6 महीने का बच्चा

Question: माम मीयर बेबी को गले में रेशा हो गया हा उसका कोई इलाज बताओ प्लीज़ और मेरा बेबी 7 मंथ का हो गया हा मा उसे खाने me हेल्थी फ़ूड क्या दूँ

1 Answers
सवाल
Answer: डिअर बेबी के रैशेस का कारण डाइपर है ज़्यादा देर तक हम बेबी को डडाइपर पहना देते है जिस कारण हवा पास नही हो पाती और जिस कारण रैशेस हो जाते है देखिये देर कुछ घरेलू उपाय है रैशेस को दूर करने के 1)आप बेबी के रैशेस वाली जगह पर नारियल का तेल लागए या फिर जैतून का तेल लगाए 2)आप बेबी को रैशेस वाली जगह पर दही लगाए 3)एलोवेरा जेल लगाने से भी रैशेस खत्म हो जाते है ओर बेबी को डाइपर साफ सुथरा पहनाये ओर बबग के डाइपर पहनने से पहले बेबी के रैशेस वाली जगह पर मकई का आटा छिडक दे फिर डाइपर पहनाये दिन सुबह का नाश्ता दोपहर का भोजन रात का खाना सोमवार चावल , दलिया साड़ी ,खिचड़ी सेब ,प्यूरी मंगलवार ओट्स ,दलिया सादा पोंगल सब्जियों का सूप बुधवार सूजी ,खीर। गाजर, खिचड़ी नाशपाती प्यूरी वीरवार जौ का दलिया सादे घी चावल केला प्यूरी शुक्रवार ओट्स खीर स्वाद वाला पोंगल अंगूर का जूस शनिवार ब्राउन राइस उपमा रागी दलिया गाजर चुकंदर सूप रविवार आलू प्यूरी टमाटर खिचड़ी चीकू प्यूरी डिअर इसके अलावा बेबी को ब्रैस्ट मिल्क दे अगर ब्रैस्ट मिल्क न हो तो फार्मूला मिल्क दे
  • avatar
    Meenakshi Dixit796 days ago

    डियर sorry आपको रशेज के लाइए टीप di

  • avatar
    Meenakshi Dixit796 days ago

    डियर रेशा सर्दी के कारण हो गये है आपका बेबी अभी बहुत छोटा है इसलिए उसे प्लीज पानी ता सर्दी से दूर रखिये आप भी ठंडी चीज़ो का सेवन मत कीजिये डिअर बलगम की निकलने क लिए कुछ उपाय आप तरय क्र सकती है १)आप बेबी को सरसों के तेल में २ लहसुन और १ लॉन्ग डालकर ग्राम कीजिये ओर फिर हल्का गुनगुना होने और बच्चे के कान में और नाक में डालिये २)आओ बच्चे की अजवाइन की पोटली बनाकर सिकाई कीजिये ,सती कपड़े में अजवाइन को ग्राम करके बाँध ले और बच्चे की सिलाई कीजिये ३ आप बेबी को एक चुटकी केसर को गुन्गुने पानी में दलके उसे बेबी के छाती और पीठ व् सर में लगाए ४)अआप बेबी को एक चम्मच दूध में एक चुटकी हल्दी डेल फिर ठंडा होने पर बच्चे को पिलाये ५)आप अपने बच्चे को डालडा घी लिखे अच्छे से सिकाई कीजिये ९र बच्चे को उदा डिजिये, ये उपाय केने के बाद बेबी को आराम आ जाना चाहिए धन्यबाद अगर बेबी को आराम न आये तो आप तुरंत डॉक्टर को दिखाए

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेबी 29 दिनों का है और उसे बहुत ज़ुकाम हो गया है कोई मेडिसिन बताओ प्लीज़
उत्तर: आप चिंता ना करें.थोड़ा भी weather चेंज होने से कोल्ड और कफ aur jhukam की परेशानी होने लगती है ,इसलिए .कुछ चीज़ का ध्यान रखे जैसे सर्दी खासी जुकाम होने पर आप बच्चे को ज्यादा से ज्यादा अपना दूध पिलाने की कोशिश करें शाम होते ही बेबी को गरम कपड़े पहना का रखे ,1कटोरी सरसों तेल मे अजवाइन और लहसन ki5-6 कली को पका ले फिर उसी तेल से दिन मे 3-4 बार मालिश करे .लहसन और अजवाइन को तवे पर सेक कर muslin के कपड़े मे बाँध कर पोटली बना दे और बेबी के बेड के पास रख दे ,इससे भी बेबी का कोल्ड जल्दी ठीक होगा . बाथरूम मे गरम पानी का स्ट्रीम भर दे और बेबी को लेकर thori देर बैठे ऐसा करने से उसका बन्द नाक खुल jayega और उसे राहत भी मिलेगी रात मे सोते समय पैर के तलवे मे विक्स से मालिश करकें सॉक्स पहना दे इससे भी शरीर गरम रहेगा और बेबी जल्दी ठीक हो jaaega.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मीयर बेबी को लूज़ मोशन हो रहे है कोई इलाज बताओ
उत्तर: हेलो डिअर, आ पका बेबी अगर 6 से अधिक का नहींं है तो ऐसे में बेबी फीड ले ता होगा ऐसे में बेबी को अगर दस्त आ रहा है तो ऐसे में आप के बेबी बार बार मिल ्क पिता है और इसी तरह से बेबी को पोट्टी भी होती है अगर बेबी एक दिन में 5 से 6 बार पोट्टि करें ं ं , या 5 से 6 दिन में एक बार पोट्टि करे तो इसमें कोई परेशानी वाली बात नही है ऐसा होना नॉर्मल बात है आप अपने बेबी को अपना स्तनपान कराते रहना चाहिए आप ऐसे में बेबी के पेट के आस पास हींग का लेप लगा ले इससे आपके बेबी को आराम मिल जाएगा , लेकिन आपका बेबी अगर इससे भी ज्यादा पोट्टी करे तो अपने बेबी को तुरंत डॉक्टर को दिखा दें ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मारा बेटा 7 मंथ का हो गया हे उसे खा ने में kya दूँ
उत्तर: बच्चें को मां के दूध के साथ-साथ फ्रूट जूस जैसे- संतरा, मौसमी, कीनू व सेब का जूस इत्यादि दिया जा सकता है। लेकिन ध्यान रखें कि जूस घर पर ही निकाला हुआ हो, बाजार का न हो। चावल, सूजी की खीर व दलिया को दूध में पका कर खिला सकती है। लौकी, गाजर, आलू जो उसे पसंद आए, उस का सूप बना कर दें। इन सब्जियों को मूंग की दाल की खिचड़ी में भी मिला कर दे सकती हैं। चावल और मूंग की दाल मिला कर प्लेन खिचड़ी दे सकती हैं। ग्लूकोज बिस्कुट और दूध मिलाकर दें। इडली, सांभर भी दिया जा सकता है। इन सब ठोस आहार के साथ पानी हमेशा उबाल कर ठंडा कर के ही दें और कम से कम डेढ़, 2 साल तक बच्चे को ब्रैस्ट फीडिंग कराएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें