26 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मुजे शीने मैं जलन होती है

2 Answers
सवाल
Answer: hello dear यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती,एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, रेडीमेड भोजन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। कई बार लेटने से भी छाती में जलन होने लगती है, क्योंकि गुरुत्व बल के कारण पेट से अम्ल बाहर निकलने लगते हैं। रात को देर से भोजन करने पर, कोशिश करें कि खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें.
  • avatar
    Dangerous Khaladi1127 days ago

    थैंक्स डियर

Answer: ye jalan sahyed gas ki wajha se hoti hogi
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुजे शीने मैं जलन होती है . क्या करु
उत्तर: hello dear यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती,एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, रेडीमेड भोजन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। कई बार लेटने से भी छाती में जलन होने लगती है, क्योंकि गुरुत्व बल के कारण पेट से अम्ल बाहर निकलने लगते हैं। रात को देर से भोजन करने पर, कोशिश करें कि खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे गले में बहुत जलन होती है मैं क्या करूं
उत्तर: गर्भावस्था में एसिडिटी और उसकी वजह से सीने में जलन होना भी गर्भवती महिलाओं की आम शिकायत है। इसमें सीने के बीच में जलन होती है।इस बढ़ती दिक्कत को आप तब महसूस करेंगी, जब आपका बढ़ा हुआ गर्भाशय आपके पेट में होने वाली इस समस्या को आपके गले तक पहुंचा देता है।आप पूरे दिन में तीनों समय थोड़ी थोड़ी मात्रा में भोजन करें।हो सके तो सोने या झपकी लेने से कुछ घंटे पहले कुछ भी न खाएं ।खाना खाने के बाद कुछ समय तक सीधे बैठें, जब आप सोएं, कुछ तकियों से सिर को सहारा दें ऐसा करने से पाचन क्रिया में मदद मिलती है।पूरे दिन में, पानी और तरल पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करें।खाने के बाद चूइंगम चबाने की कोशिश करें। सीने में जलन की शिकायत होने पर ढाले कपड़े पहनें। टाइट कपड़े बिलकुल न पहनें। खाने के बीच में तरल पदार्थ न पिएं।धनिया और चीनी का शरबत मिलाकर पिएं इससे पेट में ठंडक पहुंचेगी जिससे गले का जलन दूर होगा |ice ko हल्का-हल्का चूसने से भी गले में जो जलन है वह कम होने लगती है क्योंकि शरीर में डिहाइड्रेशन व एसिडिटी इसके प्रभाव से कम होने लगता है |एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न me aapko rahat milegi.एसिडिटी और सीने में जलन होने पर चॉकलेट,चीनी,चाय, कॉफी, सोडा आदि, कैफीन ,प्याज,टमाटर,खट्टे फल ka सेवन नहीं करना चाहिएlआयरन सप्प्लिमेंट्स से भी सीने में जलन होती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मैं मुझे सीने में बहुत जलन होती है क्या करूं
उत्तर: हो सकता है एसिडिटी के वजह से आपके सीने में जलन हो रहे हैं, ऐप अपने एसिडिटी को kam करने के लिए कुछ तरीके अपना सकती हैं, जैसेकि... ज्यादा से ज्यादा फ्रेश फ्रूट और फ्रेश वेजिटेबल्स खाइये, एक sath खाने से अच्छा हैं ऐप दिन भर थोड़ा थोड़ा खाना खाइये इसिये ऐप के खाना हजम होने में सहायता मिलेगी , खाना खाते वक़्त अच्छे से खाने को चेवे इसिये खाना जल्दी से पच्ता हैं, मशलेदर और फटी खाना ना खाना ही ठीक रहेगा इसिये एसिडिटी और ज्यादा हो सकता हैं, रोज आलमंड एंड नुत kha सकती हैं केउकी इसमें कैल्शियम रहते हैं, दही भी kha सकती हैं केउकी दही खाना हजम करने में मदत karte हैं. और जब भी खाना खाए खाना खाने k बद्द 15 to 30 मिनट वाक कीजिये इसिये खाना जल्दी से हजम हो जाएंगे और आपको एसिडिटी से राहत मिलेगी . अगर फिर भी आपको राहत नहीं मिले to डॉक्टर से जरूर एक बार सल्हा ले सकती हैं.
»सभी उत्तरों को पढ़ें