1 महीने का बच्चा

Question: माय बेबी इज ओ मंथ ओल्ड , बट मिल्क इज नॉट कमिंग फ्रॉम ब्रेस्ट व्हाट आई डू प्लीज़ सजेस्ट मि . अभी मैं उसे गाय का दूध पिला रही हूँ .

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर 6 महीने का बेबी के लिए मां का दूध बहुत जरूरी होता है मां का दूध देने के लिए अमृत के समान होता है फिर भी यदि आपका दूध काम आ रहा है और बेबी का पेट नहीं भरा तो आप बेबी को फॉर्मूला मिल्क piला सकती हैं मैं आपको दूध बढ़ाने के कुछ घरेलू उपाय बताती हूं चावल ऑर थोड़ा शा सफ़ेद ज़ीरा दूध में डालकर खीर बनाए ऑर इसे रोज खाए ऐसा करने से दूध बढ़ेगा एक ग्लास दूध में सतवर का एक चमच चुरन मिला कर पीएं शाम के टाइम पेट भर दूध ऑर डलिया खाए इस्से दूध में कमी नही होती पपीता रोज खाए इसको रेग्युलर खाने से दूध अच्छा आता है
Answer: थैंक्स फॉर रेप्लाय , ऑल्सो प्लीज़ सजेस्ट विच फॉरम्यूला मिल्क इज गूड फॉर वन मंथ ओल्ड बेबी गर्ल .......
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: माय बेबी इज 6 मंथ ओल्ड ऐन्ड हि इज सफरिंग फ्रॉम कोल्ड व्हाट शूड आई डू ?
उत्तर: इतने छोटे बच्चों में यह समस्या आम बात है सर्दी खासी जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  12 माह तक बेबी का इम्यूनिटी बहुत कमज़ोर होती है , थोड़ा भी weather चेंज होने से कोल्ड और कफ aur jhukam की परेशानी होने लगती है ,इसलिए .कुछ चीज़ का ध्यान रखे जैसे 1)शाम होते ही बेबी को गरम कपड़े पहना का रखे 2)1कटोरी सरसों तेल मे अजवाइन और लहसन ki5-6 कली को पका ले फिर उसी तेल से दिन मे 3-4 बार मालिश करे . 3)लहसन और अजवाइन को तवे पर सेक कर muslin के कपड़े मे बाँध कर पोटली बना दे और बेबी के बेड के पास रख दे ,इससे भी बेबी का कोल्ड जल्दी ठीक होगा . 4.)2-3तेजपत्ता जला कर घर मे धुआँ करे ,इससे सारे बैक्टीरिया मर जाते है . 5) बाथरूम मे गरम पानी का स्ट्रीम भर दे और बेबी को लेकर thori देर बैठे ऐसा करने से उसका बन्द नाक खुल jayega और उसे राहत भी मिलेगी . 6)रात मे सोते समय पैर के तलवे मे विक्स से मालिश करकें सॉक्स पहना दे इससे भी शरीर गरम रहेगा और बेबी जल्दी ठीक हो jayega
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो माय डॉटर इज सफरिंग फ्रॉम कॉन्स्टीपेशन व्हाट कैन आई डू फॉर हर शि इज फोर इयर्स ओल्ड
उत्तर: hello dear जब बच्चों को ठोस शुरू होता है, तो उसे रोज पूप करना चाहिये 1 दिन गैप हो जाए तो कोई बात नही लेकिन यह मुश्किल नहीं होना चाहिए क्योंकि यह कब्ज की शुरुआत हो सकती है। आहार में चावल, केले, गाजर आदि जैसे कम फाइबर भोजन की कमी के कारन ऐसा होता है। 1.कुछ दिनों के लिए kheer आदि जैसे अन्य दूध के बने सामान बेबी को ना दें। 2.छिलके के साथ ऐप्पल प्यूरी, और prunes रस के साथ नाशपाती प्यूरी दें। 3.. रात में किशमिश भिगो दें और अगली सुबह उसका पानी दें। 4.. अनार का छिलका पानी में उबालें और वह पानी दें। 5.. ओट्स और बहुत सारे पानी जैसे समृद्ध फाइबर आहार शामिल करें। 6. गर्म तेल के साथ बच्चे के पेट मालिश। 7. गर्म पानी स्नान। 8. बेबी के आहार में दही, सलाद, मक्खन शामिल करें। 9. अधिक तरल आहार।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: टुडे इज माय ड्यू डेट बट आई ऍम नॉट फीलिंग लेबर पेन व्हाट शूड आई डू
उत्तर: हेलो डियर ,ज्यादा तर डिलीवरी 36 से 40 वीक के अंदर ही हो जाती है ,जरूरी नहीं है कि बच्चे सिर्फ पेन से ही पैदा हो क्योंकि कभी कभी टाइम पूरा हो जाने के बाद बच्चे को ज्यादा देर तक पेट में रहने से भी नुकसान हो सकता है इसलिए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करिएl
»सभी उत्तरों को पढ़ें