्तन। प्रेगनेंसी टाइम मे प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इसका लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मै बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी मैं सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मै आपका ब्लड ५०,% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने मे बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मै दिक्कत होती है। बेबी के वेट की वजह से आपके लुंग्स पर प्रेशर पडता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। बेबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मै प्रॉब्लम होती है। सांस न फूले उसस्के लिए ये टिप्स फॉलो करे १)जब भी सांस लेने मै प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेटे हैं तो आपकी सांस फूल रही है तो आप पोजीशन चेंज करे। ४)डेली थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग आदि। प्रेगनेंसी में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन की वजह से उल्टी जैसा महसूस होना नॉर्मल है इस दौरान आप ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए और तरल पदार्थों का सेवन करें ज्यादा देर तक भूखी ना रहे कुछ ना कुछ खाती रहें । प्रेग्नेन्सी में हल्का फुल्का पेट में दर्द होना नॉर्मल है प्रेग्नेन्सी में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन की वजह से ऐसा होता है ।आप परेशान ना हो।कभी कभी पेट दर्द गैस और कब्ज की वाजह से भी होने लगता है इसलिए आप सन्तुलित और पौष्टिक फ़ूड खाइए ज़्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीजीए ।तनाव मुक्त रहिए।कोई भी भारी समान ना उठाये ।ज्यादा देर तक एक ही जगह पर खडे ना रहे और ना ही बैठे।रात मे एक ही करवट लेकर ना सोए।अगर ज्यादा तेज पेट मे दर्द होता है तो डॉक्टर से सलाह लीजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: सास लेने मे परेशानी होती है बेचैनी होती है
उत्तर: हेल्लो डीयर प्रेग्नन्सी मैं सांस लेने की परेशानी बहुत कॉमन है। ये ७५% प्रेगनेंट वीमेन को होती है जो नार्मल है। सांस फुल्ने के कारण प्रेगनेंसी के दौरन बॉडी मैं बहुत से परिवर्तन होते हैं उनमे से एक है हारमोनल परिवर्तन। प्रेगनेंसी टाइम मे प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इसका लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मै बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी मैं सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मै आपका ब्लड ५०,% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने मे बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मै दिक्कत होती है। बेबी के वेट की वजह से आपके लुंग्स पर प्रेशर पडता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। बेबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मै प्रॉब्लम होती है। सांस न फूले उसस्के लिए ये टिप्स फॉलो करे १)जब भी सांस लेने मै प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेटे हैं तो आपकी सांस फूल रही है तो आप पोजीशन चेंज करे। ४)डेली थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें