2 महीने का बच्चा

Question: माय मिल्क सप्लाइ इज लो प्लीज़ टेल मि सम टिप्स टु इनके माय मिल्क सप्लाइ माय बेबी इज टू मंथ old

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डीयर सबसे पहले आपको बहुत बहुत बधाइयाँ। आप और आपका बेबी खुब स्वस्थ रहें। दूध बढ़ाने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती है - @आप मूँग की दाल मे घी डालकर खाएं और 1 स्पून मेथी दाने, 1 स्पून जीरा गरम पानी के साथ सुबह शाम खाएं इससे मिल्क खुब होता है। @सफेद जीरा, सौंफ तथा मिश्री तीनों का अलग-अलग चूर्ण बनाकर समान मात्रा में मिलाकर रख लें। इसे एक चम्मच की मात्रा में दूध के साथ दिन में तीन बार देने से दूध में अधिक वृद्धि होती है। लगभग 125 ग्राम जीरा सेंककर 125 ग्राम पिसी हुई मिश्री मिला लें। इसको 1 चम्मच भर रोज सुबह और शाम को सेवन करें। जिन माताओं को दूध की कमी हो, उनका दूध बढा़ने के यह बहुत ही लाभकारी है। @ पानी में केसर को घिसकर स्तनों पर लेप करने से स्तनों में दूध की वृद्धि होती है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हाइ माय बेबी इज ऑफ टू मंथ ऐन्ड हि इज हैविंग कोल्ड ऐन्ड कफ प्लीज़ टेल मि व्हाट टु do
उत्तर: हेलो आपका बेबी 2 महीने का है बच्चे को सर्दी है आपका बेबी अभी बहुत छोटा है ऐसे में मेडिसिन आप बेबी को डॉक्टर की सलाह ले कर ही दे बच्चे को कफ है तो बेबी को nebulize मशीन से करवाये बच्चे को कफ से राहत मिलेगी बच्चों का इम्यून सिस्टम कमज़ोर होता है ऐसे में बच्चे को कपड़े ऐसे पहनाये कि गर्माहट बनी रहें कमरे को भी गरम रखने की कोशिश करे .आप उसे घी और कपूर का मिश्रण लगा सकते है। पहले घी ले और उसे हल्का गर्म करें, फिर उसमे कपूर के कुछ टुकड़े डाल दें और पिघलने दें। ठंडा हो जाने के बाद इसे आप उसकी छाती, पीठ और तलवे पर लगाएं। उसे आराम मिलेगा। आप उसे सरसों के तेल को गर्म कर उसमे अजवाइन और लहसुन डालें ,फिर जब वह ठंडा हो जाए तो उसे उसकी छाती और पीठ पर अच्छी तरह से लगाएं बच्चे को आराम करवाये बच्चे जितना आराम करेगा उतनी जल्दी रिकवर करेगा अगर आप ब्रेस्ट फीड माँ है तो खाने में सन्तुलित और हेल्थी चीज़ें खायें जिसके कारण बच्चे को न्यूट्रिशन मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो lबच्चे को संक्रमण से बचाने के लिये अपना और बच्चे का हाथ साफ रखें बच्चे को फीड कराते समय पहले हैण्ड वाश करेl बच्चे को फीड कराते समय और सुलाते समय बच्चे का सर कुछ ऊपर रखें इसके लिए आप पतली तकिया का यूज़ कर सकती है ऐसे में बच्चे को साँस लेने में आसानी होगी आप अजवाइन भून ले उसे एक कपड़े में बाँध कर पोटली बना ले फिर उसे बच्चे के बच्चे के बैक चेस्ट तलवो पर सीकाई करे धयान रहें अजवाइन ज़्यादा गर्म नही होना चाहिए .बच्चे को कुछ देर सँवरे 8 से 10 बजे की धूप में ज़रूर ले जायें ताकि बच्चे को सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी मिलें विटामिन डी बच्चे के सर्दी को कम करने और ग्रोथ में हेल्प फूल हैlधुप दिखाने के लिए बच्चे को सीधे धुप में न रखें।डायपर समय पर बदले प्रोबेल्म ज़्यादा हो तो डोक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: माय बेबी इज सफरिंग फ्रॉम कोल्ड गिव मि सम सजेशन्स टु रिड्यूस द cold
उत्तर: इतने छोटे बच्चों में यह समस्या आम बात है सर्दी और जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  12 माह तक बेबी का इम्यूनिटी बहुत कमज़ोर होती है , थोड़ा भी weather चेंज होने से कोल्ड और कफ aur jhukam की परेशानी होने लगती है ,इसलिए कुछ चीज़ का ध्यान रखे जैसे 1)शाम होते ही बेबी को गरम कपड़े पहना का रखे 2)1कटोरी सरसों तेल मे अजवाइन और लहसन ki5-6 कली को पका ले फिर उसी तेल से दिन मे 3-4 बार मालिश करे . 3)लहसन और अजवाइन को तवे पर सेक कर muslin के कपड़े मे बाँध कर पोटली बना दे और बेबी के बेड के पास रख दे ,इससे भी बेबी का कोल्ड जल्दी ठीक होगा . 4.)2-3तेजपत्ता जला कर घर मे धुआँ करे ,इससे सारे बैक्टीरिया मर जाते है . 5) बाथरूम मे गरम पानी का स्ट्रीम भर दे और बेबी को लेकर thori देर बैठे ऐसा करने से उसका बन्द नाक खुल jayega और उसे राहत भी मिलेगी . 6)रात मे सोते समय पैर के तलवे मे विक्स से मालिश करकें सॉक्स पहना दे इससे भी शरीर गरम रहेगा और बेबी जल्दी ठीक हो jayega .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: माय स्टमक इज टू हार्ड . गिव मि सम ऍड्वाइस टु रिड्यूस द हर्दनेस्स
उत्तर: पेट कड़क होना बहुत परेशानी लगता है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि ये डिलीवरी का दर्द है परेशां होने कि जरुरत ही nhi hai यादि आपका वजन ज्यादा है तो आपको आपके पेट में कड़क panआपको प्रेग्नन्सी के लास्ट में फील होगा Aur अगर वजन काम है तो आपको जल्दी फील होगा ये कुछ ही समय के लिए रहता है फिर सामन्य हो जाता है लेकिन समय बढ़ने के साथ समस्या भी बढ़ती है Bachhe का मूवमेंट भी आपको कड़कपन का अहसास देता है काई बार ज्यादा खाने से भी होता है यादि आपका ये कड़कपन बहुत देर तक रहे और आपको सांस लेने में परेशानी हो तो तुरंत डॉक्टर'स को बताये
»सभी उत्तरों को पढ़ें