22 महीने का बच्चा

Question: माय बेबी इज 1 ईअर 9 मंथ हिज़ आयरन इज लो हाउ कैन आई इंक्रीज बाइ डेली डायट

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर नीचे दिए गए टिप्स को फॉलो करें आपकी बेटी का ब्लड बढ़ाने में के सभी टिप्स बहुत मददगार रहेंगे :- -गुड शीघ्र ही पचने वाला, खून बनाने वाला और भूख बढ़ाने वाला होता है। गुड को आप बच्चे के हलवे या खीर में चीनी के स्थान पर प्रयोग कर सकतीं है -दालों में भी आयरन भरपूर मात्रा में होता है। दालों को अंकुरित करके भी खाया मसूर दाल, चना दालआदि सभी आयरन से भरपूर होती है। -बादाम, किशमिश, खजूर, अंजीर, अखरोट आदि बच्चों के लिए पर्याप्त मात्रा में आयरन प्रदान करते हैं। आप इसे बच्चों के दूध में मिलाने के लिए पाउडर के रूप में भी प्रयोग कर सकती हैं। -हीमोग्लोबिन की कमी होने पर पालक का सेवन करने से शरीर मे इसकी कमी पूरी हो जाती है| -अंडा बच्चों को दैनिक रूप से आयरन देने का एक आसान तरीका है। -पोहा में आयरन व कार्बोहाइड्रेट की भरपूर मात्रा होती हैं| -भुना चना चने में भी आयरन भरपूर मात्रा में होता है उसे आप बच्चों को स्नैक्स के रूप में भी दे सकती हैं।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हाउ कैन आई इंक्रीज ग्रोथ ऑफ माय बेबी माय 8 मंथ इज स्टार्टेड फ्रॉम 8 जनवरी
उत्तर: हेलो डियर, बच्चे का वज़न आप खान पान मे थोड़ा बदलाव करकें बड़ा सकती है , आप ये सब अपने खाने में शामिल करे खाने में दूध दही के मात्रा बढ़ा दे हर दिन कम से कम 200 से 500 ml तक दूध जरूर पिए साथ में दही छाछ यह सब भी ले ,खाने में प्रोटीन की मात्रा भी आप को बढ़ाना चाहिए जैसे की दाल सोयाबीन चिकन अंडे हरी सब्जियां पनीर , यह सब प्रोटीन खाने से भी बच्चे का वजन बढ़ेगा कुछ ड्राई फ्रूट का भी इस्तेमाल आप कर सकते हैं जैसे कि बादाम अखरोट इन्हें खाने से भी बच्चे के वजन में बदलाव होगा खाने में स्प्राउट्स का भी उपयोग करें आप हरी मूंग दाल के स्प्राउट्स ब्लैक चने का स्प्राउट्स या किसी भी प्रकार की दालों का स्प्राउट खा सकते हैं इन सब के साथ साथ डॉक्टर के साथ रेगुलर चेकअप कराते रहे डॉक्टर द्वारा दी गई सारी दवाइयां समय पर ले चिंता ना करें सब कुछ ठीक होगा.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: माय फर्स्ट बेबी इज 11 मंथ फर्स्ट बेबी इज बोर्न बाइ सी सेक्शन नाव आई ऍम अगेन प्रेग्नेन्ट हाउ कैन आई टेक केयर माय self
उत्तर: शुरू के कुछ मंथ बेबी जस्ट गर्भाशय में रुका रहता है उसे गर्भाशय के दिवार में अच्छे से जुङने के लिए कुछ जरुरी हॉर्मोन्स हमारी बॉडी में बनते है।। एक बार हमारी बॉडी अच्छे से प्रेगनेंसी के हॉर्मोन निकलना शुरू करदे तब आप हलके फुल्के काम कर सकती है। कभी कभी पेट में हल्का दर्द हो सकता है. हल्की spoting भी हो सकती हैं। जयादा एक्सेरशन ना करे। भारी सामान ना उठे। जयादा सीधी न चढ़े उतरे । आप