22 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मिल्क के शत बादाम खाने के क्या फ़येदे है

2 Answers
सवाल
Answer: मिल्क के साथ अगर आप बादाम खाते हैं तो आपको बहुत अधिक मात्रा में पौष्टिक तत्व मिलते हैं। जो कि गर्भावस्था के दौरान बहुत ही आवश्यक होता है| दूध से आपको भरपूर मात्रा में कैल्शियम मिलता है जो कि आपके बच्चे की हड्डी को मजबूत बनाने के लिए सहायक होता है| उसी प्रकार बदाम में भी भरपूर मात्रा में कैल्शियम विटामिन और मिनरल्स होने की वजह से या आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है| बदाम को ज्यादातर भीगा के खाने में फायदा होता है क्यों किया शरीर को बहुत गर्मी पहुंचाने की वजह से इसेbhiga कर खाया जाता है बदाम खाने से गर्भवती महिला और बच्चा दोनों दोनों को इंफेक्शन से बचा कर रखता है इसे किसी प्रकार की एलर्जी नहीं होती अगर आपको कब्ज की परेशानी है तो आप बादाम खाइए बदाम में फाइबर अधिक मात्रा में पाए जाने की वजह से यह कब्ज से राहत दिलाता है गर्भावस्था के समय यहां प्री एक्लेंपसिया का जोखिम को भी कम करता है बादाम में विटामिन और मिनरल्स जैसे कैल्शियम मैग्नीशियम और ओमेगा 3 फैटी एसिड शामिल होते हैं इसके लिए इनको भी गाकर खाना चाहिए क्योंकि बादाम का छिलका उसमें टैनिन होता है जो पोषक तत्वों की अवशोषण को रोक देता है इसलिए हमें बादाम को भिगोकर खाना चाहिए
Answer: हेलो डियर आप परेशान ना हो आप दूध के साथ बादाम का सेवन कर सकते हैं क्योंकि बादाम मेंफॉलिक एसिद की मात्रा बहुत मात्रा में मिलती है जॉ की प्रेगनेन्सी में बहुत अच्छा होता है बेबी के लिए ऑर इसमें airon मई है जो प्रेगनेन्सी के तीन महीने बाद बहुत जरुरी माना जता है बादाम खाना से आरएन की कमी दूर होटी है बादाम में विटामिन E होता है जो होने वाले बेबी को एलर्जी ऑर अस्थमा जैस बीमारी से बचाते इसलिए बादम आपके ऑर आपके बेबी के लिए बहोत फ़यदेम्नद है और दूध का सेवन बादाम के साथ करने से बहुत ही फायदेमंद होगा क्योंकि दूध में भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है जो कि बेबी के हड्डी के विकास के लिए बहुत ही फायदेमंद है इसलिए आप दिन में एक गिलास दूध के साथ दो या तीन बादाम का सेवन कर सकती हैं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: कोकोनट खाने के फ़येदे bataiye
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में आप कोकोनट खा सकते हो . यह आपके और आपके बेबी के लिए बहुत फायदेमंद रहेगा .नारियल वसा रहित और जीरो कोलोस्ट्रोल युक्त होता है। यह महिलाओं में एचडीएल कोलेस्ट्रोल यानी अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाने में मदद करता है.जब गर्भावस्था के दौरान महिला को थकान या डिहाइड्रेशन की समस्या होती है, तो नारियल इस समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है.नारियल में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल तत्व पाए जाते हैं .जो गर्भावस्था के दौरान महिला की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं.गर्भावस्था में हार्मोन परिवर्तन के कारण महिला के स्वभाव में बदलाव होता रहता है। ऐसे में नारियल के सेवन से महिला का मूड अच्छा रहता है और उनकी चिड़चिड़ाहट कम हो सकती है.नारियल खाने से गर्भवती को फाइबर मिलता है, जिससे पाचन शक्ति सुधरती है और गर्भावस्था के दौरान कब्ज व अन्य पेट संबंधी समस्याओं से राहत मिलती है.ख्याल रखे डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे आपने बेबी को मिल्क के शत शत क्या देन chaiye
उत्तर: हेलो डियर जब तक बेबी 6 मंथ का ना हो जाए आप उसे कोई भी ठोस आहार ना खिलाए ।आप उसे सिर्फ अपना ही दूध पिलाएं क्योंकि मां का दूध बच्चे के लिए सर्वोत्तम आहार होता है। हां अगर आपको आपना दूध नहीं हो रहा है तो बेबी को फार्मूला मिल्क पिला सकती हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या मिल्क के शत हनी देने से कोई नुकसान होता है
उत्तर: हेलो डियर हनी और मिल्क साथ में कि या जा सकता है नीले बहुत ज्यादा एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज हो ती है जो कि दूध के साथ मिक्स करो तो अच्छी रहती है और बैक्टीरिया से लड़ती हैं , आपको क्या अपने बच्चे को देना है अगर हां तो थोड़ा कम क्वांटिटी में दीजिएगा और शुरु में देखेगा उसको कोई भी रिएक्शन तो नहीं हो रहा है क्योंकि बच्चा भी छोटा है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेग्नेन्सी में mausmi ka जूस पीने के क्या फ़येदे है
उत्तर: Ese baby के बी fayde h or aapke b yh sarir me kmjori door krta h baby k colour fair hota h esme vtamin c hota h
»सभी उत्तरों को पढ़ें