16 weeks pregnant mother

Question: माम ट्रिपल मार्कर कोन शा टेस्ट होता है डॉक्टर ने करवाने को खा hai

1 Answers
सवाल
Answer: ट्रिपल मार्कर टेस्ट को MMT एंड AFP plus भी कहते हैं इसमें यह टेस्ट किया जाता है कि होने वाले बच्चे को कोई जेनेटिक बीमारी तो नहीं है इसमें प्रेग्नेंट वुमन का ब्लड सैंपल दिया जाता है और उससे टेस्ट किया जाता है ज्यादातर वूमेन का ही एमएमटी होता है जिन्हें 35 इयर्स या उससे ज्यादा उम्र की है फैमिली में पहले से किसी को बर्थ डिफेक्ट की हिस्ट्री रही हो जो प्रेग्नेंट वुमन को शुगर है और इंसुलिन का यूज करती हैं गर्भावस्था के दौरान वायरल इंफेक्शन था
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: ट्रिपल मार्कर टेस्ट क्या होता है ???
उत्तर: ट्रिपल मार्कर टेस्ट को MMT एंड AFP plus भी कहते हैं इसमें यह टेस्ट किया जाता है कि होने वाले बच्चे को कोई जेनेटिक बीमारी तो नहीं है इसमें प्रेग्नेंट वुमन का ब्लड सैंपल दिया जाता है और उससे टेस्ट किया जाता है ज्यादातर वूमेन का ही एमएमटी होता है जिन्हें 35 इयर्स या उससे ज्यादा उम्र की है फैमिली में पहले से किसी को बर्थ डिफेक्ट की हिस्ट्री रही हो जो प्रेग्नेंट वुमन को शुगर है और इंसुलिन का यूज करती हैं गर्भावस्था के दौरान वायरल इंफेक्शन था
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ट्रिपल मार्कर टेस्ट क्या होता है ??
उत्तर: ट्रिपल मार्कर टेस्ट को ट्रिपल टेस्ट, एकाधिक मार्कर टेस्ट(multiple marker test), एकाधिक मार्कर स्क्रीनिंग, और एएफपी प्लस (AFP Plus) के रूप में भी जाना जाता है। यह विश्लेषण करता है कि एक अजन्मे बच्चे को कुछ आनुवांशिक विकार होने की संभावना कैसे है।  परीक्षा प्लेसेंटा में तीन महत्वपूर्ण पदार्थों के स्तर को मापती है: अल्फा-फेप्रोप्रोटीन (एएफपी) मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (एचसीजी) estriol ट्रिपल मार्कर स्क्रीनिंग को रक्त परीक्षण के रूप में प्रशासित किया जाता है। इसका उपयोग उन महिलाओं के लिए किया जाता है जो 15 से 20 सप्ताह की गर्भवती हैं। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ट्रिपल मार्कर टेस्ट क्या होता ए , ऑर क्या या सभी pregnent ladies को करवाना ज़रूरी होता है , मेरे डॉक्टर ने ऐसा कोई टेस्ट नही कहा करवाने को प्लीज़ Help
उत्तर: ये टेस्ट बच्चे के डेवलपमेंट के बारे में होता है कि बच्चा गर्भ में ठीक से है कि नही उसकी बोन और मानसिक कोई रोग तो नही है अगर आपकी डॉक्टर ये टेस्ट नही लिखी है तो उनसे इस विषय में बात करकें ये टेस्ट कराये इसमें ब्लड हि सीर्फ लेते है उसी से पता चलता है बच्चे का पोजिशन
»सभी उत्तरों को पढ़ें