चाय कॉफी का सेवन कम कीजिए और सॉफ्ट ड्रिंक अल्कोहल से दूर रहिए बॉडी को हिट करने वाले खाद्य पदार्थ थोड़ा अवॉइड कीजिए नहीं लीजिए जैसे पपीता अनानास तिल तिल के लड्डू गुड़ आप आम बैगन भी कम लीजिए. हप्पी रहे और पौष्टिक अहार ले। आप अपने खाने-पीने में खास ध्यान रखिए और संतुलित आहार लीजिए खाने में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट ज्यादा लीजिए आप हल्का फैट वाला खाना भी खा सकती हैं जो आसानी से पचने वाला हो। आप अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां दाल चावल रोटी ग्रीन वेजिटेबल्स दूध अंडा यह सब ऐड कीजिए दिन में कम से कम दो से तीन फल खाने की कोशिश कीजिए फलों का जूस और तरल पदार्थ लेते रहिए यह सब पौष्टिक आहार आपके बेबी को ग्रोथ करने में बहुत मदद करेगा ज्यादा तकलीफ होने पर डॉ की सलाह ले. आप बहुत ज्यादा exertion वाला काम नहीं कीजिए ज्यादा देर खड़े रहकर और झुक कर काम करना अवॉइड कीजिए। आप कपड़ों से भरी बाल्टी भी उठाना अवॉइड कीजिए। सीढ़ी चढ़ना उतरना अवार्ड कीजिए। आप बैठकर कुछ भी काम कर सकती जैसे आप बैठकर सब्जी काट कर सकती हैं। आप बैठकर कुछ कपड़े फोल्ड करने का काम कर सकती है। अब बच्चों को पढ़ा सकती है इस टाइप की बैठ के काम करने वाले आराम से आप कर सकती है। लेकिन जो बॉडी को exertion देता है जैसे कि झुक कर और ज्यादा देर खड़े रहकर इससे आपको पैर और कमर में दर्द की प्रॉब्लम हो सकती इसलिए यह सब काम करना अवॉइड कीजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हाउ टु इंक्रीज माय बेबी वेट . हि इज 6 मंथ 3 डेज . हिज़ वेट 6.8
उत्तर: आपकी बच्चे 1 महीने की है अतः आप उसे प्रतिदिन दो तीन बार मालिश अवश्य करें इससे बच्चे के शरीर में ब्लड सरकुलेशन अच्छे से होगा और वह एक्टिव रहेगा और उसे भूल भी अच्छे से लगेगी और बच्चे को हर डेढ़ से 2 घंटे में अपना दूध अवश्य पिलाएं और शुरू के 6 महीने तक बच्चे को सिर्फ अपना दूध पिलाएं स्तनपान कराएं क्योंकि मां के दूध में सभी प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिससे बच्चे को विभिन्न प्रकार की बीमारियां नहीं होती है . माँ का दूध बच्चे की भूख मिटाता है, उसके शरीर की पानी की आवश्यकता को पूरी करता है, हर प्रकार के बीमारी से बचाता है, और वो सारे पोषक तत्त्व प्रदान करता है जो बच्चे को कुपोषण से बचाने के लिए और अच्छे शारारिक विकास के लिए जरुरी है। माँ का दूध बच्चे के मस्तिष्क के सही विकास के लिए भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बच्चे की साफ सफाई पर भी विशेष ध्यान दें उसे बहुत देर तक दिलाना रहने दे तुरंत उसके कपड़े चेंज करें बच्चे के कपड़ों को डिटेल में दूल्हे और उसे तेज धूप में सुखाएं बच्चे को प्रतिदिन स्नान कराएं इन सब चीजों को यदि आप फॉलो करेंगे तो आपका बच्चा स्वस्थ रहेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें